जामिया पहुंची NHRC की चार सदस्यीय टीम…

0
111

स्वतंत्र प्रभात –

दिल्ली में जामिया मिल्लिया इस्लामिया कॉलेज में दिल्ली पुलिस के खिलाफ छात्रों का विरोध थमने वाला नहीं है। जानकारी के लिए बता दे की दिसंबर महीने में पुलिस के द्वारा यहां पर विरोध कर रहे छात्रों पर लाठीचार्ज किया गया था, इसके अलावा कैंपस में भी पुलिस बिना इजाजत के घुसी थी। इसी के विरोध में छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं, अब मंगलवार को राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की टीम जामिया पहुंची और इस मामले में जांच शुरू की।

सूत्रों के मुताबिक मंगलवार, सुबह डीएसपी लेवल के अधिकारी की अगुवाई में चार सदस्यीय टीम जामिया यूनिवर्सिटी पहुंची। ये टीम अगले चार दिनों तक छात्रों से बात करेगी और उनकी राय जानेगी। छात्रों ने बीते दिनों आरोप लगाया था कि दिल्ली पुलिस ने उनके साथ बर्बरता की है और जबरन FIR दर्ज की है। सोमवार को जामिया के छात्रों ने इसी मुद्दे पर वाइस चांसलर नजमा अख्तर के दफ्तर का घेराव किया था। जिसके बाद नजमा अख्तर को छात्रों से आकर बात करनी पड़ी थी और आश्वासन देना पड़ा था। छात्रों की मांग थी कि जिन छात्रों पर FIR दर्ज की गई है, वो वापस ली जाए।

इसके अलावा जिन पुलिस वालों ने छात्रों पर हमला किया, कैंपस में घुसे उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए और FIR भी दर्ज होनी चाहिए। छात्रों की इस मांग पर जामिया की वीसी नजमा अख्तर ने हामी भरी थी और कहा था कि उनकी ओर से दिल्ली पुलिस के खिलाफ FIR दर्ज कराई जा रही है लेकिन वह उसे रजिस्टर नहीं कर रहे हैं।

जामिया यूनिवर्सिटी की ओर से अब इस मामले में अदालत का रुख किया जाएगा। छात्रों को भरोसा दिया गया है कि अदालत में पुलिस के खिलाफ एक्शन की मांग की जाएगी। गौरतलब है कि नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ एक महीने पहले जब प्रदर्शन हुआ था, तब काफी हिंसा हो गई थी। पुलिस ने दावा किया था कि कुछ पत्थरबाज बाहरी लोग कैंपस में घुस गए थे, इसी वजह से वे कैंपस में घुसे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here