भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ रही गौशालाएं,शासन की मंशा हुई फेल

नाम की गौशालाएं बेकाम के कर्मचारी,किसानों,गौवंशो की बढ़ी बेबसी लाचारी

जिलाधिकारी के निर्देशों की उड़ रही धज्जियां

संवाददाता – सुशील कुमार द्विवेदी

इटियाथोक,गोण्डा-
छुट्टा जानवरों से किसानों के खेतों में लगी फसलो की सुरक्षा व सड़क पर आवागमन में राहगीरों के जानमाल की रक्षा हेतु उत्तर प्रदेश सरकार भारी भरकम बजट आवंटित कर गौ आश्रय केंद्रों का निर्माण करा कर खेत व सड़क पर घूम रहे छुट्टा जानवरों को नवनिर्मित केंद्रों में आश्रय देना सुनिश्चित करा रही है।

संबंधित ग्राम प्रधान व सचिव को जिला अधिकारी ने बीते 10 जनवरी तक गोवंशो को पकड़वाकर गौ आश्रय केंद्रों पर लाने के लिए निर्देशित किया था बावजूद प्रधान व सचिव द्वारा जिला अधिकारी डॉक्टर नितिन बंसल के आदेशों की धज्जियां उड़ाई जा रही है।ऐसा ही एक ताजा मामला इटियाथोक विकासखंड के ग्राम पंचायत संझवल के मजरे तिवारी पुरवा में नवनिर्मित गौ आश्रय केंद्र पर देखने को मिला।

1 माह पूर्व ही गौ आश्रय केंद्र का निर्माण कार्य कागजों में पूर्ण दिखाया गया बावजूद अभी तक एक भी छुट्टा जानवर को गौ आश्रय केंद्र तक नहीं लाया गया। स्वतंत्र प्रभात रिपोर्टर की पड़ताल में जो तथ्य सामने आए हैं वो चौकाने वाले है।गौ आश्रय केंद्र की देखभाल के लिए एक भी सफाई कर्मी व चौकीदार मौके पर उपस्थित नहीं मिले।भूसा गोदाम में मात्र 2 से 3 कुंटल भूसा रखा है वह भी बरसात का पानी गोदाम में भरने के कारण सड़ चुका है।

परिसर में लगा हैंडपंप व वाटर सप्लाई के लिए लगाया गया टिल्लू पंप नदारद है।आश्रय केंद्र में पड़ताल के समय तक एक भी छुट्टा जानवर उपस्थित नहीं मिले।मौके पर उपस्थित गांव के ही निवासी कैलाश तिवारी से गोवंशओ के उपस्थित का जायजा लिया गया तो उन्होंने बताया कि जो भी गौवंश परिसर में लाए गए वे जानवर केंद्र की अव्यवस्थाओं का फायदा उठाते हुए भाग गए और हम लोगों के खेतों में लगी फसल को बर्बाद कर रहे है। जब तक गौ आश्रय केंद्र का निर्माण सही ढंग से नहीं कराया जाता तब तक हम ग्रामवासी जानवरों को नहीं लाने देंगे क्योंकि गौबंश केंद्र से भागकर बगल में लगी हमारी फसल को नुकसान पहुंचाते।

उन्होंने यह भी बताया कि गौ आश्रय केंद्र के निर्माण में भारी अनियमितता की गई है।सरकारी धन का ग्राम प्रधान व सचिव ने खूब बंदरबांट किया है।गौ आश्रय केंद्र की जांच जिला स्तर के सक्षम अधिकारी के मौजूदगी में कराए जाने की अपील भी की है।केंद्र के निर्माण में की गई धांधली व भ्रष्टाचार का जांच के बाद ही खुलासा होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here