रेलवे स्टेशन पर शीघ्र ही लगेंगी स्वचलित सीढिय़ाँ

विगत माह हुआ टेण्डर, गीता जयन्ती ट्रेन का होगा ठहराव

ललितपुर। ललितपुर स्टेशन को जक्शन बने लम्बा अरसा हो गया है, किन्तु यहाँ पर अभी यात्रियों को मूलभूत सुविधायें उपलब्ध नहीं हैं। इसके लिए रेलवे सलाहकार समिति के सदस्य डॉ नलवंशी द्वारा निरन्तर प्रयास किया जा रहा है, उन्होंने रेलवे अधिकारियों के साथ बैठक कर जनपद के रेल विकास व स्टेशन पर यात्रियों को मूल भूत सुविधायों के लिए निरन्तर पहल की जा रही है। जिससे अब जनपद के यात्रियों को सुविधायें मिलने लगी हैं। जब ललितपुर रेलवे स्टेशन पर शीघ्र ही स्वचलित सीढिय़ाँ लगायी जायेंगी। रेलवे स्टेशन पर रेलवे लाईन पार करने हेतु स्वचालित सीढिय़ाँ एस्केलेटर लगायी जायेगी। यह जानकारी रेलवे सलाहकार समिति के सदस्य डॉ महेन्द्र सिंह नलवंशी ने बताया कि उक्त निर्माण कार्य के लिए टेण्डर हो चुका है। शीघ्र ही कार्य प्रारम्भ कर दिया है। रेलवे स्टेशन पर पार्किंग के लिए 20 दिसम्बर को ठेका हो चुका है। साथ प्लेटफार्म नम्बर एक पर बीना छोर की ओर प्रतिक्षालय व डिलक्ष शौचालय का भी निर्माण होना प्रस्तावित है। ललितपुर से महरौनी होते हुये सागर के लिए नई रेलवे लाइन का सर्वे हो चुका है। बिरारी से होते हुये ट्रेन अब सागर जायेगी। साथ ही धौर्रा रेलवे स्टेशन पर फुट ओवर ब्रिज का प्रस्ताव भी डाला गया है। साथ ही बैठक में डॉ नलवंशी ने रेलवे स्टेशन को आदर्श कैटेगरी के अनुसार सुविधाओं की माँग की है। नई ट्रेनों के हल्ट का भी प्रस्ताव भेजा गया है। गीता जयन्ती एक्सप्रेस का हाल्ट ललितपुर स्टेशन पर कर दिया गया है। यह प्रतिदिन ललितपुर होकर खजुराहो होते हुये, कुरूक्षेत्र तक जायेगी। इसके अलावा भी कई माँगे रखी गयी हैं। सूत्रों की मानें तो स्टेशन को शीघ्र ही आधुनिक बनाया जायेगा। बताते चलें कि वर्तमान में रेलवे स्टेशन पर यात्रियों को सुविधाओं के नाम पर कुछ भी नहीं है। स्टेशन पर एक ही आरक्षण काउन्टर का संचालन किया जाता है। साथ ही अधिकाँश एक ही खिडक़ी से साधारण टिकट बेची जाती है, जिससे यात्रियों को खासी परेशानी होती है। इस क्षेत्र में भी अभी सुधार की काफी अवश्यकता है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here