स्वतंत्र प्रभात-भाजपा सभासद ने किया अम्बेडकरनगर में ही बाबा साहब का अपमान फोटो हुआ वायरल

 

स्वतंत्र प्रभात अंबेडकरनगर


डॉ भीमराव अंबेडकर राम जी की जयंती पर देशभर में बड़े उल्लास पूर्वक मनाया जा रहा है ।


अम्बेडकर नगर के अकबरपुर नगर पालिका में वर्तमान सभासद के साथ भाजपा के नगर अध्यक्ष ज्ञान कुमार मोदनवाल की एक तस्वीर फेसबुक पर वायरल हुई है जो बड़ा राजनीतिक हंगामा खड़ा कर रखा है ।

वायरल तस्वीर की हकीकत जानने के प्रयास में ज्ञान कुमार मदनलाल के फोन पर संपर्क करने का प्रयास किया गया लेकिन किन्ही कारणों से फोन पर वार्ता नहीं हो पाए । और यह तस्वीर अकबरपुर नगर पालिका की परिषद की दिखती है । हां तस्वीर वास्तव में सत्य है तो बड़े गैर जिम्मेदाराना तरीके से कार्य किया गया है ।


निसंकोच कहा जा सकता है किसी महापुरुष की तस्वीर पर माल्यार्पण या चित्र के सामने दीप प्रज्वलित किया जाता है । तो एक नैतिकता के आधार पर जूता पहनकर नहीं करना चाहिए । बाबा साहब को मानने वाले अनुयाई इस तस्वीर पर अलग-अलग प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं ।

और कुछ समर्थकों में तो बड़ा आक्रोश व्याप्त हो गया है ।बाबा साहब के एक अनुयाई ने कहा कि जब बीजेपी वाले कभी भी बाबा साहब की इज्जत नहीं की तो उन्हें आज कहां से बड़ी मोह आ रहा है । बस राजनीतिक लाभ लेने के लिए ढोंग रचते हैं इन के अधिकांश कार्यकर्ताओं को बाबा साहब के बारे में कुछ पता ही नहीं है  बस अपनी राजनीतिक रोटियां सेकने के लिए  आज बड़े धूमधाम से मनाने की कोशिश की है ।

वहीं मौजूद दूसरे अनुआई ने कहा कि आज का ही ले लीजिए भाजपा के बड़े कद्दावर नेता ने भी  बाबा साहब की प्रतिमा पर माल्यार्पण करते समय जूता पहनकर किया है ।जब उसे पूछा गया उस व्यक्ति का नाम तो बताओ उसने कहा मेरा नाम गोपनीय रखने के आधार पर बता सकता हूं । उस शख्स  के सामने माननीय शब्द जोड़ता है । और वहां मौजूद लोगों से इस बात की पुष्टि भी हुई कि नेता जी ने जूता पहनकर किया था माल्यार्पण ।

क्या यह उचित है ?


 जिला मुख्यालय पर आज कलेक्ट्रेट परिसर के सामने डॉ भीमराव अंबेडकर राम जी की प्रतिमा स्थापित है । हर राजनीतिक दलों के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने  प्रतिमा पर माल्यार्पण किया  है ।
वहां पर एक टीम के साथ पहुंचे कुछ स्टूडेंट ने बाबासाहब की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया जब उनको इस घटना के बारे में पता चला तो उन्होंने इस घटना की बड़े कठोर शब्दों में निंदा की ।

वहां पर बसपा के और बाबा साहब के अनुयायियों ने कहा उचित नहीं है किसी भी महापुरुष की प्रतिमा के समक्ष माल्यार्पण करते समय जूता पहनकर किया जाए ।

recommend to friends

Comments (0)

Leave comment