स्वतंत्र प्रभात-परमाणु ऊर्जा- राष्ट्र की ऊर्जा पर निबंध लेखन प्रतियोगिता

 

ऊर्जा के महत्व के बारे में जागरूकता पैदा करने और परमाणु ऊर्जा से संबधित गलत धारणाओं काे दूर करने के लिए

एक राष्ट्रव्यापी अभियान के भाग के रूप में रविंद्र मेमोरियल पब्लिक स्कूल, मंडी राेड, सुल्तानपुर, नई दिल्ली में बच्चाेें के लिए निबंध   लेखन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।

प्रतियोगिता का विषय था ’परमाणु ऊर्जा -राष्ट्र की ऊर्जा’ और यह भारत के परमाणु ऊर्जा निगम (एनपीसीआईएल), भारत सरकार के उपक्रम के लिए आयाेजित किया  गया था।
 लगभग 285 छात्राें ने इस प्रतियोगिता में भाग लिया। विद्यार्थियों के कार्यों का परीक्षण सुप्रसिद्ध व्यक्तिओं द्वारा किया गया। 

जीतने वाले छात्र थे:
प्रथम  पुरस्कार - खुशबू - 7वीं कक्षा
द्वितीय पुरस्कार - शशांक - 6वीं कक्षा

स्कूल की प्राचार्य दीपिका ने इस अवसर पर कहा की बच्चाेें की अभिव्यक्ति उनकी रचनात्मकता का संकेत है। बच्चाेें ने बहुत सृजनात्मक तरीके से ऊर्जा के महत्व काे चित्रित  किया और यह भी दिखाया की कैसे परमाणु ऊर्जा से बिजली का उत्पादन पर्यावरण काे नुकसान नहीं पहुँचाता। उन्हाेंने विजेता छात्राें काे पुरस्कार भी दिए। परीक्षकाें ने भी युवा छात्राें के काम की सराहना की और कहा की यह विज्ञान और ऊर्जा के बारे में जागरूकता बढ़ाएगा।


इस अवसर पर बुधिया पर आधारित काॅमिक्स, एक काल्पनिक पात्र जाे की परमाणु शक्ति का समर्थन करने के लिए गाँव वालाें काे प्रेरित करता है, उन्हें छात्राें के बीच वितरित किया गया। इस पात्र का निर्माण एनपीसीआईएल के मिडिया मैनेजर अमृतेश श्रीवास्तव ने किया है

और इस पहल ने अपनी सादगी और प्रभावशीलता के लिए कई पुरस्कार जीते हैं। उसी पात्र पर एक विशेष तीन भाग वाली एनिमेटेड फिल्म भी दिखाई गई।


परमाणु ऊर्जा के बारे में जागरूकता पैदा करने, स्वच्छ, प्रदूषण रहित ऊर्जा स्राेत के रूप में  और यहाँ तक की परमाणु ऊर्जा के बारे में गलत धारणाएँ और ग़लतफहमी  काे दूर करने के उद्देश्य से भारत भर में ऐसे कई कार्यक्रम आयाेजित किये जा रहे हैं।

 

MANAV NAGAR
recommend to friends

Comments (0)

Leave comment