स्वतंत्र प्रभात-जिला मुख्यालय पर झाड़ियों के बीच से गुजर रही है सर्विस लाइन हादसे की अंदेशा सदैव बना रहता

 

अकबरपुर

अमित सिंह 


ग्रामीण अंचलों की क्या विद्युत व्यवस्था होगी इसका अनुमान लगाना सहज हैं...


अकबरपुर नगर पालिका के वार्ड नंबर 24 और 17 के बॉर्डर  पर लगे ट्रांसफार्मर की दशा दिशा बताता है कितना संजीदा है नगर पालिका प्रशासन और विद्युत विभाग ।

लापरवाही की इंतिहा इससे ज्यादा देखने को क्या मिल सकता है  चारों तरफ झाड़ियां में कहीं खो गया है । इंद्रलोक कॉलोनी का यह ट्रांसफार्मर । और लतों ने पूरी तरह से तारों को जकड़ हैं ।इन परिस्थितियों में भी  ऊर्जा निगम के अधिकारियों को सुध लेने की फुर्सत नहीं है

नगर पालिका के सबसे बेहतर कॉलोनी में नाम शुमार इंद्रलोक कॉलोनी का जब वहां पर इस तरह की दुर्दशा है तो फिर और जगहों की क्या हश्र होगा अनुमान लगाना आसान है इस कदर चारों तरफ से झाड़ियों में छुप गया है कि आप बमुश्किल से से ढूंढ पाएंगे नगर पालिका और जिले के अधिकांश  ट्रांसफार्मरों की  सूरते हाल इसी तरह से कुछ है ।

ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत वितरण की व्यवस्था बेहद ही लचर है और शहर में ही कई कालोनियों में तो झूलते हुए बिजली के तार दिख जाते हैं कुछ काम में तुझे और पीछे खड़े हैं कुछ जगहों तो लकड़ी के बल्ली के सहारे बिजली की सप्लाई हो गई है कभी भी बड़े हादसे को निमंत्रण दे सकती है।

लाजमी है जब कभी तेज हवाओं चलेंगी तो तक आपसी टकराव से किसी बड़े हादसे को जन्म दे सकती है टांडा रोड पर कई जगह पर देखा गया है कि पेड़ की टहनियां तारों पर झूम रही है और किसी हादसे का सबब बन सकता है ।

कई जगह लोहे के पोल सड़ चुके हैं । इसका खामियाजा आम लोगों को भी भुगतना पड़ता है । कब विभाग को फुर्सत मिलता है देखना होगा कि ट्रांसफार्मर की साफ सफाई व्यवस्था कराता है।

SWATANTRA PRABHAT
0
recommend to friends

Comments (0)

Leave comment