स्वतंत्र प्रभात-पत्रकार पर बंदूक तानकर धमकाने के मामले में सर्वसमाज ने एसपी को सौंपा ज्ञापन


 

बाड़मेर-

शाहिद हुसैन 

शहर में पुलिस के प्रति आमजन के भरोसा काम हो गया है वहीं अपराधियों में पुलिस का भय भी खत्म सा हो गया है। ऐसे में आमजन तो क्या संविधान का चौथा स्तंभ कहे जाने वाले पत्रकार भी अब सुरक्षित नहीं है। ऐसा ही मामला बाड़मेर जिले में 5 मई की शाम को सामने आया था।

जिसमे अज्ञात बाइक सवार (3 जनों) हमलावरों ने राय कॉलोनी रोड़ पर एडीएम बंगले के ठीक पास बाड़मेर के एक पत्रकार दुर्गसिंह राजपुरोहित के साथ गाली-गलौच कर बदसलूकी की वहीं अज्ञात हमलावरों द्वारा बंदूक तानकर 3 दिन में पत्रकार का मामला निपटाने की धमकी दी गई और इस दौरान भीड़ इक्क्ठा होते देख हमलावर मौके से फरार हो गए।

मामले को लेकर आज सोमवार सर्वसमाज ने बाड़मेर के जिला पुलिस अधीक्षक डॉ. गगनदीप सिंगला को ज्ञापन सौंपकर पूरे मामले की जल्द जांच करवाकर आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने की मांग की गई।

ज्ञापन में  विभिन्न जातियों से सम्बमध रखने वाले लोगों ने बताया कि दिनांक 05 मई की शाम पैदल जा रहे पत्रकार को अज्ञात हमलावरों द्वारा बंदूक तानकर धमकाया गया और जान से मारने का प्रयास किया गया। मामले में दुर्गसिंह राजपुरोहित द्वारा 6 मई को कोतवाली थाना में मामला दर्ज करवाया गया।

मामला को करीब हफ्ते भर का समय बीत जाने के बाद पुलिस ने अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की है। जिस वजह से सर्वसमाज में रोष व्याप्त है। उन्होंने एसपी के समक्ष पेश होकर कहा कि जब जिले में आमजन की आवाज उठाने वाला पत्रकार वर्ग ही सुरक्षित नहीं है तो, आमजन अपने आपको सुरक्षित कैसे समझ सकता है।

उन्होंने पुलिस अधीक्षक को बताया कि पत्रकार दुर्गसिंह द्वारा आमजन की समस्याओं के साथ कई पीड़ित पक्षों के मामले प्रमुखता से उठाए गए है। जिसके बाद उन्हें सोशल साइट्स एवं कॉल के माध्यम से लगातार धमकियां मिल रही है। 

उन्होंने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि मामला इतना गंभीर होते हुए भी पुलिस ने मामले में सामान्य धाराएं ही लगाई है। वहीं पुलिस द्वारा अब तक मामले में कोई कार्यवाही नहीं कि गई है।

ज्ञापन में सर्वसमाज के लोगों ने जांच बदलने, अज्ञात हमलावरों के जल्द गिरफ़्तार करने के साथ जिले की कानून व्यवस्था पर भरोसा कायम करवाने की मांग की है।

इससे पूर्व भगवान महावीर पार्क में सभा आयोजित की गई। जिसमें समाज सेवी रामसिंह बोथिया व पत्रकार तरुण मुखी ने सभा को संबोधित करते हुए घटना के बारे में सभी को अवगत करवाया।

घटना के संबंध में पुलिस द्वारा उचित कार्यवाही ना करने पर धरना प्रदर्शन सहित अन्य विरोध प्रदर्शनों के बारे में चर्चा की गई।

इस दौरान समाजसेवी रामसिंह बोथिया, तुषारसिंह बालासर, थानसिंह लंगेरा, नवलकिशोर लीलावत, खंगारचंद दर्जी, लेखाराम चौधरी, अभयसिंह सोढा, नरसिंह सोढा, हेमंत राजपुरोहित, स्वरूपसिंह लखा, मेघराजसिंह, राजू सोनी, धनराज सोनी, हरीशसिंह, दिनेशपालसिंह, सम्पतसिंह कानोट सहित विभिन्न समुदायों के लोग उपस्थित रहे।

recommend to friends

Comments (0)

Leave comment