स्वतंत्र प्रभात-मुसलमानों को मान लेना चाहिए कि उनके पूर्वज भी हिंदू थे : भाजपा सांसद डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी

 

हर्षित मिश्रा

लखनऊ के गन्ना संस्थान सभागार में महामना मालवीय मिशन की ओर से ‘महामना एवं हिंदुत्व’ विषय पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री व भाजपा सांसद डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी।

इस दौरान उन्होंने कहा कि वेद-पुराणों के अलावा अब वैज्ञानिक आधार पर भी यह साबित हो चुका है कि कन्याकुमारी से कश्मीर तक भारत का डीएनए हिंदू है। अर्थात हिंदू व मुसलमान जाति में बंटे लोगों का डीएनए भी एक है।

इसलिए मुसलमानों को मान लेना चाहिए कि उनके पूर्वज भी हिंदू थे। अगर मुसलमान भी इस वैज्ञानिक सच को मान लें तो हम एक परिवार की तरह रह सकते हैं। दिक्कत तब होती है, जब भारतीय मुसलमान मोहम्मद गोरी, मोहम्मद गजनी और औरंगजेब से खुद को जोड़ते हैं। 

उन्होंने कहा कि महामना ने भी सबसे पहले यह स्पष्ट कर दिया था कि भारत एक हिंदू राष्ट्र है। इसलिए ही उन्होंने सबसे पहले हिंदू महासभा की स्थापना की थी। 

भारतीय परंपरा हिंदूवादी परंपरा पर आधारित डॉ. स्वामी ने कहा कि तमाम वैज्ञानिक शोधों से स्पष्ट हो चुका है कि भारतीय परंपरा एक हिंदूवादी परंपरा पर आधारित है। इसलिए सभी वर्ग व समाज के लोगों को हिंदुत्व का आदर करना चाहिए।

SWATANTRA PRABHAT
0
recommend to friends

Comments (0)

Leave comment