स्वतंत्र प्रभात-जुगाड़ के बलबूते धुर विरोधी भी सत्ता में मलाई  का स्वाद चखने में कामयाब रहें

 

स्वतंत्र प्रभात

अंबेडकरनगर 


राजनीति के आंतरिक गलियारे में  संभवता एक जैसे ही है सभी राजनीतिक पार्टियां नहीं तो प्रदेश में धुर विरोधी राजनीतिक पार्टी के एक कद्दावर नेता को प्रदेश सरकार ने इतना बड़ा इनाम दें  दिया । जिस पर भाजपा के कई कद्दावर नेता कुछ भी बोलने से कतराते रहे ।


क्या सत्तारूढ़ पार्टी को अपने पास कोई कार्यकर्ता ढूंढे नहीं मिला । जो प्रदेश में राजनीतिक धुर विरोधी पार्टी के सदस्य को पद देना कहां तक न्यायोचित है ? दबी जुबान से कार्यकर्ताओं की यह आवाज़ थी । निसंदेह कहा जा सकता है कि पार्टी में कार्यकर्ताओं की अपेक्षा बड़े चरम सीमा पर पहुंच रहा है ।

और राजनीतिक गलियारों में अब तक यही देखा गया है कि सत्तारूढ़ पार्टी के कार्यकर्ताओं को विभिन्न निगम और आयोगों में भेजा जाता था ।लेकिन भाजपा में तो समाजवादी के नेता को भी जगह मिल गई यह बड़ी चौकाने वाला विषय है ।

2019 की राजनीतिक सफर के लिए घातक सिद्ध हो सकता है । इस तरह के फैसले से कार्यकर्ताओं निराशा की भावनाएं  जन्म ले सकते हैं । नेतृत्व के इस फैसले पर कुछ बोलने से कतराते रहे ।लेकिन मन की पीड़ा उनकी जुबान पर रह-रहकर आ ही जाता है । 


 राजनैतिक जानकार  इस फैसले पर बड़े असमंजस की स्थिति मैं समीक्षा करते हुए दिखे । क्योंकि जिस नेता को यह पद दिया गया है । वह अम्बेडकर नगर ज़िले में समाजवादी पार्टी का जिला अध्यक्ष हैं । समाजवादी के सरकार में बड़ा रसूखदार नेताओं में शुमार हैं ।


 प्रदेश सरकार के इस इनाम पर संभवता दवे ज़ुबान पर कार्यकर्ताओं में भी कुछ नाराज़गी देखने को मिल सकती है ।
 एमएलसी हीरालाल यादव को प्रदेशीय विद्युत व्यवस्था संबंधित जांच समिति का सभापति मनोनीत किए जाने पर बधाइयां देने का सिलसिला जारी है। 


उत्तर प्रदेश के प्रमुख सचिव  डॉक्टर मनमोहन यादव ने सदस्य विधान परिषद हीरालाल यादव को प्रदेशीय विद्युत व्यवस्था संबंधित जांच समिति का सभापति मनोनीत किया है। जांच समिति के सभापति बने हीरालाल यादव को बधाइयां मिलने का सिलसिला लगातार जारी है। देखना होगा ज़िले के वरिष्ठ नेता पदाधिकारी और कार्यकर्ता कितना इसे पचा पाते हैं इस सम्मान देने की राजनीति को । 
अहम सवाल तो यह है कि जो कार्यकर्ता अब तक विपक्षी नेताओं से बूथ पर संघर्ष करता था । कार्यकर्ताओं की उपेक्षा कर विपक्षी पार्टी के नेता को सम्मान देना पार्टी के लिए कितना कारगर सिद्ध होगी यह तो वक्त बताएगा

लेकिन सम्मान मिलने के पीछे की राजनीति क्या है समझने वाले कोशिश में लगे हैं ।

SWATANTRA PRABHAT
0
recommend to friends

Comments (0)

Leave comment