स्वतंत्र प्रभात-कर्तव्य को देना चाहिए प्रमुखता-डा.सिद्दीकी

 

ज्ञानपुर ।

सतत संघर्ष करते रहना चाहिए।

संघर्ष करते रहने से सफलताएं निश्चित मिलती है। हमें कर्तव्य को प्रमुखता देनी चाहिए। उक्त बातें बुधवार को ज्ञानपुर नगर के विनीत सिंह  ऑफ़ बायोलॉजिकल साइंस के तत्वावधान में आयोजित 'छात्रों में हो प्रतिस्पर्धा'' विषय पर काशी नरेश राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय के वनस्पति विज्ञान के प्रवक्ता  डा.कमाल अहमद सिद्दीकी  ने कहा।

उन्होंने कहा कि आज का युग प्रतिस्पर्धा का युग माना जा रहा है चारों ओर प्रतिस्पर्धायें देखने को मिल रही है। इस प्रतिस्पर्धा के समय में बिना परिश्रम और संघर्ष के सफलता नही मिल सकती। अगर चाहे हम बिना पढ़े या संघर्ष के सफल हो तो यह असम्भव है।

जीवन के हर क्षेत्र में आज प्रतिस्पर्धा दिखाई दे रही है। हमे किसी भी कीमत पर परिश्रम और संघर्ष से पीछे नही हटना चाहिए।डा. इंद्रबहादुर सिंह ने कहा कि जीवन में हम तभी मनचाही सफलता पा सकते है जबकि संघर्ष न करे।

उन्होंने कहा कि हम सफल होने के लिए जितना परिश्रम और संघर्ष करेंगे भविष्य के लिए उतना ही हम दृढ़ संकल्प वाला बनेगे और छोटी बाधाओं को हम सहज रूप से ही पार कर लेंगे। हम भविष्य के लिए उतना ही परिपक्व होंगे। इसी तरह अन्य लोगो ने भी अपने विचार व्यक्त किये। डा.रमेशचन्द ने छात्र-छात्राओं को परिश्रम करने और सफलता अर्जित करने के अनेक टिप्स बतलाएं।

अंत में एकेडमी के निदेशक विनीत सिंह ने आये हुए सभी आगन्तुकों का आभार प्रकट किया।

ANAND KUMAR MISHRA BHADOHI
recommend to friends

Comments (0)

Leave comment