स्वतंत्र प्रभात-एसबीआई कार्ड के ग्राहकों की संख्या 6 मिलियन पार पहुंची

 

 भारत की प्रमुख क्रेडिट कार्ड कंपनी एसबीआई कार्ड के कार्डधारकों की संख्या 6 मिलियन से अधिक पहुंच गई है। कंपनी के कार्ड वाॅल्यूम में यह अब तक की सबसे तेज वृद्धि है।

एसबीआई कार्ड ने सितंबर 2017 और फरवरी 2018 के बीच 6 महीनों में एक मिलियन से अधिक ग्राहकों को जोड़ा है। इस तरह एसबीआई कार्ड ने देश में दूसरी सबसे बड़ी क्रेडिट कार्ड कंपनी के रूप में अपनी उपस्थिति को मजबूत किया है और इसकी बाजार हिस्सेदारी बढ़कर 16 प्रतिशत पहुंच गई है। कंपनी ने सितंबर 2017 में 5 मिलियन ग्राहकों की उपलब्धि हासिल की थी।

अक्टूबर 2016 और सितंबर 2017 के बीच इसने 1 मिलियन कार्ड्स जोड़े थे। तब से वृद्धि दर दोगुनी हो गई है। औसत मासिक कार्ड खर्च गत वर्ष के 4000 करोड़ रूपये की तुलना में बढ़कर 7000 करोड़ रूपये पहुंच गया है। 


इस बारे में बताते हुये हरदयाल प्रसाद, एमडी एवं सीईओ, एसबीइआई कार्ड ने कहा, ‘‘हमारे ग्राहकों के निरंतर भरोसे एवं समर्थन के परिणामस्वरूप ही हमने इस उल्लेखनीय वृद्धि का अनुभव किया है। हम नवीनतम और उद्योग अग्रणी उत्पादों को प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

उत्कृष्ट सेवा तथा भरोसे एवं पारदर्शिता की मजबूत नीतियों के कारण देश भर में हमारे लाखों ग्राहकों के लिए हम पसंदीदा ब्रांड बन गयेे हैं। पिछले कुछ वर्षों में हमने कार्ड खर्च पर 40 प्रतिशत से अधिक वृद्धि दर्ज की है, जबकि उद्योग वृद्धि दर लगभग 25 प्रतिशत है। कार्ड्स की संख्या और खर्च दोनों पर हमारी बाजार हिस्सेदारी निरंतर बढ़ी है।‘‘


कंपनी की विजन एवं भविष्य के बारे में उन्होंने कहा, ‘‘भारत तेजी से डिजिटल बन रहा है और इसके चलते वृद्धि एवं नवीनीकरण की हमारे देश में बहुत संभावना है। हम निरंतर नवीनीकरण और तकनीक में निवेश करते रहेंगे, ताकि श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ भुगतान समाधान विकसित किये जायें और ग्राहकों को बेहतर अनुभव प्रदान किया जा सके। हमें डिजिटल रूपांतरण के अगले स्तर को बढ़ावा देने एवं ग्राहकों को बेहतर अनुभव देने के लिये आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस के सामथ्र्य का लाभ उठाते हुये खुशी हो रही है।

हमारा मानना है कि मिलेनियल ग्राहक सेगमेंट हमारे लिये अगले बड़े अवसर की पेशकश करता है। इन ग्राहकों के लिये हमने पहले ही अनूठे उत्पाद बनाये हैं और हम नई साझेदारियों, उत्पादों एवं इन नई पीढ़ी के ग्राहकों की जरूरतों को पूरा करने के लिये प्रयास जारी रखेंगे। हमारे ग्राहकों के लिये निरंतर मूल्य निर्माण के माध्यम से हम एक अग्रणी कार्ड कंपनी के रूप में हमारी स्थिति को सुदृढ़ करने और साथ ही भारत में भुगतान परितंत्र के विकास में योगदान करने के लिये तत्पर हैं।‘‘


वित्त वर्ष 2017 से वित्त वर्ष 2018 के पिछले एक साल में कंपनी ने औसत मासिक कार्ड खर्च में वर्ष-दर-वर्ष 75 प्रतिशत से अधिक वृद्धि हासिल की है, जोकि उद्योग वृद्धि दर से तकरीबन दोगुनी है। ग्राहक आधार पर बाजार हिस्सेदारी 15 प्रतिशत से 16 प्रतिशत तक बढ़ गई है, जबकि कार्ड खर्च पर हिस्सेदारी वित्त वर्ष 17 से वित्त वर्ष 18 में 13 प्रतिशत से 16 प्रतिशत तक बढ़ी है। 

एसबीआई कार्ड की सतत् वृद्धि विभिन्न कारकों के कारण हुई है। कंपनी ने एक सुदृढ़ प्रीमियम पोर्टफोलियो का निर्माण किया है, जो खर्च में उल्लेखनीय रूप से योगदान करता है। एसबीआई कार्ड एलीट एक टाॅप एंड प्रीमियम प्रोडक्ट है,

जबकि एसबीआई कार्ड प्राइम द्वारा शहरी, युवा समृद्ध ग्राहकों को सेवायें प्रदान की जाती हैं। नवाचार करने में एसबीआई कार्ड अग्रणी रहा है और अनूठे उत्पादों के माध्यम से विशिष्ट उपभोक्ता श्रेणियों की जरूरतों को पूरा करने के लिए तत्पर हैं।

इन उत्पादों में युवा आॅनलाइन पीढ़ी के लिये सिम्पली क्लिक एसबीआई कार्ड, डाॅक्टर्स एसबीआई कार्ड इत्यादि शामिल हैं। कंपनी का को-ब्रांडेड कार्ड पोर्टफोलियो, जोकि उद्योग में सबसे व्यापक एवं अत्यधिक विविधतापूर्ण है, एक महत्वपूर्ण ग्रोथ ड्राइवर रहा है।

एसबीआई कार्ड ने हाल ही में बीपीसीएल एसबीआई कार्ड के साथ अपने सुदृढ़ पार्टनर पोर्टफोलियो का विस्तार किया है। यह देश का सर्वाधिक पुरस्कृत फ्यूअल को-ब्रांड क्रेडिट कार्ड है। कंपनी विभिन्न श्रेणियों और क्षेत्रों में सहयोगियों के साथ अपने कैशबैक प्रोग्राम को निरंतर जारी रखेगी। 


ग्राहक अनुभव और सुरक्षा को बेहतर बनाने के लिये तकनीकी सुधार भी वृद्धि को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण रहे हैं। कंपनी द्वारा निरंतर नये जमाने की तकनीकों जैसे कि एआइ और होस्ट कार्ड इमुलेशन को एकीकृत किया जा रहा है, ताकि ग्राहकों को बाधारहित भुगतान अनुभव उपलब्ध कराया जा सके। 

MANAV NAGAR
recommend to friends

Comments (0)

Leave comment