स्वतंत्र प्रभात-खुशखबरी: हम भले न देख पाएं लेकिन ब्रिटेन में 1 दिसंबर को ही दिखेगा 'पद्मावती' का शौर्य

 

ब्रिटिश बोर्ड ऑफ फिल्म क्लासिफिकेशन (बीबीएफसी) ने ‘पद्मावती’ की रिलीज को हरी झंडी दे दी है. 'पद्मावती' को बीबीएफसी ने बिना किसी भी कट के पास कर दिया है. इस फिल्‍म की रिलीज डेट दुनिया भर के लिए 1 दिसंबर जबकि गल्‍फ देशों के लिए 30 नवंबर रखी गई थी.

खास बातें :

  1. ब्रिटिश बोर्ड ऑफ फिल्म क्लासिफिकेशन (बीबीएफसी) ने ‘पद्मावती’ को दी हरी झंडी

  2. 1 दिसंबर को यूके में रिलीज हो सकती है 'पद्मावती'

  3. भारत में विरोध के बाद टाल दी गई है इस फिल्‍म की रिलीज

नई दिल्‍ली: निर्देशक संजय लीला भंसाली की फिल्‍म 'पद्मावती' को लेकर जहां देशभर में हंगामा मचा हुआ है और सेंसर बोर्ड ने इसे पास करने से मना कर दिया है, वहीं ब्रिटिश सेंसर बोर्ड ने यह फिल्‍म पास भी कर दी है. यानी भारत में भले ही 'पद्मावती' देखने के लिए दर्शकों को इंतजार करना पड़े, लेकिन ब्रिटेन में यह फिल्‍म 1 दिसंबर को ही रिलीज होने के लिए तैयार है. ब्रिटिश बोर्ड ऑफ फिल्म क्लासिफिकेशन (बीबीएफसी) ने ‘पद्मावती’ की रिलीज को हरी झंडी दे दी है. 'पद्मावती' को बीबीएफसी ने बिना किसी भी कट के पास कर दिया है. इस फिल्‍म की रिलीज डेट दुनिया भर के लिए 1 दिसंबर जबकि गल्‍फ देशों के लिए 30 नवंबर रखी गई थी, लेकिन भारत में चल रहे विरोध के चलते इस फिल्‍म की रिलीज को मेकर्स ने टाल दिया है और इसकी नई डेट भी अभी सामने नहीं आई है. 

बीबीएफसी द्वारा दिए गए सर्टिफिकेट के अनुसार संजय लीला भंसाली द्वारा निदेर्शित इस फिल्म की अवधि 2 घंटे 44 मिनट की है. 
बता दें कि भारत में श्री राजपूत करणी सेना शुरू से ही इस फिल्‍म का विरोध कर रही है. 'पद्मावती' को लेकर इस बात का विवाद है कि यह फिल्म राजपूत रानी पद्मावती के बारे में इतिहास को बिगड़ती है. 1303 में चित्तौड़ के घेराबंदी होने के दौरान पद्मावती ने अपने समुदाय के सम्मान की रक्षा के लिए जौहर कर लिया था. संजय लीला भंसाली की इस फिल्‍म में दीपिका पादुकोण रानी पद्मिनी के किरदार में, शाहिद कपूर महारावल रतन सिंह के किरदार में और रणवीर सिंह अलाद्दीन खिलजी के किरदार में नजर आएंगे. 

इस फिल्‍म का विरोध कर रही करणी सेना की अभी तक मांग थी कि पहले उनके प्रतिनिधियों को ही यह फिल्‍म दिखायी जाए, तभी इस फिल्‍म को रिलीज होने दिया जाएगा. लेकिन बुधवार को करणी सेना ने अपना स्‍टैंड बदलते हुए कहा कि वह फिल्‍म मेवाड़ के राजघराने के लोगों को दिखाये और अगर उन्‍हें कोई विरोध नहीं हुआ तो वह फिल्‍म के विरोध में चल रहे अपने अंदोलन को वापिस ले लेंगे. 

recommend to friends

Comments (0)

Leave comment