स्वतंत्र प्रभात-Whatsapp चलाने वालों के लिए बुरी खबर, नया फीचर आपको परेशान कर देगा!

 

वॉट्सएप जल्द ही अपने यूजर्स को चार्ज करना शुरू कर सकता है. इस नए फीचर के बारे में जान लीजिए फायदे में रहेंगे.

खास बातें :

  1. वॉट्सऐप इस्तेमाल करने पर फिलहाल कोई चार्ज नहीं लिया जाता

  2. वॉट्सऐप की नई प्लानिंग की वो इसके लिए अब चार्ज करेगा

  3. वॉट्सऐप पहले भी लेता था एक साल का सब्सक्रिप्शन

नई दिल्ली: बिना झिझक और बिना किसी चार्ज के वॉट्सऐप चलाने वालों को ये खबर झटका दे सकती है. दरअसल, वॉट्सऐप की नई प्लानिंग की वो इसके लिए अब चार्ज करेगा. एक समय था जब वॉट्सऐप के एक साल के सब्सक्रिप्शन के लिए 56 रुपए लिए जाते थे. हालांकि, ये सब्सक्रिप्शन फीस 2016 में बंद कर दी गई थी और तब से लेकर अब तक वॉट्सऐप इस्तेमाल करने वालों के लिए कोई चार्ज नहीं लगाया जाता है. लेकिन, अगर खबरों की मानें तो एक बार फिर वॉट्सऐप चार्जेबल हो जाएगा.

नया बिजनेस मॉडल
वॉट्सऐप का कोई बिजनेस मॉडल नहीं रहा है. ये ऐप शुरुआत से लेकर अब तक बिना किसी विज्ञापन के चल रही है. जब फेसबुक ने वॉट्सएप को 19 बिलियन डॉलर में खरीदा था तब इसके एक बिजनेस मॉडल की बात कही गई थी, लेकिन अभी तक कोई ठोस मॉडल बन नहीं पाया है. अब कयास लगाए जा रहे हैं कि फेसबुक का नया बिजनेस मॉडल तैयार है. जिसके लागू होते ही वॉट्सऐप चार्जेबल हो जाएगा.

फेसबुक, वॉट्सऐप, सोशल मीडिया
नया बिजनेस मॉडल बनाने की बात तो काफी पहले से चल रही थी, लेकिन अब फेसबुक ने इसे लेकर एक नया बिजनेस मॉडल बना लिया है. वॉट्सऐप अभी भी फ्री है, लेकिन फेसबुक ने जो नया रास्ता खोजा है उससे काफी फायदा जरूर उठाया जा सकता है. नए बिजनेस मॉडल में फेसबुक की तरफ से अब बिजनेस टू कस्टमर मॉडल वॉट्सऐप के लिए दिया जाएगा.

ऐप की शक्ल में आएगा नया फीचर
वॉट्सएप के नए मॉडल में ऐप की तरफ से कंपनियां और छोटे व्यापारी सीधे कस्टमर्स यानि यूजर्स से बात कर सकेंगे. ये मॉडल अभी टेस्टिंग फेज में है. इससे यूजर्स को ज्यादा परेशानी नहीं होगी क्योंकि इस मॉडल में यूजर्स को सिर्फ वही कंपनियां कॉन्टैक्ट कर पाएंगी जिनकी परमीशन यूजर ने दी होगी. बिजनेस या एंटरप्राइज की एक वैरिफाइड प्रोफाइल भी होगी जिसके आगे ग्रीन टिक दिखेगा. ये वैसा ही होगा जैसा इंस्टाग्राम, ट्विटर या फेसबुक पर होता है. खबरों की माने तो वॉट्सएप का ये नया फीचर एक ऐप की शक्ल में आएगा और इसे छोटी कंपनियों के साथ टेस्ट भी किया जा रहा है.

कब होगा लॉन्च
इसे लॉन्च होने में अभी समय है और ये अभी सिर्फ टेस्टिंग फेज में है. अभी तक काफी कम कंपनियों ने इस पायलेट प्रोजेक्ट में हिस्सा लिया है.

सिक्योरिटी का क्या होगा
वॉट्सऐप ने पहले ही कहा था कि चाहें जो भी हो जाए एन्क्रिप्शन मॉडल तो वॉट्सऐप पर रहेगा. यानि कोई भी अन्य इंसान वॉट्सऐप के मैसेज नहीं पढ़ पाएगा, लेकिन शायद ये बिजनेस मॉडल के बाद न हो पाए! इसका कारण ये है कि अगर वॉट्सएप मैसेज पढ़ेंगे नहीं तो आखिर कैसे कंपनियों तक यूजर्स की जानकारी पहुंच पाएगी और दूसरा ये कि बिना किसी विज्ञापन के अगर वॉट्सऐप से पैसे कमाने हैं तो कंपनियों को भी सीधे यूजर्स से बात करनी होगी.

क्या है मॉडल लाने का कारण
इस मॉडल को लाने के दो कारण हो सकते हैं. पहला तो ये कि कंपनियों के जरिए वॉट्सऐप को फायदा मिलेगा और रेवेन्यु बनेगा और दूसरा ये कि इससे कंपनियां सीधे कस्टमर तक पहुंच पाएंगी. खैर, जो भी हो अभी इस मामले में कोई आधिकारिक जानकारी नहीं है. कब तक लॉन्च होगा और भारत में कब तक आएगा इसके बारे में भी कुछ कहा नहीं जा सकता, लेकिन ये तो है कि जल्द ही वॉट्सऐप भी रेवेन्यु मॉडल की तरफ बढ़ रहा है.

recommend to friends

Comments (0)

Leave comment