स्वतंत्र प्रभात-कड़ाके की ठंड से लोग बेहाल, अलाव ही एक मात्र सहारा

 

स्वतंत्र प्रभात संवाददाता, ज्ञानपुर (भदोही) : शीतलहर व कड़ाके की ठंड का कहर जारी है। सूर्यदेव के दर्शन तो हो रहे हैं, लेकिन सर्द हवाओं के आगे कोई भी राहत नहीं दे पा रही है। ऐसे में लोगों की दुश्वारियां बढ़ गई हैं। लोगों के जरूरी कार्य तक प्रभावित होकर रह गए हैं। पिछले कुछ दिनों से मौसम का मिजाज पूरी तरह बिगड़ चुका है।

एक ओर जहां कोहरे का प्रकोप यथावत बना है। भले ही दिन में धूप हो जा रही है, लेकिन शाम ढलते ही कोहरे की चादर तन जा रही है। जो पूरी रात के साथ पूर्वाह्न तक जारी रह रही है। इसके साथ ही बर्फीली सर्द हवाएं भी कहर बरपा रही हैं। ठंड व गलन को देख सुबह उठने वाले लोग अपने काम मे लगने के बजाय अलाव से चिपककर रह जा रहे हैं।

इससे लोगों के जरूरी कार्य तक ठप पड़ गए हैं। विशेषकर रोज कमाने खाने वाले गरीब परिवारों, मजदूर, बुनकरों आदि के सामने काम को लेकर संकट खड़ा हो गया है। काम न मिलने से उनके लिए परिवार के लिए भोजन की व्यवस्था कर पाना मुश्किल हो रहा है। शनिवार को भी घने कोहरे के साये में हुई सुबह से लोग बेहाल रहें।

ANAND KUMAR MISHRA BHADOHI
recommend to friends

Comments (0)

Leave comment