स्वतंत्र प्रभात-स्वदेश दर्शन योजना के अंतर्गत हरिहर नाथ और बड़े शिव मंदिर के सौंदर्यीकरण के लिये 1 करोड़ 32 लाख का बजट जारी

 

ज्ञानपुर (भदोही): काशी-प्रयाग के मध्य स्थित जनपद भदोही के धार्मिक स्थलों की तस्वीर बदलने की कवायद शुरु हो गई है। स्वदेश दर्शन योजना के अंतर्गत भारत सरकार के पर्यटन विभाग ने बाबा हरिहरनाथ मंदिर और गोपीगंज स्थित बड़े शिव मंदिर के सौंदर्यीकरण के लिए एक करोड़ 33 लाख रुपये जारी किया है।

जिलाधिकारी विशाख जी एवं पर्यटन विभाग के अधिकारियों ने बाबा हरिहरनाथ मंदिर और गोपीगंज स्थित बड़े शिव मंदिर का स्थलीय निरीक्षण किया। इस दौरान मंदिर के सौंदर्यीकरण के लिए दिशा निर्देश दिया।

जिलाधिकारी ने बताया कि स्वदेश दर्शन योजना के अंतर्गत भारत सरकार पर्यटन मंत्रालय ने गोपीगंज स्थित बड़े शिव मंदिर के लिए एक करोड़ एक लाख और हरिहरनाथ मंदिर के लिए 32 लाख रुपये अवमुक्त किया है। बताया इसकी जिम्मेदारी निर्माण एजेंसी नेशनल प्रोजेक्ट कंस्ट्रक्शन कारपोरेशन लिमिटेड गुरूग्राम हरियांणा को सौंपी गई है।

कहा कि सौंदर्यीकरण का कार्य 15 जनवरी से शुरू हो जाएगा। प्राथमिकता के आधार पर छह माह के अंदर कार्य पूर्ण होना चाहिए। गुणवत्ता में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी मिलने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। जिलाधिकारी ने बताया कि दोनों धार्मिक स्थलों के सुंदरीकरण के दौरान घाटों का इंप्रुवमेंट, सोलर लाइट, महिला- पुरुष शौचालय, ओपेन सेट, साइन बोर्ड, हाइमास्क सोलर लाइट, फ्लावर लगाने का स्थल, पर्यटकों को बैठने आदि की व्यवस्था आदि कार्य कराया जाएगा। जिलाधिकारी ने कहा कि बड़े शिव मंदिर के सामने तालाब के मलबे युक्त पानी को तत्काल निकालकर पूरी प्ला¨नग के तहत कार्य को क्रियान्वयन कराया जाय।

इसी प्रकार हरिहरनाथ मंदिर परिसर में ओपेन सेड का भी निर्माण कराया जाय। इस पर विशेष निगरानी रखने के लिए लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता को निर्देशित किया। इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी हरिशंकर सिंह, सहायक पर्यटन अधिकारी बृजेश कुमार, कार्यदायी संस्था के प्रबन्धक राकेश कुमार, उप प्रबन्धक अखिलेश पाल के अलावा ज्ञानपुर के चेयरमैन श्री हीरालाल मौर्य आदि थे। सांसद ने पर्यटन मंत्रालय को भेजा था प्रस्ताव कालीन नगरी में स्थित पौराणिक एवं धार्मिक स्थलों की स्थिति बहुत ही दयनीय हो चुकी थी। ऐतिहासिक इन मंदिरों पर प्रत्येक दिन आस्थावानों की भीड़ लगती है।

धार्मिक स्थलों की स्थिति देख सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने केंद्रीय पर्यटन मंत्री से मिलकर प्रस्ताव सौंपा था। इसमें हरिहरनाथ मंदिर, बड़े शिव मंदिर, डेरवा की शीतला माता मंदिर, सीतामढ़ी, सेमराध आदि शामिल रहा। शीतला माता मंदिर के लिए भी एक करोड़ स्वीकृत हो गया था लेकिन भूमि विवाद के चलते यहां का बजट समर्पण कर दिया गया।

ANAND KUMAR MISHRA BHADOHI
recommend to friends

Comments (0)

Leave comment