स्वतंत्र प्रभात-कमाई के चक्कर में जिल्लत की पता नहीं सब कुछ सहने के बाद भी नही बनवा रहे  मिड्डेमील

 

कमाई के चक्कर में जिल्लत की पता नहीं सब कुछ सहने के बाद भी नही बनबा रहे  मिड्डेमील।

जरीफनगर बदायूं।

आखिर हिस्सेदारी किसे बुरी लगती है बगैर किसी मेहनत के जब जेब गर्म होती है तो बात ही कुछ और है उच्च प्राथमिक  विद्यालय के अलावा प्राथमिक  विद्यालय में संचालित मिड डे मील की व्यवस्था में कुछ यही स्थिति है

प्रधानों की जरूरत को सहने के बाद भी हेडमास्टर मोटी रकम की खातिर समझौतावादी रुख अपना लेते हैं यह कम ही सुनने में आया है कि प्रधानाध्यापक माध्यम भोजन की जिम्मेदारी छोड़ रहे हैं हां इतना अवश्य है कि ऐसा का काम है कि प्रधान जी चेक पर हस्ताक्षर नहीं कर रहे हैं ब्लाक क्षेत्र के  विद्यालयों में मिड डे मील व्यवस्था डामाडोल है प्रधान और हेड मास्टर का इस व्यवस्था पर पूरी तरह कब्जा है जहां पर प्रधान असरदार है

वहां पर हेड मास्टर और ज़रूरत ज़रूर कमजोर साबित होकर समझौता करने को मजबूर होना पड़ता है।फिर भी प्रधान उसकी जेब खाली नहीं रहने देते जहां पर हेड मास्टर मजबूत पकड़ वाले हैं वहां पर प्रधान जी को खाली हाथ नहीं रखा जाता है

यह अवश्य है कि प्रधान और हेड मास्टर में मिड डे मील को लेकर विवाद की स्थिति सामने आ जाती है मगर विवाद को ज्यादा तूल पकड़ने नहीं दिया जाता है आखिर कमाई की खातिर दोनों ही दोनों की तरफ से समझौता वादी दृष्टिकोण को कामयाब रखा जाता है ऐसे में कम ही मामले बेसिक शिक्षा विभाग के पास पहुंचते  हैं जहां पर सुना जाता है कि हेड मास्टर ने मिड डे मील बनाने का वादा कर लिया । 


ऐसा ही विकास खंड दहगवाॅ क्षेत्र के गांव मालपुर ततैरा  के उच्च प्राथमिक विद्यालय की स्थिति बनी हुई है । जहा पर मंगलवार को केवल दो छात्रा  एक अध्यापक उपस्थित थे जबकि उपस्थित छात्राओ ने बताया कि  मिड डे मिल एक सप्ताह से बना ही नही है

और जबकि मिड डे मील के रजिस्टर मे स्कूल की छुट्टी होने के बाद  छात्र छात्राओ  की उपस्थिति अधिक संख्या मे दर्ज हो जाती है मालपुर ततैरा के प्राथमिक विद्यालय मे केवल एक अध्यापिका उपस्थित  मिली और स्टाप नदारद मिला मिड डे मील मे मंगलवार को घटिया किस्म के केवल चावल छात्र छात्राओ को खिलाये गये ।

पूछे जाने पर दोनो स्कूलो के स्टाफ ने ग्राम प्रधान पर  न बनबाने का आरोप लगाया । आगे विकास खंड दहगवाॅ क्षेत्र के गांव ठेल के  प्राथमिक विद्यालय  मे केवल सात बच्चे मिले बच्चे से पूछे जाने पर बताया कि कई दिनो से मिड डे मील  नही बन रहा है ।

प्राथमिक विद्यालय के  इंचार्ज मुकेश भारती से पूछे जाने पर संतुष्ट जबाब नही दे सके ।

रिपोर्ट अवलेश कुमार के साथ सोमवीर सिंह जरीफनगर बदायूं 

SWATANTRA PRABHAT NEWS BADAUN
recommend to friends

Comments (0)

Leave comment