स्वतंत्र प्रभात-भाई ने बहन और उसके प्रेमी को मौत के घाट उतारा।

 

जालौन के सिरसा कलार थाने  सरैनी गए में  बहन के दूसरे व्यक्ति से अवैध सम्बन्ध की बात मालूम पड़ते ही। मामी से मिलकर बहन और उसके प्रेमी की हत्या कर दी।बहन को मारकर नदी की तेज  धारा में बहा दिया।और प्रेमी को मारकर बोरे बन्द करके नदी के किनारे फैंक दिया।

अपर एस.पी. ने बताया कि इस मामले में  पिता और मामी सहित 5 लोगो को आरोपी माना है जिसमे लड़की का भाई पूरन और मामी भगवती को गिरफ्तार कर लिया गया है।बाकी तीन आरोपियों की तलाश जारी है।

     मामला जालौन के सिरसाकलार थाने के  सरैनी गावँ का है । जहां लल्लु बेटा ने अपनी बेटी निशा की शादी 4 वर्ष पूर्व जालौन के रूरा अड़डू गावँ निवासी माधौसिंह से कर दी थी ।माधौसिंह गुजरात के सूरत में एक फैक्ट्री में गार्ड का काम करता था वही पर म्रतक राजवीर भी काम करता था। जहां पर राजवीर और निशा का सम्बंध हो गया।

इस अवैध सम्बन्ध की भनक जब निशा के पति को हुई तो वो अपने पति को छोड़कर मायके आ गयी उसी के पीछे  उसका प्रेमी भी नॉकरी छोड़कर चला आया। पहले तो घरवालों ने  निशा के पति माधौसिंह को गलत मना फिर घरवालों को गावँ में राजवीर और निशा की नज़दीकियों की खबर लगी दोनो की नजदीकी बढ़ती देख घरवालों को शक हुआ लेकिन कुछ बोले नही । निशा को इस बात का भृम भी नही था के उसके घरवाले उस पर निगाह रखे है। 6 फरवरी 18 को निशा अपनी 

मामी भगवती के घर सरैनी गावँ गई दूसरे दिन 07 फरवरी को मृतक राजवीर भी वहां पहुंच गया। मामी ने लड़की के घरवालों को सूचना दी ।
जब लड़की के परिवारवालो ने दोनों को सामने देखा  तो  निशा के परिवार वालो का गुस्सा आया और सब ने मिलकर राजवीर और निशा की हत्या कर दी।

पुलिस ने बताया कि आरोपी ने पूछताछ बताया कि हम लोगो ने निशा और राजवीर दिनों को जान से मार डाला और दोनों के शव को बोरे में बंद करके जमना नदी में फेंक दिया तेज बहाव के कारण निशा का शव बह गया और 09 फरवरी 18 राजवीर का शव नदी के किनारे बोर बन्द मिला।


पुलिस को मामी भगवती के घर पर निशा के जले हुए कपड़े की राख और पर्स मिला है। जिसको पुलिस ने सीलकर दिया। अब  पुलिस निशा के शव की तलाश करने कोशिश कर रही है।

 बाइट.....सुरेंद्र नाथ तिवारी (अपर पुलिस अधिक्षक जालौन)

recommend to friends

Comments (0)

Leave comment