सफलता का कोई शार्ट कट नही होता, मेहनत के बूते अपने माँ-बाप का नाम करें रोशन -डॉ. चंद्रशेखर सिंह

जिसके मन मे सेवा का भाव होता है, उसके सफलता की राह अपने आप प्रशस्त होती जाती है
 
सफलता का कोई शार्ट कट नही होता, मेहनत के बूते अपने माँ-बाप का नाम करें रोशन -डॉ. चंद्रशेखर सिंह
23 नवम्बर को प्रशिक्षित हो चुके प्रशिक्षुओ का विदाई समारोह आयोजित किया गया

नैनी प्रयागराज। गौहनिया स्थित दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्य योजना (डीडीयू-जीकेवाई सेंटर) में प्रशिक्षणरत जीडीए (जनरल ड्यूटी असिस्टेंट) के दूसरे बैच का प्रशिक्षण 19 नवम्बर को पूरा हो गया। 23 नवम्बर को प्रशिक्षित हो चुके प्रशिक्षुओ का विदाई समारोह आयोजित किया गया।

 इस दौरान जीडीए थर्ड और एमएसटी फर्स्ट एवं सेकेंड बैच के बच्चों ने रुंधे गले से अपने सीनियर्स को भावभीनी विदाई दी। आरके ग्रुप ऑफ फार्मेसी के प्रिंसिपल चंद्रशेखर सिंह ने नव प्रशिक्षुओ से कहा कि सफलता का कोई शार्ट कट नही होता और मेहनत का कोई तोड़ नही होता। जिसके मन मे सेवा का भाव होता है, उसके सफलता की राह अपने आप प्रशस्त होती जाती है।

 इसलिए सभी को पूरी निष्ठा और ईमानदारी से अपनी ट्रेनिंग पूरी करके अपना कैरियर सवारने पर जोर देना चाहिए। क्योकि जब आप सफलता के मुकाम पर पहुँचते है तो आप को देखकर ही आपको जानने पहचानने वाले बच्चे भी प्रेरित होते है। इस दौरान उन्होंने सभी नव प्रशिक्षुओ को ट्रेनिंग पूरी करने पर प्रमाण पत्र  वितरित किया।आखिर में प्रोजेक्ट हेड प्रवीण द्विवेदी ने सभी प्रशिक्षुओ को धैर्य एवं लगन के साथ अपनी सफलता की सीढ़ी तय करने का मंत्र बताया।

 उसके बाद रिजर्व बस से सभी 30 प्रशिक्षुओ को प्लेसमेंट के लिए दिल्ली  रवाना किया गया। जूनियर बच्चो ने अपने सीनियर्स को गिफ्ट देकर विदा किया। इस दौरान स्टेट हेड प्रवीण द्विवेदी, डोमेन ट्रेनर अनुराग कुमार, विनय कुमार, अंजुला वैश्य, एमआईएस शुभम विश्वकर्मा, रति पाल, अनुराग पांडेय, शालिनी शर्मा, ऋषभ दुबे, अंजली मिश्रा, आनन्द विश्वकर्मा, अनामिका आदि उपस्थित थे।

FROM AROUND THE WEB