तालिबान के सामने 100 इस्लामिक स्टेट के आतंकियों का सरेंडर, अफगानिस्तान में आएगी शांति?

 मामले को लेकर अधिकारियों का कहना है कि इन विद्रोहियों के सरेंडर करने से नंगरहार प्रांत में शांति और स्थिरता आएगी।
 
 तालिबान के सामने 100 इस्लामिक स्टेट के आतंकियों का सरेंडर, अफगानिस्तान में आएगी शांति?
 

अफगानिस्तान के नंगरहार प्रांत में करीब 100 इस्लामिक स्टेट से जुड़े आतंकियों ने सरेंडर कर दिया है। यह रिपोर्ट न्यूज एजेंसी एएनआई ने चीनी मीडिया शिन्हुआ के हवाले से दी है।

न्यूज एजेंसी शिन्हुआ ने नंगरहार जनरल डायरेक्टरेट ऑफ इंटेलिजेंस (GDI) ऑफिस के डायरेक्टर मोहम्मद बशीर के हवाले से कहा है कि इस्लामिक स्टेट के करीब 100 आतंकियों ने 23 नवंबर की सुबह नंगरहार की राजधानी जलालाबाद शहर में नंगरहार जनरल GDI के अधिकारियों के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। बशीर ने बताया है कि सरेंडर करने वाले आतंकी मुहम्मद दारा, चपरहार, कोट और खोगियानी जिलों में एक्टिव थे।

नंगरहार का इलाका इस्लामिक स्टेट ऑफ खोरासन का गढ़ माना जाता है। नंगरहार प्रांत का चपरहार जिला लंबे वक्त तक इस्लामिक स्टेट ऑफ खोरासन का गढ़ रहा है।  इस्लामिक स्टेट इस क्षेत्र में 2014 से ही मौजूद है। चपरहार के तालिबान गवर्नर ऐनुदीन ने भी माना है कि इलाके में इस्लामिक स्टेट से जुड़े कुछ आतंकवादी हैं।


मामले को लेकर अधिकारियों का कहना है कि इन विद्रोहियों के सरेंडर करने से नंगरहार प्रांत में शांति और स्थिरता आएगी। सरेंडर करने वाले आतंकियों ने इस्लामिक स्टेट के लड़ाकों से हथियार डालने को कहा है। इस सरेंडर को लेकर इस्लामिक स्टेट ऑफ खोरासन ने अब तक कोई कमेंट नहीं किया है।

बता दें कि अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद से इस्लामिक स्टेट ऑफ खोरासन ने नंगरहार और काबुल सहित कई इलाकों में हमले किए हैं। इन हमलों में सैकड़ों आम अफगान लोग मारे गए हैं और घायल हुए हैं। तालिबान ने लगातार कहा है कि वह इस्लामिक स्टेट को नियंत्रित करने की कोशिश कर रहा है।

FROM AROUND THE WEB