नॉर्थ कोरिया में अब लेदर जैकेट पहनने पर पाबंदी

उत्तर कोरिया में आम लोगों के लिए लेदर की जैकेट पहनना बैन किया जा चुका है
 
नॉर्थ कोरिया में अब लेदर जैकेट पहनने पर पाबंदी
लेदर की जैकेट पहनना बैन किया जा चुका है.

उत्तर कोरिया  दुनिया भर में अपने तानाशाह शासक किम जोंग उन और उसके अजीबोगरीब नियमों  की वजह से जाना जाता है. इस वक्त ये देश अकाल जैसी स्थिति से जूझ रहा है, फिर भी यहां के तानाशाह को इस बात की चिंता ज्यादा है कि जनता उसके फैशन सेंस को कॉपी कर ले. ताज़ा नियम के तहत उत्तर कोरिया में आम लोगों के लिए लेदर की जैकेट पहनना बैन किया जा चुका है.
    
उत्तर कोरिया का नाम आते ही दिमाग में वे सारे अजीबोगरीब नियम-कानून  आने लगते हैं, जो दुनिया के किसी और देश में नहीं मिलते हैं. वहां के लोगों को भले ही ये किसी के सामने कहने की आज़ादी न हो लेकिन ये बात सभी जानते हैं कि जिन लोगों को अपनी पसंद के कपड़े पहनने की भी आज़ादी न हो, उनकी मनोदशा क्या होगी. हाल ही में उत्तर कोरिया के लोगों के लेदर जैकेट पहनने पर पाबंदी लगाई गई है.

इस देश में अब लंबी लेदर ट्रेंच कोट्स  की न तो बिक्री होगी और न ही इन्हें कोई भी शख्स खरीदकर पहन सकेगा. इस देश में चीन से बहुत सारी लेदर कोट्स इम्पोर्ट करके मंगाई जा रही थीं. आम लोग इस तरह की कोट को पसंद भी कर रहे थे

उत्तर कोरिया के मुखिया किम जोंग उन ने साल 2019 में एक कार्यक्रम में लेदर का काले रंग का ट्रेंच कोट पहना हुआ था. इस कार्यक्रम की फुटेज को वहां के नेशनल टेलीविज़न में भी दिखाया गया था. किम और उनके साथियों की ये स्टाइल देखने के बाद नॉर्थ कोरिया में तमाम लोगों को ऐसे कोट पसंद आने लगे. इन्हें चीन से बड़ी संख्या में मंगाया जाने लगा. इसी बीच नॉर्थ कोरिया की ओर से आधिकारिक तौर पर कहा गया है कि अब लोग इस तरह के कोट नहीं पहन सकेंगे ऐसे कोट पहनना किम जोंग उन की कॉपी करने जैसा है और ये उनका अपमान है. यही वजह है कि यहां के आम लोगों अब लेदर जैकेट पहनना नसीब नहीं होगा.

रेडियो फ्री एशिया से बात करते हुए प्योंगसॉन्ग के एक नागरिक ने बताया कि इसी साल किम जोंग उन की बहन ने भी इस तरह की लेदर ट्रेंच कोट पहनी थी. इसके अलावा नॉर्थ कोरिया के कई पावरफुल लोगों के स्टाइल में ये कोट शुमार है. ऐसे में इसे देश के शक्तिशाली लोगों का संकेत मान लिया गया. हालांकि देश के मार्केटप्लेस पर इस तरह की डिज़ाइन के सिंथेटिक लेदर कोट भी मिल रहे थे. जिसे देखते हुए नया नियम बनाया गया और ऐसे कोट के विक्रेताओं और इन्हें पहनने पर पाबंदी लगा दी गई. सरकार के इस निर्णय से वहां के युवा खासे नाराज़ हैं, क्योंकि उन्हें फैशनेबल कपड़ों के तौर पर ये पसंद था.

FROM AROUND THE WEB