सामाजिक बहिष्कार से पीड़ित ने लगाई मदद को गुहार

जलीला खातून ने गुरुवार को प्रेस क्लब पहुंचकर मीडिया से गुहार लगाई
 
 सामाजिक बहिष्कार से पीड़ित ने लगाई मदद को गुहार
आसपास के लोग से बातचीत करने पर 5000 का जुर्माना वसूला जाता है

धनबाद/झारखंड

झरिया थाना अंतर्गत ऊपर कुल्ही निवासी जलीला खातून ने गुरुवार को प्रेस क्लब पहुंचकर मीडिया से गुहार लगाई और कहा इस्लाहिया कमेटी शेख बिरादरी झरिया पंचायत द्वारा किए गए सामाजिक बहिष्कार से मुक्ति दिलाया जाए।
 
मामले में पीड़िता जलीला खातून ने बताया कि झरिया के इस्लाहिया कमेटी शेख बिरादरी ने उसके बेटे के अंतरजातीय विवाह होने के बाद पंचायत कर सामाजिक रूप से बहिष्कार कर दिया है। जिसके बाद आसपास के लोग से बातचीत करने पर 5000 का जुर्माना वसूला जाता है। वही पंचायत के ही लोग दबंगता पूर्वक उनके जमीन पर बन रहे प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास का निर्माण रोक रहे हैं। आपत्ति जताने पर मारपीट व गाली-गलौज जैसी घटना को अंजाम देते हैं। ऐसे में वह लोग अक्टूबर माह में न्यायालय की शरण में गए। जहां सीपी केस भी दर्ज कराया गया।
 
पीड़िता ने बताया कि उनके दोनों बेटे नौकरी के काम से बाहर रहते हैं। जबकि वह लोग ऊपर कुल्ही में सिर्फ महिलाएं ही रहती हैं। जिसके वजह से वह लोग भयभीत रहते हैं। क्योंकि पंचायत के मो आलम, शेख इरफान, शेख  फहीम, शेख वसीम, शेख सफी अहमद समेत कई लोग अक्सर उनके घर पर आकर गाली गलौज व धमकी देने का काम कर रहे है। हाल ही में 26 अक्टूबर को पीड़ित को नामजद लोगों ने घर में आकर मारपीट की घटना को भी अंजाम दिया था। इसलिए उनके परिवार को सुरक्षा देते हुए पंचायत के सामाजिक बहिष्कार के फैसले को रद्द कर उन्हें आजादी से रहने की सुविधा मुहैया कराई जाए।

FROM AROUND THE WEB