सवारी साधन नहीं चलने की वजह से नेपालगंज के 4 दर्जन होटल हुए बंद

दर्जन से अधिक होटल बंद ही हो गए और कई बंद होने की कगार पर है ।
 
सवारी साधन नहीं चलने की वजह से नेपालगंज के 4 दर्जन होटल हुए बंद
बॉर्डर से सवारी साधन नहीं चलने से सीधा असर होटल कारोबार पर पड़ा है 

स्वतंत्र प्रभात 

रूपईडीहा बहराइच

कोरोना वायरस महामारी के चलते बॉर्डर सील होने की वजह से बांके में करीब चार दर्जन होटल व्यवसाय बंद हो गए हैं । लंबे समय से प्रतिबंधों के कारण छोटे और मध्यम आकार के होटलों पर इसका असर साफ देखने को मिल रहा है । होटल एंटरप्रेन्योर्स एसोसिएशन बांके के अध्यक्ष भीम कंदेल ने कहा कि के लंबे अंतराल से बॉर्डर सील होने की वजह से अब पैदल आवागमन में छूट देने बावजूद भी होटल व्यवसाय प्रभावित हैं। उन्होंने कहा कि हर प्रकार के प्रयत्नों के बाद भी नेपालगंज उपमहानगर में 1,500 होटल में से 4 दर्जन से अधिक होटल बंद ही हो गए और कई बंद होने की कगार पर है ।

होटल बंद होने से उसके कर्मचारी विस्थापित हो गए और बेरोजगार हो गए।  उनका कहना है कि उन्हें इस बात की चिंता सता रही है कि बैंक का कर्ज कैसे चुकाया जाए और घर कैसे चलाया जाए। मानसरोवर की यात्रा करने वाले हजारों की संख्या में भारतीय पर्यटक वाहनों का इस्तेमाल करते हुए सड़कों के जरिए इंडो नेपाल बॉर्डर से नेपालगंज में प्रवेश करते थे लेकिन बॉर्डर से सवारी साधन नहीं चलने से सीधा असर होटल कारोबार पर पड़ा है 

FROM AROUND THE WEB