आगरा रीजन में लूट करने का अलग तरीका सामने आया

अपार्टमेंट और कोठी में संबंध बनाने के लिए पहुंच जाते थे, इसके बाद लूट करते थे
 
अपार्टमेंट और कोठी में संबंध बनाने के लिए पहुंच जाते थे, इसके बाद लूट करते थे

स्वतंत्र प्रभात-

अमित राघव (ब्यूरो चीफ आगरा मंडल)

आगरा रीजन में लूट करने का अलग तरीका सामने आया है, गे समलैंगिक संबंध के लिए आफर देते थे। अपार्टमेंट और कोठी में संबंध बनाने के लिए पहुंच जाते थे, इसके बाद लूट करते थे।

मथुरा के वृन्दावन स्थित एक अपार्टमेंट में रहने वाले व्यक्ति के घर में छह मार्च को समलैगिंक संबंध का आफर देकर लूट करने वाला गिरोह पहुंचा। एक युवक घर में गया, उसने घर में अकेला देख उसकी पिटाई की, अपने साथियों को बुला लिया। बैंक से 57 हजार रुपये अपने एकाउंट में ट्रांसफर करा लिए। पेटीएम वायलेट से 20 हजार रुपये ले लिए। इस मामले में पुलिस ने जांच शुरू की।है, गे समलैंगिक संबंध के लिए आफर देते थे। अपार्टमेंट और कोठी में संबंध बनाने के लिए पहुंच जाते थे, इसके बाद लूट करते थे।

इंटरस्टेट रैकेट के एक सदस्य को पकड़ा

वृन्दावन कोतवाली के प्रभारी अजय कौशल ने बताया कि इंटरस्टेट गिरोह के सदस्य सागर तिवारी निवासी शिकारपुर बुलंदशहर हाल निवासी थाना बीटा टू नोएडा को अरेस्ट कर लिया है। उसका साथी अजय शर्मा निवासी शिकारपुर बुलंदशहर और उसका भाई राजकुमार शर्मा उर्फ राजू और राहुल सैनी निवासी शिकारपुर बुलंदशहर फरार हैं।

इस तरह करते थे लूट

पुलिस ने बताया कि गिरोह के सदस्यों ने ग्राइंडर एप पर अपनी प्रोफाइल बना रखी थी, इस एप पर समलैगिंक संबंध बनाने के लिए संपर्क करते हैं, संबंध बनाने के लिए गिरोह के सदस्यों ने अपने रेट भी एप पर दर्ज कर दिए थे। लोग संपर्क करते थे, उनसे पैमेंट लेने के बाद गिरोह का सदस्य समलैंगिक संबंध बनाने के लिए घर पहुंचता था। अपार्टमेंट और कोठी में पहुंचने के बाद गिरोह का सदस्य अपने साथियों को बुला लेता था। इसके बाद उसके साथ मारपीट करते थे, उसका वीडियो बना लेते थे और लूट करते थे। कैश के साथ ही कीमती सामान ले जाते थे। पीड़ित व्यक्ति लोक लाज के कारण कहीं शिकायत नहीं करता था।

www.swatantraprabhat.com

FROM AROUND THE WEB