मां सिद्धिदात्री शक्तिपीठ मंदिर प्रांगण में किया गया मां भगवती के 17 वें जागरण का भव्य आयोजन

भगवती के 17वें जागरण में विशाल जवाबी कीर्तन का भव्य आयोजन किया गया। 
 
भगवती के 17वें जागरण में विशाल जवाबी कीर्तन का भव्य आयोजन किया गया। 

 स्वतंत्र प्रभात 
 

शिवगढ़,रायबरेली। शिवगढ़ क्षेत्र के बांदा-बहराइच हाईवे पर स्थित गीता फिलिंग स्टेशन अहलादगढ़ प्रांगण में स्थापित मां सिद्धिदात्री शक्तिपीठ मन्दिर प्रांगण में गत वर्षो की भांति मां भगवती के 17वें जागरण में विशाल जवाबी कीर्तन का भव्य आयोजन किया गया। 


जिसमें कानपुर के मशहूर कीर्तनकार शम्भू हलचल व राजधानी लखनऊ की मशहूर कीर्तनकारा रोशनी अन्जान के मध्य कांटे की टक्कर देखने को मिली। रात भर दोनो कलाकारों के मध्य विभिन्न गीतों और ज्ञानवर्धक प्रसंगों पर काट - छांट चलती रही सुबह निर्णायक मण्डल ने दोनों कलाकारों को बराबरी की उपाधि देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित बैंक ऑफ बड़ौदा शाखा बेड़ारु के शाखा प्रबन्धक असेन्द्र पटेल द्वारा महामाई की आरती एवं

 मां सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं द्वीप प्रज्ज्वलन से किया गया। वहीं मां सिद्धिदात्री शक्तिपीठ मन्दिर में आचार्य पंडित बृजेंद्र शुक्ला,विनोद दास द्वारा मंत्रोच्चारण के साथ हवन पूजन एवं महामाई की आरती कराई गई। जिसके बाद शुरु हुए जवाबी कीर्तन में लेडीफर्स्ट के क्रम में राजधानी लखनऊ की मशहूर कीर्तनकारा रोशनी अन्जान ने पहला गीत "पतझड़ और बहार में मिलती,स्वर के हर एक ताल में मिलती,स्वर में रमती मां वरदायिनी हो गाकर समा बांध दी।

 वहीं दूसरा गीत "कमल के द्वारा पूजन होगा तब पाओगी रघुकुल कमल,कमल से सुशोभित जिनका तन है उनकी पूजा से पाओगी रघुकुल कमल। सवाल जबाब में शम्भू हलचल ने गाया जिसे लोगों द्वारा बहुत सराहा गया। शम्भू हलचल ने गणेश वंदना के साथ गीतों का शुभारम्भ किया,जिन्होने पुष्प कमल के जवाब में गाया" कमल पुष्प से श्रीअनुपालन करते हैं,रघुकुल कमल। प्रथम दिवस में रक्त कमल है दूजे दिवस में श्वेत कमल" गीत गाकर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया


 और किस दिन किस रंग के कमल से पूजा करने से क्या लाभ मिलता है का विस्तार से इसका वर्णन किया। पूरी रात चले सवालों- जबाबों से से हजारों की संख्या में मौजूद श्रोता रात भर टस से मस नही हुए। प्रातः दोनों कलाकारों को निर्णायक मण्डल द्वारा बराबर की उपाधि दी गई। 


कार्यक्रम के आयोजक एवं गीता फिलिंग स्टेशन के मालिक व मां सिद्धिदात्री शक्तिपीठ के संस्थापक सुशील कुमार वैश्य व उनके पिता राधिका प्रसाद वैश्य, गीता फिलिंग स्टेशन के मैनेजर राजेश कुमार पांडेय ने दोनों कलाकारों को संयुक्त रुप से ट्राफी एवं नगद धनराशि देकर सम्मानित किया गया। 


इस मौके पर उत्कर्ष ऑटोमोबाइल के मालिक दिनेश शुक्ला, राजबहादुर, दिनेश कुमार तिवारी, अमरेश बहादुर के साथ ही निर्णायक मण्डल में रामविलास शुक्ला,चंद्रोदय सिंह,हरकेश सिंह, संतबक्श सिंह,जितेंद्र बहादुर सिंह सहित हजारों की संख्या में लोग मौजूद रहे। कार्यक्रम का सफल संचालन शिवराज सिंह चौहान उर्फ ललन सिंह द्वारा किया गया है।

FROM AROUND THE WEB