संचारी रोगों के नियंत्रण एवं रोकथाम हेतु 18 अक्टूबर से 17 नवंबर तक चलेगा संचारी रोग नियंत्रण अभियान

संचारी रोग नियंत्रण अभियान एवं दस्तक अभियान के सफल क्रियान्वयन के संबंध में जिलाधिकारी की अध्यक्षता में वर्चुअल
 
अंतर्विभागीय समन्वय बैठक संपन्न, जिलाधिकारी द्वारा संबंधित विभागों के अधिकारियों को दिये गये आवश्यक दिशा-निर्देश

अंतर्विभागीय समन्वय बैठक संपन्न, जिलाधिकारी द्वारा संबंधित विभागों के अधिकारियों को दिये गये आवश्यक दिशा-निर्देश


स्वतंत्र प्रभात

बलरामपुर संचारी रोगों तथा दिमाग की बुखार पर प्रभावी नियंत्रण तथा इनका त्वरित व सही उपचार हेतु जनपद में 18 अक्टूबर से 17 नवंबर तक संचारी रोग नियंत्रण अभियान एवं 18 अक्टूबर से 1 नवंबर तक दस्तक अभियान का तृतीय चरण संचालित किया जाएगा, संचारी रोगों तथा दिमाग की बुखार पर सफलतापूर्वक नियंत्रण पाने के लिए 11 विभागों चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, नगर विकास विभाग, पंचायती राज विभाग,


 ग्राम्य विकास विभाग, पशुपालन विभाग, बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग, शिक्षा विभाग, चिकित्सा शिक्षा विभाग, दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग, कृषि एवं सिंचाई विभाग, उद्यान विभाग को विभिन्न जिम्मेदारियां सौंपी गई है,यह जानकारी जिलाधिकारी श्रुति की अध्यक्षता में आयोजित वर्चुअल अंतर्विभागीय समन्वय बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ सुशील कुमार द्वारा दी गई।


उन्होंने कहा कि 18 अक्टूबर से 17 नवंबर तक चलने वाले विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान के अंतर्गत चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग को नोडल विभाग बनाया गया है, चिकित्सा विभाग द्वारा संचारी रोगों एवं दिमाग की बुखार केसेस की निगरानी की जाएगी।फ्रंटलाइन वर्कर से द्वारा उपलब्ध कराई गई लक्षण युक्त व्यक्तियों की सूची तैयार की जाएगी। नगर विकास विभाग द्वारा शहरी क्षेत्रों में खुली नालियों को ढकने की व्यवस्था, फागिंग, शुद्ध पेयजल की उपलब्धता, जलभराव, शहरी मलिन बस्तियों की साफ-सफाई एवं लोगों को स्वच्छता के प्रति संवेदीकरण की कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी।

 पंचायती राज विभाग द्वारा ग्राम स्तर पर साफ-सफाई, हाथ धोना, शौचालय की सफाई,घर से जल निकासी हेतु व्यापक प्रचार प्रसार किया जाएगा। ग्राम पंचायत स्तर पर ग्राम प्रधान अभियान के नोडल होंगे। ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम निगरानी समितियां कोविड-19 तथा संचारी रोगों के विषय में निरंतर जागरूकता स्थापित करेंगे। ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को शुद्ध पेयजल के प्रयोग के बारे में जागरूक किया जाएगा।

पशुपालन विभाग द्वारा सूकर पालकों को अन्य व्यवसाय जैसे पोल्ट्री उद्योग को अपनाने आदि के संबंध में जागरूक किया जाएगा। शिक्षा विभाग द्वारा विद्यालयों में संचारी रोग से बचाव के संबंध में विद्यालयों में प्रतियोगिता कराई जाएगी एवं शिक्षकों द्वारा छात्रों को जागरूक किया जाएगा।


मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि अभियान के सफल क्रियान्वयन के संबंध में समस्त उपजिलाधिकारी की अध्यक्षता में तहसील स्तरीय टास्क फोर्स व ब्लॉक स्तरीय टास्क फोर्स का गठन किया गया है। सभी तहसीलों एवं विकास खंडों में तहसील स्तरीय टास्क फोर्स का ब्लॉक स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक संपन्न हो गई हैं।बैठक में जिलाधिकारी श्रुति द्वारा सभी विभागों को माइक्रोप्लान नोडल विभाग चिकित्सा विभाग को उपलब्ध कराए जाने का निर्देश दिया गया।

 जिलाधिकारी ने कहा कि तहसील स्तरीय टास्क फोर्स व विकासखंड स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक के समय पर हो जाएं। सभी विभागों के अधिकारी आपस में समन्वय बनाकर कार्य करें। तहसील स्तर व ब्लॉक स्तर पर संचारी रोग नियंत्रण अभियान के अंतर्गत विभिन्न गतिविधियों का प्रभावी अनुश्ररण सभी प्रभारी चिकित्साधिकारी व खंड विकास अधिकारी सुनिश्चित करेंगे। 

संचारी रोग नियंत्रण अभियान एवं दस्तक अभियान के अंतर्गत फ्रंटलाइन वर्कर एवं स्वास्थ्य कार्यकर्ता डोर टू डोर जाकर संचारी रोगों से बचाव की जानकारी देना सुनिश्चित करेंगे।वर्चुअल बैठक में अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ एके सिंघल, समस्त उप जिलाधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी, समस्त प्रभारी चिकित्सा अधिकारी, समस्त खंड विकास अधिकारी व अन्य संबंधित अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।
 

FROM AROUND THE WEB