हिन्दी प्रेम मिलन व सौहार्द की भाषा है रीना सिंह

 
स्वतंत्र प्रभात

स्वतंत्र प्रभात 

देवरिया। जन संघ सेवक मंच की राष्ट्रीय अध्यक्ष व भाजपा की वरिष्ठ नेत्री रीना सिंह ने हिन्दी दिवस पर कहा कि हिन्दी प्रेम,सौहार्द व मिलन की भाषा है।दुनिया मे सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषाओं में हिन्दी का दूसरा स्थान है। विश्व की दूसरी सबसे बड़ी भाषा है हिन्दी। चीनी भाषा के बाद यह विश्व व अन्य देशों में 60 करोड़ से अधिक लोग हिन्दी बोलते, पढ़ते और लिखते हैं। इतना ही नहीं फ़िजी, मॉरीशस, गुयाना, सूरीनाम जैसे दूसरे देशों की अधिकतर जनता हिन्दी बोलती है।

भारत से सटे नेपाल की भी कुछ जनता हिन्दी बोलती है। आज हिन्दी राजभाषा, सम्पर्क भाषा, जनभाषा के सोपानों को पार कर विश्वभाषा बनने की ओर अग्रसर है। हिन्दी भाषा प्रेम, मिलन और सौहार्द की भाषा है। यह मुख्यरूप से आर्यों और पारसियों की देन है। हिन्दी के ज्यादातर शब्द संस्कृत,अरबी और फारसी भाषा से लिए गए हैं। 

FROM AROUND THE WEB