हिंदी दिवस भाषण में शिल्पी तिवारी ने मारी बाजी सरोज शर्मा द्वितीय आदित्य रहे तृतीय

वीरभूमि महाविद्यालय में एबीवीपी के बैनर तले मनाया गया हिंदी दिवस
 
स्वतंत्र प्रभात
हिंदी अनुभूति और संवेदना को व्यक्त करने का  सशक्त माध्यम है डॉ संतोष पांडेय

स्वतंत्र प्रभात 

 

 महोबा । 
वीरभूमि राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय के सभागार मे प्राचार्य लेफ्टिनेंट प्रो सुशील बाबू के निर्देशन पर हिंदी विभागाध्यक्ष डॉ संतोष कुमार पांडेय के संयोजकत्व मे हिंदी दिवस के अवसर पर भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें प्रथम स्थान शिल्पी तिवारी द्वितीय स्थान सरोज शर्मा तथा तृतीय स्थान आदित्य निगम ने प्राप्त किया सांत्वना पुरस्कार के रुप में हिमांशु कश्यप एवं भरत सिंह ने स्थान बनाया प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में
महाविद्यालय के प्राध्यापक डॉ एसएस राजपूत डॉ  सोवित कुमार गुप्ता डॉ डी के खरे रहे। आजादी का अमृत महोत्सव पर एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने प्रतियोगिता में स्थान प्राप्त प्रतिभागियों को स्मृति चिन्ह भेंट किया प्रतियोगिता में स्थान प्राप्त प्रतिभागियों को पुरस्कृत करते हुए हिंदी विभाग के विभागाध्यक्ष एवं राष्ट्रीय सेवा योजना के जनपदीय नोडल अधिकारी डॉ संतोष कुमार पांडेय ने कहा की हिंदी संस्कार की भाषा है हिंदी का शब्द भंडार विभिन्न बोलियों से मिलकर बना है
इसलिए स्वाभाविक तौर पर बृहद शब्द भंडार है हिंदी अनुभूति और संवेदना को व्यक्त करने का सशक्त माध्यम है हमारी संस्कृति को व्यक्त करती है हिंदी भाषा मुहावरों का अनुवाद नहीं हो सकता क्योंकि यह लोक परंपरा से जुड़ी होते हैं लोक परंपराओं की अभिव्यक्ति मातृभाषा में ही हो सकती है तथा उन्होंने कहा कि हिंदी वैश्विक भाषा बनने की तरफ अग्रसर है। महाविद्यालय के प्राध्यापक डॉ महेंद्र कुमार डॉ एल सी अनुरागी ने भी हिंदी के महत्व को रेखांकित करते हुए कहा कि हिंदी भाषा के विकास के साथ राफ्ट पुनः विश्व गुरु का गौरव प्राप्त कर सकता है
प्राध्यापक डॉ सोवित गुप्ता ने हिंदी के विकास पर कविता का वाचन कर सभी को हिंदी के प्रचार प्रसार में योगदान के लिए प्रेरित किया। कार्यक्रम में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के पदाधिकारी हिमांशु कश्यप का विशेष योगदान रहा इस अवसर पर एबीवीपी के कार्यकर्ता छात्र-छात्राएं तथा महाविद्यालय परिवार के प्रो मधुबाला सरोजिनी , डॉ केसी वर्मा ,डॉ प्रदीप कुमार ,डॉ बृजेश सिंह ,डॉ अनवर आलम, श्रीमती हेमलता छात्र धीरज सोनी ,मनीष सोनी ,श्री चंद्र देशराज आदि मौजूद रहे।

FROM AROUND THE WEB