डीही राजवाहा के पुनस्र्थापना शिलान्यास एवं टोंस पम्प नहर के आधुनिकीकरण परियोजना का किया लोकार्पण

कार्य की परियोजना का भूमि पूजन करते हुए शिलान्यास किया
 
डीही राजवाहा के पुनस्र्थापना शिलान्यास एवं टोंस पम्प नहर के आधुनिकीकरण परियोजना का किया लोकार्पण
गांव-गांव को सड़कों से जोड़ने का कार्य ,हर खेत तक पानी पहुंचाने का कार्य  प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में हो रहा है

 प्रयागराज

जल शक्ति विभाग, सिंचाई एवं जल संसाधन, बाढ़ नियंत्रण, लघु सिंचाई, नमामि गंगे एवं ग्रामीण जलापूर्ति विभाग,  के मंत्रीडाॅ0 महेन्द्र सिंह मंगलवार को मेजा तहसील के ग्राम डिगलो में डीही राजवाहा के पुनस्र्थापना के कार्य की परियोजना का शिलान्यास एवं बारा तहसील के ग्राम गौरा में टोंस पम्प नहर के आधुनिकीकरण परियोजना के कार्य का लोकार्पण किया।

मंत्री ने ग्राम डिगलों में डीही राजवाहा के पुनंस्र्थापना के कार्य की परियोजना का भूमि पूजन करते हुए शिलान्यास किया। परियोजना की लागत 928.56 लाख रूपये है। इस अवसर पर जल मंत्री  ने अपने सम्बोधन में कहा कि इस परियोजना के कार्य के पूरा हो जाने से 5 गांवों के लगभग दो हजार कृषकों को लाभ पहुंचेगा। इस परियोजना से 3017 हेक्टेयर भूमि की सिंचाई की जा सकेगी। उन्होने  कहा कि यह परियोजना पिछले 30 वर्षो से बंद पड़ी थी।

 पूर्ववर्ती सरकारों ने कभी इस परियोजना को शुरू कराने की ओर ध्यान नहीं दिया था।  मुख्यमंत्री योगी जी के नेतृत्व में ही यह सम्भव हो पाया कि इतने वर्षों से बंद पड़ी परियोजना का फिर से शुरू कराने के कार्य के आज शिलान्यास करने का अवसर प्राप्त हो रहा है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ का यह सपना रहा है कि किसानों के खेतों में पानी पहुंचे व उनकी आय में वृद्धि हो। इसी सोच के साथ लगातार कार्य करते हुए आज भारत देश अग्रणी देशों की सूची में शामिल है, तेजी के साथ भारत का विकास हर क्षेत्र में हो रहा है ।गांव-गांव को सड़कों से जोड़ने का कार्य  पूर्व प्रधानमंत्री स्व0 श्री अटल बिहारी वाजपेयी ने किया था और हर खेत तक पानी पहुंचाने का कार्य  प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में हो रहा है।

सरकार लगातार किसानों के हित में कार्य कर रही है, जिसका बड़ा उदाहरण है प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोई भी नहर अब सूखी नहीं रहेगी। सभी नहरों में भरपूर पानी की उपलब्धता रहेगी, इससे किसानों को सिंचाई के लिए परेशान होने की जरूरत नहीं रहेगी। साथ ही वाटर रिचार्जिंग में भी इसका योगदान होगा।

मंत्री  ने कहा कि पहले प्रदेश ने बड़ी-बड़ी बाढ़ों की विभीषिका को झेला है, लेकिन  मुख्यमंत्री जी की नीतियों एवं दृढ़संकल्प से आज बाढ़ की विभीषिका से छूटकारा मिला है। उन्होंने वहां उपस्थित लोगो से आह्वाहन करते हुए कहा कि जल को बचाना है, पेड़ लगाना है, कुओं का पुनरूद्धार करें, उसे पाटे नहीं। उन्होंने कहा कि आपके गांव तक हर घर में पाइप लाइन के द्वारा पीने का शुद्ध पानी पहुंचाया जायेगा। हर गांव में पानी की टंकी का निर्माण कराया जाय।

बारा तहसील के ग्राम गौरा में टोंस पम्प नहर के आधुनिकीकरण परियोजना के कार्य का लोकार्पण किया गया। इस अवसर पर मंजी ने कहा कि सरकार द्वारा पम्प की छमता में वृद्धि करके इसे 12 पम्पों का कर दिया गया है, जिससे इसकी क्षमता में वृद्धि हुई है। इस पम्प से 600 क्यूसेक पानी पूरी रफ्तार से आयेगा, ऐसा होने से पूरी क्षमता के साथ नहरों व उसके सहायक नहरों पर पानी पहुंचेगा,

जिससे किसानों को फसल की सिंचाई मेें परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। अब पर्याप्त मात्रा में बारा क्षेत्र के किसानों को सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध रहेगा। सरकार के द्वारा लगातार तालाबों की खुदायी व उनकों पानी से भरने का कार्य किया जा रहा है साथ ही मृतप्राय हो चुकी नदियों को पुर्नजीवित करने का कार्य किया जा रहा है। पहले की सरकारों के समय चालू कितने नल, पम्प, तालाब व नहरों का अस्तिव खत्म हो गया, इस पर उन्होंने कभी ध्यान ही नहीं दिया है। हमारी सरकार ने आज सभी नहरों, तालाबों व बंद पड़े नहरों का पुनरूद्धार कर उन्हें चालू कराया जा रहा है। कहा कि गांव स्मार्ट होगा तभी नये भारत का निर्माण होगा।

सांसद रीता बहुगुणा जोशी ने अपने सम्बोधन में मंत्री का स्वागत करते हुए उनका आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि उनके संसदीय क्षेत्र में वर्षों से लम्बित जल से सम्बंधित परियोजनाओं के शिलान्यास व लोकार्पण से क्षेत्र के किसानों की समस्याओं का समाधान हुआ है। इस अवसर पर विधायक कोरांव राजमणि कोल, विधायक बारा अजय कुमार सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण एवं सम्बंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

FROM AROUND THE WEB