गोरखपुर में छात्र को पीट-पिटकर हत्या , सनसनी

17 वर्षीय छात्र की पीट-पीटकर और चाकू से गोदकर हत्या की घटना को अंजाम दिया
 
 गोरखपुर में छात्र को पीट-पिटकर हत्या , सनसनी
गोरखनाथ थाना क्षेत्र में कुछ युवकों ने एक युवक के को गोली मारी थी,पुलिस मामले को संदिग्ध मान रही है।

गोरखपुर में अपराधियों के हौसले लगातार बुलंद होते जा रहे हैं। लगातार घटनाओं का सिलसिला जारी है विगत 2 दिन पहले बड़हलगंज थाना क्षेत्र में एक महिला की अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर हत्या की घटना को अंजाम देकर फरार हो गए थे। मंगलवार को गोरखनाथ थाना क्षेत्र में कुछ युवकों ने एक युवक के को गोली मारी थी।पुलिस मामले को संदिग्ध मान रही है।

यह मामला ठंडा भी नहीं हुआ था कि आज फिर एक बार गोरखपुर में अपराधियों ने पुलिस को चुनौती दी रामगढ़ ताल थाना क्षेत्र के रामपुर के रहने वाले 17 वर्षीय छात्र की पीट-पीटकर और चाकू से गोदकर हत्या की घटना को अंजाम दिया गया बता दें कि गोरखपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा प्रत्येक बुधवार पुलिस अधिकारी आपके द्वार का कार्यक्रम किया जा रहा है जिसके तहत थानों पर सुबह 11:00 बजे से लेकर रात्रि तक अधिकारी प्रवास करेंगे और चौपाल लगाकर फरियादियों की फरियाद सुन उनके निस्तारण का प्रयास करेंगे। बावजूद इसके रामगढ़ ताल थाने में चौपाल के अंतर्गत क्षेत्राधिकारी कैंट फरियादियों की फरियाद सुन रहे थे

वहीं दूसरी तरफ बदमाशों ने एक 17 वर्षीय छात्र की बेरहमी से हत्या कर पुलिस को खुला खुली चुनौती दे डाली।जानकारी के अनुसार रामगढ़ताल थाना क्षेत्र के रामपुर गांव में 17 वर्षीय छात्र अंकुर की पीटकर व चाकू मारकर हत्या का मामला सामने आया है।

हत्या का आरोप गाँव के ही युवकों पर लगा है ।मृतक के भाई राहुल ने बताया कि कुछ दिनों पूर्व गाँव के ही कुछ युवकों से विवाद हो गया था जिसमे समझौता भी हो चुका था।बावजूद इसके आज जब अंकुर सब्जी लेकर घर आ रहा था तो रास्ते मे उसको घेरकर मनीष व जयहिंद समेत अन्य लोगो ने चाकू मारकर व इट से कुंच कर उसकी हत्या कर दी।फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

घटना के संबंध में एसएसपी ने बताया कि मृतक के परिजनों की तहरीर पर पुलिस मुकदमा दर्ज कर मामले की छानबीन में जुट गई है परिजनों से मिली जानकारी के अनुसार इनका पहले से विवाद चल रहा है पुलिस सभी पहलुओं पर जांच पड़ताल कर रही है जल्द ही अपराधी पुलिस की पकड़ में होंगे।

रास्ते में रोककर छात्रा का खींचा फोटो,  छात्रा ने डरकर छोड़ी परीक्षा
  • दस दिन बाद भी पुलिस ने नहीं दर्ज किया मुकदमा, एसएसपी व डीजीपी को लिखा पत्र
  • दो बार पुलिस ले चुकी बयान, आरोपित का पहले भी हो चुका पाक्सो एक्ट में चालान

 गोरखपुर जनपद के गोला थाना क्षेत्र के एक गांव की एक नाबालिग छात्रा का कालेज जाते समय रास्ते में रोककर फोटो खींच लिया और फोटो को वायरल करने की धमकी दे दिया। आरोपितों के डर से छात्रा ने परीक्षा छोड़ दिया। वह विगत दस दिनों से थाने का चक्कर लगा रही है। पुलिस ने उसका दो बार बयान भी लिया लेकिन मुकदमा पंजीकृत नहीं हुआ। पीड़िता ने सीओ, एसएसपी सहित पुलिस महानिदेशक को पत्र भेजकर न्याय की गुहार लगाया है।

पीड़िता ने पत्र में लिखा है कि मैं अपने गांव के पास स्थित एक कालेज में हाईस्कूल की छात्रा हूं। बीते 15 नवंबर को कालेज जाते समय बगल के गांव के पास गांव का ही एक युवक दूसरे गांव के युवक के साथ मिलकर मुझे पकड़ लिया और मेरा हाथ पकड़कर खींचने लगा। इसी दौरान उन्होंने मेरा फोटो भी खींच लिया। जब मैंने शोर मचाया तो वे लोग भाग गए। मैं रोते हुए कालेज पहुंची तो शिक्षक ने पूरी घटना जानने के बाद मेरे परिवार के लोगों को बुलाया।

उसके बाद मैं थाने का चक्कर काट रही हूं और पुलिस मेरा दो बार बयान भी ले चुकी है। दूसरी ओर आरोपित तहरीर वापस लेने के लिए लगातार इंटरनेट मीडिया पर वायरल करने की धमकी दे रहे हैं। उसमें से दूसरे गांव का युवक शातिर अपराधी है और वह पाक्सो एक्ट में जेल जा चुका है। उनके डर से मैंने विद्यालय की परीक्षा छोड़ दिया है। इस संबंध में पुलिस अधीक्षक दक्षिणी अरूण कुमार सिंह का कहना है कि मुझे मामले की जानकारी नहीं है। पता करवाता  हूँ ।

FROM AROUND THE WEB