संत श्री प्रेम भूषण जी महाराज के प्रथम आगमन पर खैराबाद टोल प्लाजा पर किया गया भव्य स्वागत

श्री रामलीला मैदान पक्का ताल प्रांगण में श्री राम कथा महोत्सव का आयोजन
 
संत श्री प्रेम भूषण जी महाराज के प्रथम आगमन पर खैराबाद टोल प्लाजा पर किया गया भव्य स्वागत
हजारों श्रोता राम कथा का श्रवण कर अपने जीवन को धन्य बनाएंगे

लहरपुर सीतापुर। लहरपुर नगर में श्री रामलीला मैदान पक्का ताल प्रांगण में श्री राम कथा महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें प्रेम मूर्ति पूज्य संत श्री प्रेम भूषण जी महाराज के श्री मुख से श्री राम कथा रूपी अमृत का पान करने हेतु क्षेत्र के हजारों श्रोता राम कथा का श्रवण कर अपने जीवन को धन्य बनाएंगे।

 उनके लहरपुर प्रथम आगमन पर खैराबाद टोल प्लाजा पर भव्य स्वागत किया गया। श्री राम कथा महोत्सव आयोजक यजमान विशाल कपूर सहित क्षेत्रीय भाजपा विधायक सुनील वर्मा, ब्लाक प्रमुख उमाशंकर वर्मा पूर्व ब्लाक प्रमुख परमेश्वर भार्गव, हरीश रस्तोगी गोलू, उमेश मेहरोत्रा, राजेश्वर रस्तोगी, मनोज गुप्ता, भगवानदीन त्रिवेदी, प्रमोद बाजपेई, रामलखन वर्मा, अरुण सिंह आचार्य, रमानिकेत सिंह तोमर,रामू वर्मा दिलीप शुक्ला, विजेंद्र शुक्ला बीलू, पंकज यादव, मयंक टंडन, मिंटू गुप्ता, ओमेंद्र वर्मा, कन्हैया गुप्ता, अनुज मेहरोत्रा, मनीष शुक्ला, आशीष शुक्ला, अनिमेष श्रीवास्तव, प्रभात वर्मा, गौरव पुरी, महेंद्र अवस्थी, दीपू पांडेय, अभिनव त्रिवेदी, देशप्रीत सिंह, आकाश सिंह, जगतपाल वर्मा, ओंकार वर्मा आदि मौजूद रहे महाराज के भव्य स्वागत में 1 सैकड़ा से अधिक गाड़ियों का काफिला जब कसरैला चौराहा पहुंचा तो राहुल सिंह के नेतृत्व में उपस्थित हजारों क्षेत्रीय ग्रामीणों ने पुष्प वर्षा कर भव्य स्वागत किया। इसके पश्चात क्षेत्र के मेहंदी पुरवा चौराहे पर महाराज के स्वागत के लिए संजय शुक्ला, अखिलेश दीक्षित के संयोजन में सैकड़ों लोग पुष्प वर्षा कर जय श्री राम का उद्घोष करते हुए महाराज जी के स्वागत में तत्पर दिखे

जब यह काफिला नगर के प्रवेश द्वार पर पहुंचा रामकथा में तो राम कथा आयोजन में अपनी महती भूमिका निभा रहे पालिका अध्यक्ष मोहम्मद जास्मीन अंसारी व उनके नेतृत्व में सैकड़ों लोगों ने प्रवेश द्वार के ऊपर से पुष्प वर्षा कर ऐतिहासिक स्वागत कर नगर में गंगा जमुनी तहजीब की एक आदर्श मिसाल पेश की। गौरतलब है रामकथा के इस पावन आयोजन में जहां पूरा नगर पलक पावडे बिछाये दिखा वही सारे राजनीतिक लोग भी दलीय प्रतिबंधों को दरकिनार कर राममय दिखा। धर्म और आस्था से जुड़ा ऐसा सैलाब आज उमड़ा जहां मानव धर्म ही सर्वोपरि दिखा।

महिला पत्रकार को दबंगों द्वारा किया जा रहा प्रताड़ित पुलिस नहीं कर रही कोई कार्रवाई

रामपुर मथुरा सीतापुर। थाना रामपुर मथुरा इलाके की एक महिला पत्रकार को लगातार दबंगो द्वारा किया जा रहा प्रताड़ित। पुलिस बनी मूकदर्शक बताते चले कि कुछ दिन पूर्व पत्रकार सुनीता गौतम को कुछ दबंगो के द्वारा लगातार प्रताड़ित किया जा रहा है।

 बुधवार को सुनीता गौतम अपने बच्चों को स्कूल से लेकर लौट रही थी तभी गुरनाम अपनी चार पहिया वाहन से सुनीता गौतम को उड़ाने का प्रयाश करता है किसी तरह से सुनीता गौतम स्कूटी को नीचे उतार कर वहाँ से बच निकली उसके बाद उसने पुलिस की मद्दद लेनी चाही  हल्का इन्चार्ज को फोन किया

लेकिन उन्होंने फोन नही उठाया ये गुरुनाम वही है जिसके भाई जमुना वर्मा के खिलाफ महिला पत्रकार सुनीता गौतम ने बीते 3 अक्टूबर को मुकदमा दर्ज कराया था जिसके दो अन्य साथी, त्रिभुवन वर्मा, व अम्बर लगातार पीड़िता के ऊपर दबाव बनाने का प्रयाश करते चले आ रहे है

कही ऐसा न हो कि पुलिस की ढील के कारण महिला पत्रकार के साथ आरोपी किसी अप्रिय घटना को अंजाम न दे दे प्रशासन को जरूरत है इन लोगों पर लगाम लगाने की खबर लिखे जाने तक महिला पत्रकार ने ट्विटर के माध्यम से पुलिस अधीक्षक को पुरे घटना क्रम की जानकारी दी है।

झोलाछाप डॉक्टर छोड़ भागा मरीज को

महमूदाबाद सीतापुर जनपद सीतापुर तहसील महमूदाबाद के थाना थानगांव का मामला केवलिया के रहने वाले देशराज ने कुछ दिन पहले ही हाइड्रोसील का ऑपरेशन राजेंद्र झोलाछाप डॉक्टर के वहां करवाया था। जानकारी यहां तक मिली कि यह झोलाछाप डॉक्टर ₹10000 में ठेका लेकर हाइड्रोसील का ऑपरेशन करता है।और तो और ऑपरेशन रात के टाइम करता है और आगे से शटर बंद कर देता है पीछे से क्लीनिक में रास्ता है वहां से आवागमन रखता है

मौके पर पहुंचने पर पता चला कि देशराज नाम का मरीज हाइड्रोसील के टांके कटवाने राजेंद्र के क्लीनिक पर आया था टांके कटवाने के बाद कुछ दवा देने पर देशराज को काफी तेजी से दर्द उत्पन्न हुआ।लगभग 3:00 बजे के टाइम में देशराज की वहां पर मृत हो गई।

राजेंद्र जो क्लीनिक चलाता है वह अपनी इंजेक्शन नीडल और सारी दवाइयां उठा कर के साइड में पानी में फेक दिया और वहां से फरार हो गया इस तरह से झोलाछाप डॉक्टर आपको क्षेत्र में कई जगह मिल जाएंगे। सोचने वाली यह बात है कि प्रशासन की तरफ से भी कोई उचित कार्यवाही इन झोलाछाप डॉक्टरों पर नहीं की जा रही।

लाश को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया गया है अब देखना यह है कि प्रशासन की तरफ से इस तरह के झोलाछाप डाक्टरों पर क्या कार्रवाई होती है जो ठेका ले लेकर लोगों की दवा करते हैं।

FROM AROUND THE WEB