सरकारी तालाब पर भूमाफियाओं का कब्जा

 
सरकारी तालाब पर भूमाफियाओं  का कब्जा

 शिकायत करने के बावजूद भी मुक्त नहीं हुई तालाब की जमीन।

 स्वतंत्र प्रभात 
प्रयागराज ब्यूरो।

 ग्रामीण इलाकों में तालाब की भूमि भूमाफियाओं द्वारा अवैध तरीके से हल्का लेखपाल के संरक्षण मिलने पर कब्जा कर ली गई है वहीं मामले की शिकायत करने के बाद भी सरकारी तालाब पर दबंग भूमाफियाओं द्वारा किए गए अतिक्रमण को मुक्त नहीं कराया जा रहा है। 

हाईकोर्ट का आदेश पहले से ही जारी है कि सरकारी तालाब की जमीन पर किसी प्रकार का अतिक्रमण नहीं किया जाना चाहिए और यदि अतिक्रमण किया गया है तो उसे अविलंब अतिक्रमण मुक्त कराया जाए लेकिन कोर्ट के आदेशों की भी अवहेलना करने से निम्न स्तर के अधिकारी व कर्मचारी बाज नहीं आ रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने भी सरकारी तालाबों की जमीनों को संरक्षित करने तथा अवैध कब्जे से कब्जा मुक्त कराने का फरमान जारी किया है 

लेकिन यहां लेखपाल व राजस्व निरीक्षक द्वारा भूमाफियाओं से मोटी रकम ऐंठ कर भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने के क्रम में दबंग भूमाफियाओं के विरुद्ध कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है। तहसील फूलपुर क्षेत्र के थाना बहरिया क्षेत्र अंतर्गत चिंतामनपुर गांव में 184,186 रकबा भूमाफियाओं द्वारा तालाब की जमीन पर हल्का लेखपाल व राजस्व निरीक्षक के सहयोग से अवैध तरीके से कब्जा कर लिया है। 

वहीं स्थानीय ग्रामीणों ने तालाब पर किए गए अवैध कब्जे की शिकायत संबंधित अधिकारियों से की। लेकिन भूमाफियाओं के विरुद्ध ना तो कोई कार्यवाही हुई और न ही सरकारी तालाब को‌ भूमाफियाओं से कब्जा मुक्त कराया गया।  स्थानीय ग्रामीणों ने लेखपाल व राजस्व निरीक्षक पर भूमाफियाओं से मोटी रकम लेकर अवैध तरीके से सरकारी तालाब पर कब्जा करवाने का आरोप लगाया हैऔर जॉच की मांग की है।
 

FROM AROUND THE WEB