दुर्घटना में घायल एम्बुलेंश चालक की इलाज के दौरान मौत से परिजनों में कोहराम

 
दुर्घटना में घायल एम्बुलेंश चालक की इलाज के दौरान मौत से परिजनों में कोहराम

एम्बुलेंश में मरीज गर्भवती महिला स्टाप को बचाते हुए खुद गंवा दी जान ईएमटी का उपचार जारी

चालक की मौत से बेसहारा हुआ गरीब परिवार फफक कर रोये बीवी बच्चे

कदौरा/जालौन 


गत दिन जोल्हूपुर हाइवे में रिफर मरीज को जिलासप्ताल पहुंचाते वक्त हुई सड़क दुर्घटना में घायल एम्बुलेंश चालक की इलाज के दौरान मौत हो गयी जिसने खुद की जान गंवा कर एम्बुलेंश में सवार गर्भवती महिला सहित अन्य स्टाप को सकुशल बचा लिया लेकिन खुद चालक की मौत हो गई वही ईएमटी स्टाप का उपचार जारी है।वही म्रतक चालक पर आश्रित गरीब गरीब परिवार बेसहारा हो गया।

ज्ञातव्य हो कि गत सीएचसी कदौरा में तैनात संविदाकर्मी 108 एम्बुलेंस चालक नरेश कुमार शुक्रवार को कदौरा से रिफर गर्भवती महिला को उपचार के लिए जिलासप्ताल लेकर जा रहे थे तभी रांग साइड आये ट्रैक्टर से भिड़ंत होने पर चालक नरेश कुमार व ईएमटी अनुज कुमार घायल हो गए थे जिसमे नरेश का इलाज सैफई में व अनुज का फ़रुखाबाद में जारी था तभी बीती चालक की इलाज के दौरान मौत होने से सम्पूर्ण स्टाप में परिजनों में कोहराम मच गया।

दुर्घटना में घायल एम्बुलेंश चालक की इलाज के दौरान मौत

बताया गया कि उक्त चालक नरेश कुमार पुत्र विजेंद्र सिंह निवासी सूरजपुर शिकोहाबाद फिरोजाबाद घर की माली हालत ठीक न होने के कारण 108 एम्बुलेंश में बतौर चालक नौकरी कर अपने घर परिवार का पालन पोषण करते थे घर मे पिता विजेंद्र पत्नी वैजन्ती देवी व दो अबोध बच्चे रोली 4 साल व प्रिंश 2 साल  है एव म्रतक के अन्य दो भाई भी है जमीन बहुत कम होने के कारण नरेश ही अपने घर परिवार का संचालन करता था अब उसकी मौत के बाद परिवार बेसहारा हो गया।जिनका रो रोकर बुरा हाल है।

वही दिन भर घायल मरीजों को समय से अस्पताल पहुंचाकर जान बचाने वाले एम्बुलेंश चालक की ड्यूटी के दौरान जान चली जाने से दुखी स्टाप द्वारा म्रतक परिवार के लिए मदद की मांग की है जिससे उसका परिवार जीवन यापन कर सके वही अन्य घायल ईएमटी अनुज के ठीक होने की भी ईश्वर से कामना की गयी।

FROM AROUND THE WEB