कानपुर देहात में दर्दनाक हादसा, मोबाइल टावर के लिए खोदे गए गड्ढे में डूबा मासूम, चली गई जान

 
कानपुर देहात में दर्दनाक हादसा, मोबाइल टावर के लिए खोदे गए गड्ढे में डूबा मासूम, चली गई जान

स्वतंत्र प्रभात 

कानपुर देहात में मोबाइल टावर के लिए खोदे गए गड्ढे में डूबकर बच्चे की मौत हो गई।गड्ढे के आसपास बैरीकेडिंग नहीं होने से बच्चा खेलते समय गिर पड़ा।मामले में टेलीकाम कंपनी कर्मचारी व लेखपाल की लापरवाही सामने आई है। मंगलपुर के कमलाबाग गांव में आंबेडकर पार्क के पीछे टेलीकाम कंपनी का टावर लगाया जा रहा है।यहां एक सप्ताह पहले गड्ढा खोदा गया था।दो दिन पहले बारिश होने पर इसे ऐसे ही छोड़ दिया गया।

बारिश से करीब 10 फीट गहरे गड्ढे में पानी भर गया।रविवार सुबह साढ़े दस बजे किसान अनिल कुमार का सात वर्षीय बेटा मोहित दूसरे बच्चों के साथ खेलते हुए गड्ढे के पास पहुंच गया।अचानक गड्ढे में गिरकर डूब गया।उसके साथ के बच्चों के शोर मचाने पर स्वजन दौड़े।उसे निकालकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र झींझक ले गए जहां डाक्टर ने मृत घोषित कर दिया।मां देवकी पिता व भाई आयुष की चीखें सुनकर लोगों की आंखें नम हो गईं।

सभी उस घड़ी को कोसते रहे जब मोहित खेलने के लिए दूसरे बच्चों के साथ घर से बाहर निकला था।एसएसआइ राजेश कुमार ने बताया कि तहरीर के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।तहसीलदार लाल सिंह ने बताया कि प्रत्येक बिंदु पर जांच की जाएगी।लेखपाल से रिपोर्ट मांगी गई है।कड़ी कार्रवाई की जाएगी।वहीं ग्रामीणों का आरोप है कि टेलीकाम कंपनी के लोगों ने सुरक्षा नियमों की अनदेखी की।गड्ढा खोदने के बाद काम रोकते समय चारों तरफ बैरीकेडिंग की जानी चाहिए थी।

लापरवाही बरतने के कारण हादसा हुआ।बताया गया है कि मामले में एनओसी और अनुबंध समेत बाकी कार्रवाई पूरी की गई थी।आबादी क्षेत्र के बावजूद सुरक्षा में अनदेखी:ग्रामीणों ने लेखपाल को लापरवाही का जिम्मेदार ठहराया है।कहा कि लेखपाल के ध्यान नहीं देने से टेलीकाम कंपनी के कर्मियों ने भी अनदेखी की।आबादी क्षेत्र होने के बाद भी किसी की ड्यूटी नहीं लगाई गई।

FROM AROUND THE WEB