450 वर्षों के बाद पहली बार भक्तों को कुम्भ में मिलेगा 'अक्षय वट' और 'सरस्वती कूप' में प्रार्थना करने का अवसर

450 वर्षों के बाद पहली बार भक्तों को कुम्भ में  मिलेगा 'अक्षय वट' और 'सरस्वती कूप' में प्रार्थना करने का अवसर

15 जनवरी से उत्तर प्रदेश के प्रयागराज ज़िले, जिसे पहले इलाहाबाद के नाम से जाना जाता था, में शुरू होनेवाले प्रयागराज कुंभ मेला 2019 में 12 करोड़ से अधिक तीर्थयात्रियों के आने की उम्मीद है। मौनी अमावस्या पर 3 करोड़ तीर्थयात्रियों के पहुँचने की उम्मीद की जा रही है। प्रतिदिन 20 लाख तीर्थयात्रियों के आगमन की उम्मीद है और अपेक्षित 10 लाख के आसपास विदेशी पर्यटकों के आने का अनुमान है।


उत्तर प्रदेश के शहरी विकास मंत्री, सुरेश कुमार खन्ना ने मुंबई में प्रयागराज कुंभ मेला 2019 की विस्तृत जानकारी की घोषणा की। उन्होंने कहा, “यह आयोजन देश के चार स्थानों पर आयोजित किया जाता है। प्रयागराज में आयोजित किया जानेवाला कार्यक्रम अपने आप में देश और दुनिया के लिए आकर्षण और उत्सुकता का केंद्र है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किए गए प्रयासों के पश्चात, यूनेस्को ने कुंभ को मानवता के अमूर्त सांस्कृतिक विरासतों की सूची में शामिल किया है।”

भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) ने अपनी तरह के एकमात्र कार्यक्रम 'प्रयागराज कुंभ मेला 2019' का प्रचार करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के साथ सहयोग कर रहा है। स्वागत भाषण भूतपूर्व अध्यक्ष - सीआईआई महाराष्ट्र राज्य परिषद और अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, वर्टिव, सुनील खन्ना के द्वारा दिया गया, उन्होंने सम्मेलन के दौरान कहा, "सीआईआई को इस तरह के एकमात्र ऐसे आयोजन से जुड़ने पर गर्व है, जो भारतीय परंपराओं को दर्शाता है और ऐतिहासिक और पौराणिक प्रासंगिकता वाला है।"  संजय कुमार, विशेष सचिव - शहरी विकास, उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा एक विशेष संबोधन किया गया था।

इस आयोजन में देश के हर हिस्से से लोगों का शामिल होना सुनिश्चित करने के लिए, राज्य सरकार सभी राज्यों के लोगों का कुंभ में स्वागत करने के लिए प्रयासरत है। देश के सभी सांस्कृतिक संकायों का प्रतिनिधित्व वहाँ पर देखने को मिलेगा। सांस्कृतिक कार्यक्रमों, भोज, उत्सवों आदि के अलावा प्राचीन सांस्कृतिक विरासत पर आधारित कार्यक्रम भी आयोजित किए जायेंगे, प्रयागराज में एक नए भारत की तरंगें उठने वाली हैं।


कुंभ 2019 के लिए महाराष्ट्र राज्य का समर्थन प्राप्त करने हेतु, सुरेश कुमार खन्ना, शहरी विकास एवं संसदीय मामलों के मंत्री, उत्तर प्रदेश सरकार ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस से मुलाकात की और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री, योगी आदित्यनाथ जी की ओर से निमंत्रण प्रदान किया। दोनों ने इस बेहद महत्वपूर्ण आयोजन के लिए राज्य द्वारा की जा रही तैयारी पर भी चर्चा की |


खन्ना ने भारत सरकार द्वारा प्रयागराज में एक नए नागरिक हवाई अड्डे का निर्माण करके उड़ानों की संख्या में ऐतिहासिक वृद्धि करने के द्वारा किए गए प्रयासों का प्रदर्शन किया। प्रयागराज को वायु मार्ग के माध्यम से देश के कई मुख्य शहरों जैसे बंगलुरु, इंदौर, नागपुर, पटना आदि से जोड़ा गया है। यहाँ एक हेलीपोर्ट भी तैयार किया जा रहा है और पर्यटकों को हेलीकॉप्टर की सवारी की सुविधा प्रदान करने के लिए व्यवस्थायें की जा रही है।

राज्य सरकार ने कुंभ में आने वाले पर्यटकों और पर्यटकों की सुविधा के अनुसार आधुनिक और सुगमता से उपलब्ध सुविधाओं का विकास किया है। पर्यटकों को बेहतरीन सुविधायें प्रदान करने के लिए, कुंभ मेला क्षेत्र में एक प्रीमियम तम्बू नगर विकसित किया जा रहा है।

कुंभ में देश के हर सांस्कृतिक संकाय का प्रतिनिधित्व सुनिश्चित करने के लिए 30 विषयगत द्वारों, 200 से अधिक उच्च उत्तम दर्जे के सांस्कृतिक कार्यक्रमों, सांस्कृतिक विषयों पर लेजर शो, खान-पान के क्षेत्र, विक्रय क्षेत्र, प्रदर्शनियों और पर्यटकों की सैर की व्यवस्था की जा रही है। प्रमुख स्थानों पर विशाल लाइटिंग भी की जा रही है। भारतीय संस्कृति का प्रदर्शन करने के लिए, 'कला ग्राम' और 'संस्कृत ग्राम' बनाए जा रहे हैं।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Loading...
Loading...

Comments