माइनर की पटरी कटने से सैकड़ों बीघे फ़सल हुई जलमग्न

माइनर की पटरी कटने से सैकड़ों बीघे फ़सल हुई जलमग्न

रिपोर्ट-मनोज गुप्ता

असन्दरा बाराबंकी

विकास खंड सिद्धौर क्षेत्र में बीती रात सिद्धौर रजबहा की पटरी कटने से लगभग 50 बीघा फसल जलमग्न हो गई ।

 वही पास में ही स्थित एक तालाब की मछलियां भी पानी में बह गई ग्रामीणों द्वारा इसकी सूचना रात को ही सिंचाई विभाग को दी गई। लेकिन सुबह 10 बजे सिंचाई विभाग के कर्मचारियों ने पहुंचकर नहर की पटरी बांधने का काम शुरू किया।


बीती रात सिद्धौर रजबहा की पटरी न्योछना गांव के पास राम अभिलाख के खेत में कट गई। गांव के सरोज कुमार मिश्रा फूलचंद जगदंबा शिव बरन शारदा प्रसाद शिव शर्मा हनुमान राम मदन सहित अन्य किसानों की लगभग 50 बीघे फसल जलमग्न हो गई।

जबकि दिव्यांग विजय बहादुर द्वारा पास में स्थित तालाब में मछली पालन किया जा रहा था।

नहर का पानी आने से तालाब में मौजूद मछलियां बह गई गांव के निवासी राम मदन रावत ने रात में ही सिंचाई विभाग को इसकी सूचना दी लेकिन कोई भी कर्मचारी मौके तक देखने नहीं आया ग्रामीणों का आरोप है ।

कि सिद्धौर रजवाहा में क्षमता से अधिक पानी छोड़े जाने के कारण सिद्धौर रजबहा की पटरी कट गई। सुबह लगभग 10 बजे सिंचाई विभाग के अधिकारी और कर्मचारी मौके पर पहुंचे और नहर की पटरी बांध दिया।

इस संबंध में अवर अभियंता सूर्य प्रकाश का कहना है सुबह सिद्धौर रजबहा की पटरी कटने की सूचना मिली थी मौके पर पहुंचकर कटी पटरी को दुरुस्त कर दिया गया है।

Comments