प्रयागराज में मुख्यमंत्री विवाह योजना,, 611 जोड़ों ने रचाई शादी

प्रयागराज में मुख्यमंत्री विवाह योजना,, 611 जोड़ों ने रचाई शादी

‌ मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह  कार्यक्रम में जल मंत्री हुए सामिल।
 
‌वर-वधू को दिया आशीर्वाद। परिणय सूत्र में बंधे 611 जोड़े।

‌स्वतंत्र प्रभात।
‌प्रयागराज।

‌ जल शक्ति मंत्री  ने नार्दन रीजनल इंस्टीट्यूट ऑफ प्रिंटिंग टेक्नोलॉजी(एन0आर0आई0पी0टी0) ग्राउण्ड, तेलियरंगज में आयोजित मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजनान्तर्गत सामूहिक विवाह कार्यक्रम में सम्मिलित होकर वर-वधू को आर्शीवाद प्रदान किया। कार्यक्रम में फूलपुर की  सांसद-केशरी देवी पटेल, जिला पंचायत अध्यक्ष- रेखा सिंह, विधायक सोरांव,  तथा बारा के साथ जिलाधिकारी भानुचंद्र गोस्वामी, मुख्य विकास अधिकारी-प्रेमरंजन सिंह सहित सभी सम्बन्धित विभागों के अधिकारीगण कार्यक्रम में मौजूद रहे।
‌प्रभारी मंत्री  महेंद्र सिंह ने अपने सम्बोधन में कहा कि ये बहुत ही सुखद पल है। उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम में 611 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे इस प्रयास के लिए जिला प्रशासन बधाई के पात्र हैं।  मुख्यमंत्री  इस सराहनीय योजना में पहले बेटी के पैदा होने पर गरीब परिवारों में उसके लालन-पालन से लेकर उसकी पढ़ाई और फिर उसके विवाह की चिंता होती थी, लेकिन अब इसकी जिम्मेदारी उत्तर प्रदेश सरकार एवं हमारे यशस्वी मुख्यमंत्री ने स्वयं अपने ऊपर ले रखा है। उन्होंने बताया कि सामूहिक विवाह योजनान्तर्गत पूरे प्रदेश में 21,000 जोड़ो को विवाह कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सबका साथ, सबका विकास यह सिर्फ एक नारा ही नहीं है बल्कि ये हमारे लिए एक मंत्र की तरह है, जिसके कारण हमने बिना किसी भेदभाव के साथ सब को साथ लेकर चलने का प्रयास किया है। उन्होंने बताया कि अभी तक कुल 1074 जोड़ो का विवाह प्रयागराज जिले में सम्पन्न हो चुका है। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओं, सुमंगला कन्या योजना शुरू की गयी है। उन्होंने कहा कि बेटी का होना सौभाग्य की बात है। बेटा भाग्य से मिलता है और बेटी सौभाग्य से। कन्याओं की पूजा हमें वर्ष पर्यन्त करनी चाहिए। जो  सुविधाएं अपने बेटो को उपलब्ध कराते है वहीं सुविधाओं को हमें बेटी आगे बढ़ाने के लिए उपलब्ध करानी चाहिए। बेटा और बेटी में कोई अन्तर नहीं है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार बेटियों को आगे बढ़ने में सहयोग कर रही है। गरीब से गरीब आदमी को अब चिंता करने की जरूरत नहीं है। उन्होंने बताया कि सामूहिक विवाह कार्यक्रम को पूरे रीति-रिवाज के साथ सम्पन्न कराया गया है। विवाह के साथ ही नवदम्पत्ति को प्रमाण पत्र भी सौंपे गये। सभी लाभार्थियों के खाते में योजना का लाभ ईमानदारी के साथ पहुंच रहा है। उन्होंने कहा कि 2022 तक सबको पक्का मकान देने का कार्य करेंगे, जिसमें ज्यादातर आवास महिलाओं के नाम से रहेंगे। जल मंत्री  ने स्वच्छ भारत मिशन  जल जीवन मिशन
‌आयुष्मान उज्जवला योजना के बारे में विस्तार से बताया। सांसद फूलपुर केशरी देवी पटेल, विधायक बारा, सोरांव एवं जिला पंचायत अध्यक्ष ने भी इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त करते हुए नवदम्पत्ति को बधाई देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।  
‌जिलाधिकारी प्रयागराज श्री भानुचंद्र गोस्वामी कहा कि जो कन्यायें है, उनका सशक्तीकरण हमारा मुख्य उद्देश्य है। उनको समाज के मुख्यधारा में लाना हमारा कर्तव्य है। सरकार एवं प्रशासन हमेशा उनके साथ है। वे कभी भी अपने अंदर हीन भावना न आने दे। कार्यक्रम नगर आयुक्त श्री रवि रंजन, उप निदेशक समाज कल्याण एवं समाज कल्याण अधिकारी-श्री प्रवीण कुमार सिंह के नेतृत्व में सकुशल सम्पन्न हुआ।

‌प्रयागराज से दया शंकर त्रिपाठी की रिपोर्ट।

Comments