100 दिवसीय उद्यमिता विकास प्रशिक्षण खाद्य प्रसंस्करण का शुभारम्भ

100 दिवसीय उद्यमिता विकास प्रशिक्षण खाद्य प्रसंस्करण का शुभारम्भ

अलीगढ़,उ.प्र.-

राजकीय फल संरक्षण केन्द, जवाहर पार्क पर 100 दिवसीय उद्यमिता विकास  प्रशिक्षण खाद्य प्रसंस्करण का शुभारम्भ ए.के. गुप्ता,सहायक आयुक्त खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन,द्वारा फीता काटकर,माॅ सरस्वती के छवि चित्र पर माल्यार्पण कर एवं सम्मुख दीप प्रज्वलित कर किया।

जिस प्रशिक्षण में 30 प्रशिक्षणार्थियों ने भाग लिया। तत्पश्चात मुख्य अतिथि ए0के0 गुप्ता,सहायक आयुक्त खाद्य सुरक्षा औषधि प्रशासन अक्षय प्रधान मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी,खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन,डा. ए.के. सिंह,अघ्यक्ष कृषि विज्ञान केन्द्र,डा.सुघीर सारस्वत,वैज्ञानिक,उद्यान,कृषि विज्ञान केन्द्र, द्वारा प्रशिक्षण साहित्य का वितरण प्रशिक्षणार्थियों को किया गया तथा अपने सम्बोधन में ए.के. गुप्ता द्वारा प्रशिक्षार्थियों को अवगत कराया गया

कि  खाद्य पदार्थो को गुणवत्तयुक्त तथा मानक के अनुसार तैयार कर बाजार में उतारे तथा विषेष रूप से खाद्य रंग मानक के अनुसार अधिकतम 100 पी0पी0एम0 तक ही मिलायें एवं श्री अक्षय प्रधान जी द्वारा प्रशिक्षार्थियों को अवगत कराया गया कि खाद्य प्रसंस्करण उद्योग में की स्थापना करने हेतु लाईसेन्स प्रक्रिया को कई चरणों में बाॅंटा गया है जिसमे रू0 12 लाख तक के सालाना टर्न ओवर के लिए रू0 100.00 का पंजीकरण कराकर आसानी से कार्य कर सकते है।

डा0 ए0के0 सिंह एवं  डा0सुघीर सारस्वत, द्वारा प्रशिक्षार्थियों को अवगत कराया गया कि  उक्त् प्रशिक्षण कार्यक्रम को अपनाकर किसान/उत्पादक/उद्यमी की आय बढ़ायी जा सकती है तथा रोजगार को बढ़ावा दिया जा सकता है।

उक्त दोनो वैज्ञानिको द्वारा प्रशिक्षार्थियों से उक्त  प्रशिक्षण प्राप्त कर स्वरोजगार द्वारा खाद्य प्रसंस्करण के कुटीर उद्योग लगाने का आहवान किया।

कार्यक्रम में केन्द्र प्रभारी  बलवीर सिंह द्वारा कार्यक्रम के उद्देश की जानकारी दी तथा अपने सम्बोधन में बताया कि खाद्य प्रसंस्करण उद्योग आज के परिवेश में महत्वपूर्ण तथा सबसे बढ़ा उद्योग है।

इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में आचार मुरब्बा शर्वत एवं फल सब्जी आधारित उत्पादों का सैधान्तिक एवं प्रयोगात्मक प्रशिक्षण दिया जायेगा तथा उद्योग स्थापना की सम्पूर्ण जानकारी दी जायेगी।

कार्यक्रम में नरेन्द्र सिंह,श्याम सुन्दर,पर्यवेक्षक जबर सिंहं,परिचर,करनलाल,परिचर छोटे लाल,माली,जितेन्द्र सिंह का सहयोग सराहनीय रहा। कार्यक्रम का संचालन एवं अतिथियों का आभार व्यक्त बलवीर सिंह द्वारा किया गया।

Comments