अलीगढ़,उ.प्र.की बड़ी खबरे

अलीगढ़,उ.प्र.की बड़ी खबरे

हड़ताल के चलते अमुवि के छात्र नेताओं की जमानत याचिका टली
अलीगढ़,उ.प्र.। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय की स्टूडेंट यूनियन के निवर्तमान सचिव हुजैफा आमिर और निवर्तमान उपाध्यक्ष हमजा सुफियान कीजमानत याचिका पर मंगलवार को होने वाली सुनवाई धिवक्ताओं की हड़ताल केचलते टल गई।अब इनकी जमानत याचिका पर 11 सितंबर को सुनवाई होगी।बता दें किजेल में  निरुद्ध हुजैफा को फरवरी में भाजयुमो जिलाध्यक्ष मुकेश लोधी परएएमयू में बवाल के दौरान हुए जानलेवा हमले के आरोप में जिला से पिछलीसुनवाई पर जमानत मिल गई थी।अन्य मुकदमों में जमानत याचिका पर सुनवाई 11सितंबर को होगी।वहीं,हमजा को एएमयू में रजिस्ट्रार कार्यालय में बवालकाटने के चलते मुकदमों का सामना करना पड़ रहा है।

 

स्कूल में पांचवीं बार सामान पार
अलीगढ़,उ.प्र.। एलमपुर के सरकारी स्कूल में चोरों का आतंक जारी है।चोरोंने पांचवीं बार सामान पार कर हाथ साफ कर दिया।पुलिस ने मामले में मुकदमादर्ज नहीं किया है। एलमपुर के बीमा कॉलोनी स्थित पूर्व ध्यमिक विद्यालयको सोमवार रात पांचवी बार चोरों ने निशाना बनाया।6 कमरों के ताले तोड़े औरस्कूल में लगे चार पंखे ले गए। सुबह जब स्कूल का स्टाफ स्कूल पहुंचा तबचोरी का पता चला।इसके पहले स्कूल में जून में चोरी हुई थी।हेड मास्टरवीरेंद्र सिंह ने बताया कि थाने में लिखित शिकायत करने के बाद भी कोईकार्यवाही नहीं की जा रही।

 

 अवैध कट्टीघर,बंद होने के बाद भी शहर में फैल रही बदबू
अलीगढ़,उ.प्र.। शहर में एक बार फिर चर्बी उबालने की बदबू उठने लगी है।सोमवार देर रात शहर के विभिन्न इलाकों में वातावरण में इस कदर बदबू फैलीकि लोगों का सांस लेना तक दूभर हो गया।त्योहार आते ही शहर में बदबू कागुबार उठना कोई नई बात नहीं है। प्रशासन के तमाम प्रयासों के बाद भी यहसमस्या जस की तस बनी हुई है।लोगों का कहना है कि जन्माष्टमी के दो-तीनदिन पहले भी रात के वक्त बदबू उठी थी। अब गणेश चतुर्थी पर्व पर इस समस्यासे शहरवासी रूबरू हुए। लोगों का कहना है कि सोमवार रात रामघाट रोड,मैरिसरोड,सेंटर प्वाइंट,दुबे का पड़ाव,सासनी गेट, बड़ा बाजार व आसपास केक्षेत्रों में इस कदर अजीब सी बदबू फैली की सांस लेना भी मुश्किल हो रहाथा।यह हालत तब है जब प्रशासन शहर में चल रही अवैध मीट फैक्ट्री,गोदाम बंदकरा चुका है।इससे साफ है कि गुपचुप तरीके से चर्बी उबालने का काम चल रहाहै।

 

शिक्षक काली पट्टी बांधकर करेंगे कलम बंद हड़ताल
अलीगढ़,उ.प्र.। उत्तर प्रदेशीय जू.हा. स्कूल शिक्षक संघ शाखा अलीगढ़ द्वाराप्रांतीय नेतृत्व के आह्वान पर प्रेरणा ऐप का काली पट्टी बांधकर विरोधप्रदर्शन किया गया।संघ के जिला महामंत्री इंद्रजीत सिंह ने बताया किसरकार द्वारा शिक्षकों के मान सम्मान पर ठेस पहुंचाई है।एप का संचालनप्राइवेट कंपनी द्वारा किया जाएगा,जिससे वह कंपनी शिक्षकों का व्यक्तिगतडेटा मोबाइल से हैक कर सकती है। ऐप इंस्टॉल करने पर कैमरा
ऐसेज,माइक्रोफोन ऐसेज एवं फोन का अन्य डेटा ऐसेज की अनुमति ले लेती है।वहलोकेशन ऐसेज की अनुमति भी लेती है।संगठन इस ऐप का घोर विरोध करता है।संघके जिला अध्यक्ष डॉ प्रशांत शर्मा ने कहा कि 5 सितंबर को शिक्षक कालीपट्टी बांधकर कलम बंद हड़ताल करेंगे और सरकार ने इस ऐप को वापस नहीं लियातो संगठन आंदोलन करेगा।इस अवसर पर इंद्रजीत सिंह, अरविंद कुमारसिंह,धीरेंद्र मौर्य, योगेंद्र कुमार,विश्व कुमारी,प्रतिमागुप्ता,मुसर्रत बानो,कल्पना जौहरी,कीर्ति शर्मा,किरण वाला, गीताकटियार,मंजू लता सैनी, सुरभि मांगलिक,प्रतिभा वशिष्ठ, शोभा वर्मा,श्रद्धावार्ष्णेय,पिंकी सिंह,नीलम मानव,रेखा रानी, देवेंद्र पाल सिंह,सीमागुप्ता, संगीता सारस्वत,रानू अग्रवाल, मिथिलेश तिवारी आदि उपस्थित रहे।

 

नशीले पाउडर सहित दो धरे
अलीगढ़,उ.प्र.। थाना गांधीपार्क पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर चेकिंग केदौरान  नशीले पाउडर सहित दो अभियुक्तों को किया गिरफ्तार। पुलिस पूछताछमें अभियुक्तों ने अपने नाम हरेन्द्र सिंह पुत्र सुन्दर लाल निवासीपब्लिक स्कूल के पास कुवर नगर कालोनी व  अजीत रतन उर्फ राजू पुत्रराजेन्द्र सिंह निवासी छावनी रोड नौंरगावाद छावनी बताये।पुलिस नेअभियुक्तों के कब्जे से क्रमशः नाजायज 250ग्राम-150ग्राम नशीला पदार्थसहित कामाख्या सिटी गेट के पास से गिरफ्तार किया गया।पुलिस ने अभियुक्तोंके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्यवाही करते हुए अभियुक्तों को कोर्टमें पेश कर न्यायिक हिरासत में भेजा जेल । 

 

जीआरपी सिपाही की संदिग्ध हालात में मौत
अलीगढ़,उ.प्र.। रेलवे स्टेशन पर तैनात जीआरपी के सिपाही धनपाल कि मंगलवाररात संदिग्ध हालात में मौत हो गई।अलीगढ़ निवासी सिपाही का शव टिकट विंडोके पास मिला है। उसकी ड्यूटी वहीं लगी हुई थी। मंगलवार रात कुछ लोगों नेसिपाही को जमीन पर पड़ा हुआ देखा और उसके मुंह से खून निकल रहा था।इसकीजानकारी तत्काल जीआरपी को दी गई। जीआरपी वाले सिपाही को मेडिकल कॉलेज लेगए,वहां डॉक्टर ने जांच के बाद धनपाल को मृत घोषित कर दिया।सिपाही धनपालमूल रूप से अलीगढ़ जिले का रहने वाला था।सिपाही की मौत किस तरह से हुई यहभी ज्ञात नहीं हो सका है, लेकिन जहां पर सिपाही का शव बरामद किया गयाहै,उसके ठीक सामने एक सीसीटीवी कैमरा लगा हुआ है। जीआरपी उस सीसीटीवीकैमरे की फुटेज में पूरे मामले की पड़ताल कर रही है।अगर कोई घटना हुई हैतो सीसीटीवी फुटेज की रिकॉर्डिंग में आने की संभावना है।

 

डीएम ने दी किसान भाइयों को सलाह
अलीगढ़,उ.प्र.। डीएम अलीगढ़ चंद्रभूषण सिंह ने जनपद के किसान भाइयों को सलाह दी है कि संयुक्त सचिव भारत सरकार वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालयवाणिज्य विभाग नई दिल्ली द्वारा संज्ञान में लाया गया है कि यूरोपीय संघके राज्यों को निर्यात किए जा रहे बासमती चावल में ट्राईसाइक्लाजोल रसायनकी अवशेष मात्रा 0.01से अधिक पाई जा रही है जबकि यूरोपीय संघ के देशोंमें इसकी अधिकतम अनुयमन्यता मात्रा 0.01पीपीएम है।इस संबंध में बासमतीचावल में प्रयोग किए जा रहे रसायनों ट्राईसाइक्लाजोल एवं ब्यूप्रोफेजिनकी अधिकतम अवशेष स्तर को कम करने एवं इसका प्रयोग संस्तुति के अनुसार हीकरें।भारतीय उच्चायोग ब्रुसेल्स द्वारा संज्ञान में लाया गया कि यूरोपीयकमीशन द्वारा कभी भी बासमती चावल के आयात पर प्रतिबंध मानकों को लागूकरते हुए अतिरिक्त जांच एवं प्रमाणन किया जा सकता है। प्रदेश के बासमती
चावल में प्रयुक्त कीटनाशकों के प्रयोग के स्तर को कम करने के लिए चावलउत्पादक किसानों को सीआईबी एंड आरसी फरीदाबाद द्वारा चावल की फसल मेंनिम्न अनुसार कृषि रक्षा वैज्ञानिकों को प्रयोग करने की सलाह दी जातीहै।इसके संदर्भ में डीएम अलीगढ़ चंद्र भूषण सिंह ने पत्र जारी किया।

 

मंदिर में मेले का पूर्व डीआईजी ने किया शुभारंभ
अलीगढ़,उ.प्र.। खैर के गांव गोमत में देवछठ के अवसर पर आयोजित दाऊजीमहाराज के मंदिर पर हर वर्ष की तरह इस बार भी मेले का आयोजन हुआ।जिसकाशुभारंभ पूर्व डीआईजी सत्येंद्र सिंह ने अपनी पत्नी के साथ फीता काटकरकिया।मंदिर के समक्ष तीन दिन तक भजन कीर्तन और सांस्कृतिक कार्यक्रम होतेहैं। जिसकी जानकारी देते हुए शिवराम कौशिक ने बताया कि दाऊजी का मेला 500वर्षों से लगता आ रहा है।इसको हर वर्ष भव्य तरीके से मनाया जाता है। इसकीकाफी मान्यता है।यहां पर्यटन विभाग की तरफ से भव्य कृष्ण मानसरोवर तैयारकिया गया है।यह मेला तीन दिन तक लगता है।इस मेले में बच्चों के खेलकूद केलिए खिलौनों की  दुकानें लगती हैं और झूले आदि भी लगाए जाते हैं जिनकाबच्चे भरपूर आनंद लेते हैं।सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस भी रहती है।

 

अनुदान आयोग से  अमुवि ने मांगी  20 करोड़ की विशेष सहायता राशि

  • शताब्दी समारोह कोष में अपने वेतन से 50 हजार रूपये दानस्वरूप देगें कुलपति

अलीगढ़,उ.प्र.। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय की स्थापना के शताब्दी समारोहके उद्घाटन के लिये राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को आमंत्रित किया गया है।शताब्दी समारोह के सम्बन्ध में कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर की अध्यक्षतामें आज विश्वविद्यालय प्रशासन की परामर्श बैठक हुई जिसमें कार्यक्रम कीविस्तृत रूपरेखा तैयार की गई। कुलपति ने बताया कि 17 दिसम्बर 2020 कोशताब्दी समारोह का उद्घाटन करने के लिये राष्ट्रपति को आमंत्रित किया गयाहै। मीटिंग में कुलपति ने शताब्दी समारोह कोष में अपने वेतन से 50 हजाररूपये दानस्वरूप देने की घोषणा की और विश्वविद्यालय स्टाफ तथा पूर्वछात्रों से भी शताब्दी समारोह के लिये दान देने की अपील की।विश्वविद्यालय ने इस सम्बन्ध में विभिन्न कार्यक्रमों के लियेविश्वविद्यालय अनुदान आयोग से 20 करोड़ रूपये की विशेष सहायता राशि देनेका आग्रह किया है।प्रोफेसर तारिक मंसूर ने इस अवसर पर कहा कि अमुवि सरकार नोटिफिकेशन से 1दिसम्बर 1920 में स्थापित हुई थी लेकिन यूनिवर्सिटी का उद्घाटन समारोह 17सम्बर 1920 को आयोजित हुआ था।

उन्होंने कहा कि इस अवसर को यादगार बनानेके लिये विश्वविद्यालय ने एक काफी टेबिल बुक प्रकाशित करने का निर्णयलिया है जिसमें विश्वविद्यालय की गत सौ वर्षों की सफलताओं को शामिल कियाजायेगा। इसके अतिरिक्त विभिन्न विभागों द्वारा व्याख्यान माला का आयोजनकिया जाएगा। जिसमें इस संस्था की विकास यात्रा पर व्याख्यान हेतु प्रमुखविद्वानो एवं शिक्षाविदों को आमंत्रित किया जाएगा। इसके साथ ही एकशताब्दी एल्युमनाई मीट भी आयोजित की जाएगी और पूर्व छात्रों कीअन्तर्राष्ट्रीय डायरेक्ट्री भी प्रकाशित की जायेगी। विश्वविद्यालय नेबाब-ए-सैयद की तर्ज पर अनुपशहर रोड (पुरानी चुंगी) पर एक शताब्दी द्वारके अलावा एल्युमनाई गेस्ट हाउस और मौलाना आजाद लाइब्रेरी तथा वीमेन्सकालेज में रीडिंग हाल के निर्माण का भी निर्णय लिया है।

इसके अतिरिक्त 1.40 करोड़ रूपये की लागत से छात्राओं के लिये इंस्टीटयूटआफ प्रोफेशनल स्टडीज की स्थापना के लिये यूजीसी को पत्र लिखा जायेगा।कांफ्रेंसो, सेमिनारों और अन्य शैक्षणिक गतिविधियों के लिये 40 करोड़रूपये की लागत से एक कनवेंशन सेंटर का निर्माण भी प्रस्तावित है।विश्वविद्यालय के मानद् कोषाध्यक्ष प्रोफेसर हकीम सैयद जिल्लुर रहमान,सहकुलपति प्रोफेसर अख्तर हसीब, रजिस्ट्रार श्री अब्दुल हमीद आईपीएस समेतसमस्त फैकल्टियों के डीन, कालिजों के प्रिन्सिपल और सेंटरों के निदेशकोंके अलावा वित्त अधिकारी, परीक्षा नियंत्रक, प्रोक्टर और डीएसडब्लू भीमौजूद थे।

 

 

Comments