अलीगढ़ की बड़ी खबरे

अलीगढ़  की बड़ी खबरे

लोक अदालत को सफल बनाने के लिए 29 से 13 तक होंगी समन्वय बैठक


अलीगढ़।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव तूलिका बन्धु ने यह जानकारी देते हुए बताया कि राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण व उ0प्र0 राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार 14 दिसम्बर को दिन शनिवार को मुख्यालय एवं तहसील स्तर पर राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जाएगा।

उन्होंनेबताया कि लोक अदालत में फौजदारी के शमनीय वाद, धारा 138 एनआई एक्ट, धन वसूली, मोटर दुर्घटना प्रतिकर वाद, श्रम, विद्युत, जलकर,पारिवारिक,वैवाहिक, भूमि अर्जन अधिनिन्न, सेवा सम्बन्धी, राजस्व एवं दीवानी वाद एवं अन्य प्रकृति के मामले तथा प्री.लिटिगेशन के मामले जो न्यायालय में लम्बित न हो आदि का निस्तारण आपसी सुलह समझौते ध्सहमति के आधार पर किया जाएगा।

 बन्धु ने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत को सफल बनाने हेतु 29 नवम्बर एवं 02 दिसम्बर को को दीवानी न्यायालय सभागार के मीडियेशन सेन्टर में अपरान्ह 03 बजे जिला जजए सभी अपर जिला जज एवं बीमा कम्पनी यूपी रोडवेज एवं अधिकृत प्रतिनिधि, अधिवक्तगण पीडित पक्ष के साथ प्री ट्रायल बैठक करेंगे। 

इसी प्रकार 04 दिसम्बर को सांय 4 बजे प्रशासनिक अधिकारियों एवं विभागीय अधिकारियोंध्प्रतिनिधियों के साथए 06 दिसम्बर को दीवानी न्यायालय सभागार के मीडियेशन सेन्टर में सांय 4 बजे बैंक अधिकारियोंए वित्तीय संस्थाओं  तथा टेलीफोन एवं मोबाइल कम्पनियों के प्रतिनिधियों के साथ समन्वय बैठक  आहुत की गयी है।

09 दिसम्बर को सांय 04 बजे मा0 जिला न्यायाधीश समस्त न्यायिक अधिकारीगण के साथ बैठक करेंगे।  प्राधिकरण सचिव ने बताया कि 07 दिसम्बर से 13 दिसम्बर तक प्रतिदिन न्यायालय के समयोपरान्त न्यायालय के विश्राम कक्ष में मोटर दुर्घटना प्रतिकर वादो के निस्तारण हेतु  प्री.ट्रायल बैठक आहुत की जाएगी जिसमें सभी अपर जिला जज एवं बीमा कम्पनी से सम्बन्धित अधिकृत प्रबन्धकगण व अधिवक्तगण प्रतिभाग करेंगे।

इसके साथ ही 02 दिसम्बर से 13 दिसम्बर तक न्यायालय के समयोपरान्त न्यायालय में लम्बित विभिन्न प्रकति के मामलों के सम्बन्ध में पक्षकारों के साथ प्री ट्रायल मीटिंग आहुत की गयी है। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत में संबंधित न्यायालयों के पीठासीन अधिकारी अधिक से अधिक वादों का निस्तारण करें ताकि लोगो को त्वरित न्याय मिल सके।

उन्होंने कहा कि  सभी विभाग अपने स्तर से राष्ट्रीय लोक अदालत का वृहद रूप से  प्रचार प्रसार भी करेंगें। साथ ही सूचनापट््ट पर सूचना एवं कार्यालय के बाहर वैनर अवश्य लगाया जाये ताकि और बेहतर प्रचार हो सके।

 

अयोध्या प्रकरण में फैसले से पहले पुलिस.प्रशासन ने तैयारियों को पहनाया अमली जामा


अलीगढ़।

अयोध्या प्रकरण में आने वाले फैसले से पहले पुलिस.प्रशासन ने तैयारियों को अमली जामा पहनाना शुरू कर दिया है। दंगों व सांप्रदायिक विवादों में शामिल रहे आरोपितों को भारी मुचलकों पर पाबंद करने की तैयारी  है।

ऐसे लोगों के मोबाइल नंबरों को भी सर्विलांस पर लगाया जा रहा है। थानों में तैयार सूची का भौतिक सत्यापन भी कराया जा रहा है। साइबर टीम सोशल मीडिया के साथ अफवाह फैलाने वालों पर निगरानी रख रही है। फैसले को लेकर अफवाह न फैलें। फैसले के बाद शरारती तत्व माहौल न बिगाड़ें। इसके लिए पुलिस.प्रशासन रणनीति बनाने में जुटा है।

शहर में रेड स्कीम लागू कर दी गई है, सभी थानों पर दंगा नियंत्रण रिहर्सल कराया जा रहा है। आइबी, एलआइयू समेत अन्य खुफिया एजेंसियों को सक्रिय कर इनपुट लिया जा रहा है। दंगा नियंत्रण यानी रेड स्कीम के तहत रिहर्सल किया जा रहा है। मिश्रित आबादी वाले क्षेत्रों में समन्वय का प्रयास किया जा रहा है।

 पुलिस प्रशासनिक अफसर शहर से लेकर देहात तक लोगों के बीच बैठकें कर रहे हैं। अफवाहें फैलानेए माहौल बिगाडने व दूसरों की भावनाओं को आहत करने वालों से सावधान रहने की अपील कर रहे हैं। एसएसपी आकश कुलहरि का कहना है कि अराजकता पैदा करने की कोशिश करने वालों को चिह्नित कर पाबंद किया जा रहा है। माहौल बिगाडने वालों पर रासुका के तहत कार्रवाई की जाएगी।

 

अयोध्या मसले में सुप्रीम कोर्ट के प्रस्तावित फैसले का सम्मान करेंःप्रो.तारिक मंसूर


अलीगढ़।

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. तारिक मंसूर ने समाज के सभी वर्गों से अपील की है कि वे अयोध्या मसले में सुप्रीम कोर्ट के प्रस्तावित फैसले का सम्मान करें। कोई ऐसा बयान न दे या काम न करें, जिससे विश्वविद्यालय परिसर, शहर या देश का शांतिपूर्ण माहौल दूषित हो। 

उन्होंने छात्रों को विशेष संयम बरतने की सलाह दी। कुलपति ने अपील में कहा है कि विश्व के सामने यह साबित करने का समय है कि भारत के लोग कानून की हुक्मरानी में विश्वास रखते हैं। वे सर्वोच्च अदालत के निर्णय को पूरी गंभीरता के साथ स्वीकार करेंगे।

प्रो. मंसूर ने कहा कि मैं विशेष रूप से अपने छात्रों को आगाह करता हूं कि वे सोशल मीडिया पर झूठे प्रचार से सावधान रहें। कुलपति ने कहा है कि हम सभी को पूरे देश में धैर्य का प्रदर्शन करते हुए भाईचारे को बरकरार रखना है। हम विभिन्न संस्कृतियों, भाषाओं व धर्मों पर आधारित कौम हैं।

अमूल्य संस्कृति हमारी धरोहर है और एकता हमारी सबसे बड़ी ताकत है। एएमयू समुदाय शिक्षकों, छात्रों, गैर शिक्षक कर्मचारियों, पूर्व छात्रों व शुभचिंतकों से अपील है कि वे समाज के सभी वर्गों में भाईचारा व रिश्ता बरकरार रखने के लिए मिलजुल कर काम करें।

 

पांच पुलिसकर्मियों के खिलाफ गैर जमानती वांरट जारी


अलीगढ़।

तलाशी में बरामद घड़ियों को बदलने के मामले में पेश न होने पर अपर सत्र न्यायाधीश चतुर्थ ने एक एसआई समेत पांच पुलिसकर्मियों के गैर जमानती वारंट जारी किए हैं। एसओ गोंडा को सभी दोषी पुलिस कर्मियों को अदालत में 15 नवंबर को पेश करने के आदेश दिए हैं।

मामला 2001 में गोंडा थाना का है। गोंडा थाने में तैनात एसआई मनोहरसिंह चैहान, एचसीपी ओमपाल सिंह व सोबरन सिंहए कांस्टेबल हेत सिंह व सुभाष सिंह के अलावा शिव कुमार व नमोनारायण ने इलाका निवासी चंद्रपाल को जुआ खेलते गिरफ्तार किया था।

उसकी तलाशी में जो सामान बरामद हुआ उसे लिखा पढ़ी के बाद मालखाने में जमा करा दिया। लेकिन जब मामले में चंद्रपाल ने अपना सामान मांगा तो उसने पुलिसकर्मियों पर उससे बरामद की गई घड़ियों को बदलने का आरोप लगाया। अदालत के आदेश पर सभी पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया।

विवेचना के बाद मामला जब न्यायालय में आया तो दोनों पक्ष को सुनने के बाद अदालत ने 30 जुलाई 2013 को एसआई मनोहर सिंह चैहान, एचसीपी ओमपाल सिंह व सोबरन सिंह, कांस्टेबल हेत सिंह व सुभाष सिंह को इस मामले में दोषी मानते हुए दो साल की सजा व पांच.पांच सौ रुपये जर्माना से दंडित कर दिया।

जबकि कांस्टेबल शिव कुमार व नमोनारायण की भूमिका देखते हुए उनकी पत्रावली अलग कर दी।उच्च न्यायालय ने भी सही बताया निर्णय रू अदालत से दिए फैसले को पांचों पुलिस कर्मियों ने उच्च न्यायालय में चुनौती दे दी, लेकिन 22 अक्टूबर को उच्च न्यायालय ने भी पांचों पुलिस कर्मियों को दोषी मानते हुए निचली अदालत के निर्णय को सही करार दिया।

इसकी एक प्रति अदालत को भी भेज दी गई। इस पर अपर सत्र न्यायाधीश अष्टम ने 30 अक्टूबर को सभी पांचों दोषी पुलिस कर्मियों को अदालत में हाजिर होने के आदेश दिए थेए लेकिन तय तिथि पर कोई भी नहीं पहुंचा। इस पर अदालत ने पांचों पुलिस कर्मियों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी करते हुए गोंडा पुलिस को 15 नवंबर को अदालत में पेश करने के आदेश दिए हैं।

 

ट्रांसफर के बाद भी अफसरों को रिलीव नहीं कर रहे उपसभापति


अलीगढ़।

नगर निगम में जमे अधिकारी कुर्सियों का मोह नहीं छोड़ पा रहे हैं।दो अधिकारियों का तबादला हुए डेढ़ माह बीत चुका है,मगर वे रिलीव नहीं हुए। कर अधीक्षक सभापति यादव का तबादला बड़ौत (बागपत)हुआ।कर अधीक्षक राजेश कुमार का बहेड़ी(बरेली) तबादला हुआ था।

हाथरस से राजेश कुमार जैन का तबादला अलीगढ़ नगर निगम सहारनपुर से राजेंद्र कुमार शंखवार का तबादला तरौली नगरपालिका हुआ।कर अधीक्षक अजीत राय के तबादले की भी चर्चा थी,लेकिन उनका नाम सूची में शामिल नहीं था।

नगर निगम उपसभापति पुष्पेंद्र सिंह जादौन ने कहा कि ट्रांसफर के बाद भी अफसरों को रिलीव नहीं किया जा रहा है। नगर आयुक्त सत्यप्रकाश पटेल ने बताया कि बाहर से आने वाले अधिकारियों के चार्ज लेते ही इन्हें रिलीव कर दिया जाएगा।

 

किशोरी से दुष्कर्म के आरोपी को 10 साल की सजा


अलीगढ़।

विशेष न्यायालय (बाल अपराध) के न्यायाधीश अनिल कुमार सिंह प्रथम की अदालत ने किशोरी से दुष्कर्म के मामले में आरोपी को 10 साल की सजा सुनाई है। अतरौली क्षेत्र के एक गांव में 4 साल पहले किशोरी के साथ दुष्कर्म किया था।

एडीजीसी कुलदीप तोमर के मुताबिक वादी ही ने अतरौली थाने में मुकदमा दर्ज कराया था,जिसमें कहा था कि उसका परिवार गांव में रहता है।10 जनवरी 2015 को उनकी 15 वर्षीय बेटी गांव के बाहर उपले पाथकर कर घर लौट रही थी।

तभी गांव के ही कन्हैया पुत्र ओमप्रकाश में उनकी बेटी को दबोच लिया।उसे खींचकर एक खेत में ले गया,जहां उसके साथ दुष्कर्म किया।मंगलवार को अदालत ने आरोपी कन्हैया को 10 साल की सजा सुनाई है। वहीं 20 हजार रुपये के जुर्माने से दंडित किया है।

 

सीएचसी खैर के औचक निरीक्षण में स्टाफ नदारद


अलीगढ़।

एसडीएम खैर अंजुम बी ने आज सीएचसी खैर का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के समय एमओआईसी मौजूद मिले बाकी अन्य स्टाफ अनुपस्थित था एमओआईसी ने बताया कि 1अक्टूबर से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का समय 10:00 बजे से 4:00 बजे तक हो गया है इसलिए अभी स्टाफ आया नहीं है।

एसडीएम श्रीमती बी ने पुनः समय 10:10 पर उपस्थिति रजिस्टर को चेक किया।

उसमें 5 लोग अनुपस्थित मिले। निरीक्षण के दौरान एसडीएम ने महिला वार्ड में जाकर देखा वार्ड फुल मिला एमओआईसी ने बताया कि यहां पर प्रसव अधिक होते हैं, वार्ड में गंदगी बहुत मिली साफ.सफाई नहीं थी और सीएससी पर अभी तक कोई डेंगू का मरीज नहीं आया।

 

2 दिन स्कूल नहीं आएगा विद्यार्थी तो होगी पूछताछ


अलीगढ़।

जिले के इंटर कॉलेजों में पढ़ने वाले विद्यार्थी अगर 2 दिन तक बिना सूचना के विद्यालय से अनुपस्थित रहते हैं तो स्कूलों को उनके घर पर संपर्क करके उनके ना आने का कारण पूछना होगा। जिले में बढ़ रहे डेंगू के प्रकोप के कारण माध्यमिक शिक्षा विभाग ने अपने सभी मान्यता प्राप्त सरकारी एडेड व अन्य बोर्डों से मान्यता प्राप्त विद्यालयों को पत्र लिखा है।

जिले में डेंगू का प्रकोप बढ़ रहा है।जिला विद्यालय निरीक्षक ने सभी स्कूलों के प्रबंधक व प्रिंसिपलों को पत्र जारी किया है कि अगर आस पास गंदगी या जलभराव है तो इसमें केरोसीन या जले हुए डीजल का इस्तेमाल किया जाए।इसके साथ ही विद्यार्थियों को जागरूक किया जाए कि अगर उन्हें बुखार आता है तो पेरासिटामोल 500 एमजी का इस्तेमाल करें।इसके बाद भी अगर उन्हें आराम नहीं मिलता है तुरंत नजदीकी अस्पताल में संपर्क करके चिकित्सक से परामर्श लें।

जिला विद्यालय निरीक्षक ने सभी स्कूलों को निर्देश दिए हैं कि विद्यालय में 40.50 मिनट की विशेष कक्षाएं संचालित की जाएं।इसमें उन्हें संचारी रोग और मच्छर से होने वाली बीमारियों के लिए जागरूक किया जाए।स्कूल की कमेटी महीने में एक बार बैठक करके रोगों की रोकथाम के लिए रणनीतियां तैयार करें।

 

रिक्शा चालक को रोडवेज ने रौंदा,मौत


अलीगढ़।

थाना गांधीपार्क क्षेत्र में सड़क पर जा रहे रिक्शा चालक को लापरवाही पूर्वक तीव्र गति से आ रही रोडवेज बस ने रौंद दियाजिसकी मौके पर ही मौत हो गई। महेंद्रनगर राठौर बगीची निवासी सुभाष बाबू (39 वर्षीय) पुत्र सूरजपाल सिंह आज सुबह सब्जी लेने के लिए धनीपुर मंडी जा रहे थे

तभी हीरालाल बारह सैनी इंटर कॉलेज के सामने तेज गति से आती रोडवेज बस ने रिक्शे को रौंद दिया, जिसमें सुभाष की मौके पर ही मौत हो गई।घटना देख स्थानीय लोग दौड़कर मौके पर पहुंचे और पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

मृतक की जेब से मिले मोबाइल से परिजनों को सूचना दे दी।सूचना पर पहुंचे परिजनों ने बताया कि मृतक रिक्शे पर सब्जी बेचने का काम करते थे।मृतक अपने पीछे तीन बेटी एक बेटा और पत्नी को रोते बिलखते छोड़ गया है।

 

युवक की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत 


अलीगढ़।

थाना सासनी गेट क्षेत्र में एक युवक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। मोहल्ला नेहरू कुंज मालीपाड़ा निवासी अंकित शर्मा (25 वर्षीय) पुत्र मुकेश शर्मा ताला नगरी एक फैक्ट्री में काम करता था और वहां से वापस लौटते समय मालिक की दूसरी फैक्ट्री प्रीमियर नगर में गया था।

तभी अचानक लघु शंका के लिए गया और गिर गया।उसके बाद उठा और वह दोबारा वहीं गिर पड़ा।उसके बाद तत्काल उसे उठाकर जवाहरलाल नेहरु मेडिकल लेकर पहुंचे,जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया।मृतक दो भाइयों में बड़ा था।परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है।

 

दबंगों ने मां बेटियों को जमकर पीटा


अलीगढ़।

खैर कोतवाली क्षेत्र में शौच करने गई मां.बेटियों के साथ दबंगों ने मारपीट करते हुये गम्भीर रूप से घायल कर दीं। गांव मऊ निवासी रचना हेमलता चहेती आज सुबह शौच करने के लिए खेत में जा रही थी।तभी रास्ते में खेत मालिक हरिकिशन मिल गया।

उसने खेत में शौच करने का विरोध करते हुए अपने साथियों के साथ मिलकर मां बेटियों को जमकर पीटा।चीख.पुकार की आवाज सुनकर गांव के दोनों पक्षों के लोग दौड़कर मौके पहुंचे और जमकर लाठी.डंडे चलने लगे,जिसमें रचना हेमलता चहेती गंभीर रूप से घायल हो गए।

दूसरा पक्ष हरिकिशन भी मारपीट में घायल हो गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायलों को सीएचसी खैर में भर्ती कराया। पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है।

 

आलू किसानों को विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करे सरकारः अर्जुन


अलीगढ़।

जैसा की विदित है सबका साथ सबका विकास के जिस वायदे के साथ उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार आई थी,उसमें वह पूरी तरह नाकाम रही है।किसानों की दुर्दशा किसी से छुपी नहीं है। सरकार ने किसानों हेतु बहुत सारे लोक लुभावने वायदे किए थेए लेकिन आज सरकार किसानों को दिन में 4 घंटे विद्युत आपूर्ति भी सुनिश्चित नहीं कर पा रही है।

आलू किसान रात्रि में खेतों में पानी लगाने को मजबूर है। ग्रामीणों को बमुश्किल दिन में 3 से 4 घंटे ही किसानों को विद्युत आपूर्ति मिल पा रही है जबकि सरकार ने बिजली दरों में बेहताशा वृद्धि करके किसानों की कमर तोड़ दी है।साथ ही सरकार आलू का निर्यात भी नहीं कर पा रही है,जिससे आलू किसान भुखमरी के कगार पर पहुंच गए हैं।

अतः मुलायम सिंह यूथ ब्रिगेड जनपद अलीगढ़ की टीम यह  ऐलान करती है कि अगर किसानों हेतु दिन में कम से कम 8 घंटे विद्युत आपूर्ति नहीं की गई तो अधीक्षण अभियंता का घेराव कर उन्हें चूड़ी भेंट की जाएंगी।साथ ही सरकार डेंगू जैसी महामारी पर रोक लगाने हेतु तत्कालिक जरूरी कदम उठाए जिससे आम जनमानस दहशत से बाहर आ सके।
 

Comments