कटे होंठ वाले बच्चों को पूर्ण चिकित्सा देना प्राथमिकताःप्रोण् इमरान

कटे होंठ वाले बच्चों को पूर्ण चिकित्सा देना प्राथमिकताःप्रोण् इमरान

अलीगढ़।

एएमयू मेडिकल कॉलेज के प्लास्टिक सर्जरी विभाग द्वारा एसोसिएशन आफ प्लास्टिक सर्जन आफ इंडिया के सहयोग से सोसायटी आफ प्लास्टिक सर्जन्स आफ उत्तर प्रदेश एंड उत्तराखंड की दो दिवसीय वार्षिक कांफ्रेंस चल रही है।

देश भर से आये चिकित्सकों ने कहा कि नये अविष्कारों और नई टेक्नालोजी से कास्मेटिक सर्जरी के क्षेत्र में काफी सुविधायें हो गई हैं और यह पहले के अपेक्षा अधिक सरल व सुरक्षित भी हैं। उन्होंने कहा कि जन्म के समय कटे होंठ वाले बच्चों को पूर्ण चिकित्सा देना हमारी प्राथमिकता है।

कांफ्रेंस के आर्गेनाइजिंग चैयरमैन एवं प्लास्टिक सर्जरी विभाग के अध्यक्ष प्रो इमरान अहमद ने कहा कि कास्मेटिक सर्जरी की आवश्यकता आज बढ़ गई है। इसलिये सर्जनों को इस क्षेत्र की नई तकनीकों से परिचित होना आवश्यक है।

उन्होंने बताया कि मेडीकल कालिज में प्लास्टिक सर्जरी की शुरूआत 1977 में हो गई थी और  एमसीएच कोर्स 1989 में प्रारंभ हुआ। उन्होंने विभाग के संस्थापक अध्यक्ष प्रोण् एमएच खान का भी स्मरण किया।

Comments