अमेठी के गायत्री मंदिर में हुआ स्मृति वंदन कार्यक्रम

अमेठी के गायत्री मंदिर में हुआ स्मृति वंदन कार्यक्रम

अमेठी। 3 सिंतबर 2019 गायत्री शक्तिपीठ अमेठी के आद्यसंस्थापक स्व0 डॉ0 सुरेंद्र प्रताप सिंह की 24वीं पुण्यतिथि आज गायत्री मंदिर पर मनाई गई। प्रातः 8:30 बजे से यज्ञशाला में हवन पूजन (शांति यज्ञ) व 11 बजे से श्रद्धान्जलि सभा एवं गायत्री विद्यापीठ के बच्चों को पुरस्कार वितरण का आयोजन किया गया। श्रद्धान्जलि सभा में गायत्री सिंह ने गायत्री मंदिर निर्माण के संकल्प को याद करते हुए बताया

कि कैसे उनके पति डॉ0 सुरेंद्र प्रताप सिंह ने गायत्री शक्तिपीठ की स्थापना के लिए 2 वर्षों तक अस्वाद भोजन के व्रत का पालन किया और जीवन पर्यन्त दूसरों की मदद के लिए सदैव तत्पर रहे। गायत्री शक्तिपीठ के व्यवस्थापक एवं आर आर पी जी कॉलेज के प्राचार्य डॉ0 त्रिवेणी सिंह ने स्व0 डॉ0 एस0पी0 को श्रद्धांजलि आर्पित करते हुए अमेठी में गायत्री परिवार की गतिविधियों में तेजी लाकर डॉ0 सिंह के सपनों को पूरा करने का आवाहन किया। उन्होंने इस दिवस को संकल्प दिवस के रूप में मनाने एवं उपस्थितजनों से मिशन के कार्यों हेतु समयदान देने की अपील की। श्रद्धान्जलि सभा को श्री राधेश्याम त्रिपाठी, श्री जगन्नाथ मिश्र, श्री सुभाष चंद्र द्विवेदी, श्री चिरौंजी लाल, डॉ0 चंद्रावती सिंह, डॉ0 विजयलक्ष्मी सिंह ने भी संबोधित करते हुए अपने संस्मरण सुनाये और उनके अधूरे कार्यों को पूरा करने का संकल्प लिया ।

स्व0 डॉ0 एस0पी0 सिंह के ज्येष्ठ पुत्र डॉ0 प्रवीण सिंह 'दीपक' ने उपस्थित बच्चों को संबोधित करते हुए उन्हें जीवन में एक अच्छा इंसान बनने की सीख दी। उन्होनें कहा कि पिताजी ने दहेज प्रथा और नशा के खिलाफ अभियान चलाया था, सामाजिक कुरीतियों को मिटाने के लिए आवश्यक है कि बच्चों में अच्छे विचार और संस्कार डाले जाएं तभी स्वस्थ्य और समर्थ राष्ट्र का निर्माण किया जा सकेगा।परिवार के सदस्यों मनीषा सिंह, मीनाक्षी सिंह, रूबी सिंह, विवेक सिंह, शिवेंद्र विक्रम सिंह ने गायत्री विद्यापीठ में अध्ययनरत सभी बच्चों को उपहार स्वरूप पेंसिल बॉक्स सेट, ड्राइंग सेट, ज्योमेट्री बॉक्स सेट एवं डिक्शनरी भेंट कर खूब मन लगाकर पढ़ाई करने हेतु प्रेरित किया।

कार्यक्रम का सफल संचालन  इंद्रदेव शर्मा ने किया और उन्होनें 'किसी के काम जो आये उसे इंसान कहते हैं' गीत सुनाकर बच्चों को मानवीयता और इंसानियत का पाठ पढ़ाया।इस अवसर पर डॉ0 आर0पी0 सिंह,  टी0पी0 सिंह, श्री नाथ सिंह, मगनलाल कौशल,  अशोक मिश्र, डॉ0 अरविंद सिंह,  राजू घई,  ऋषिकेतु श्रीवास्तव, दिलीप सिंह आदि उपस्थित रहे।

 

 

Comments