दो दर्जन से ज्यादा गोवंश की मौत से जिले में मचा हड़कंप अधिकारिओ ने खींचा सन्नाटा ,मीडिया पर दबाव बनाने का प्रयास

दो दर्जन से ज्यादा गोवंश की मौत से जिले में मचा हड़कंप अधिकारिओ ने खींचा सन्नाटा ,मीडिया पर दबाव बनाने का प्रयास



अंबेडकर नगर भीटी :-

विशेष संवाददाता- अजय कुमार यादव

भीटी तहसील के अंतर्गत स्थित ग्राम सभा मल्लेपुर सुरैया के गौशाला में दर्जनों गोवंश की मौत की खबर सूत्रों के चलने से क्षेत्र में हड़कंप मच गया मामला 25 गोवंश की मौत की आ रही थी कि बरसात के कारण चारा के अभाव में मौत हो गई और बिना पोस्टमार्टम के ही गोवंशो की जेसीबी से मिट्टी में  दफन की जा रही है

मामले को दबाने में जुटे अधिकारी फोटो और वीडियो बनाने पर लेकर लेखपाल और एसडीएम हाथापाई पर उतारू हो गए इस मामले की खबर स्वतंत्र प्रभात की टीम को लगी तो स्वतंत्र प्रभात के संवाददाता ने वहां के आला अधिकारियों से बातचीत कर इस मामले की जानकारी ली गई तो वहां के एसडीएम ने बताया कि यह प्राइवेट गौशाला है

 

 

 

इसका गवर्नमेंट से कोई लेना देना नहीं है दो-तीन महीनों से चारा दानो में लापरवाही हो रही थी प्रधान की सूचना पर सभी लोग मौके पर पहुंचकर देखा गया कि 2 गोवंश की मृत्यु हो गई है और 11 अत्यंत गंभीर हालत में पाए गए  2 गोवंश की पोस्टमार्टम कराकर दाह संस्कार करा दिया गया  और शेष गोवंश को उपचार के लिए भेज दिया गया एसडीएम ने दर्जनों गोवंश की मौत की  खबर को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि यह खबर गलत है किसी ने वीडियोग्राफी करके खबर गलत चला दी है संवाददाता ने खबर की पूरी सच्चाई जानने के लिए और अंबेडकर नगर एडीएमष और डीएम से बातचीत किया

 



एडीएम :- उन्होंने बताया कि मुझे पूरी जानकारी नहीं है मुझे बस इतनी जानकारी है कि वह प्राइवेट  गौशाला की घटनाएं है  सरकारी में शिफ्ट करा रहे हैं और साथ ही इस पूरे मामले की जांच कर दोषियों पर कार्रवाई भी होगी

अंबेडकर नगर (डीएम):- अंबेडकर नगर डीएम से जब भी संपर्क साधने की कोशिश की गई तो आज तक  फोन पर बातचीत नहीं हुई और ऐसा कई बार हो चुका है

एसडीएम ने एक लेटर जारी कर अवगत कराया कि उप जिलाधिकारी भीटी  के संज्ञान में जैसे ही यह मामला आया कि ग्राम पंचायत मल्लेपुर में संचालित प्राइवेट गौशाला में पशुओं के साथ क्रूरता की जा रही है और जिलाधिकारी भीटी  द्वारा पुलिस उपाधीक्षक एवं खंड विकास अधिकारी भीटी  को तत्काल उपस्थित होने को कहा गया

उपजिलाधिकारी भीटी पुलिस  उपाधीक्षक  प्राइवेट गौशाला पर उपस्थित हुए तो वहां देखा  गया कि 2 गोवंश की मौत का होना पाया गया एंव 11 पशु बीमार पाए गए जो 11 पशुओं में से  की हालत अत्यंत गंभीर पाई गई मौके पर उपस्थित पशु चिकित्सक को तत्काल निर्देश दिए गए कि मृतकों का पोस्टमार्टम कराया जाय और  बीमार पशुओं का तत्काल इलाज किया जाए खंड विकास अधिकारी महोदय की बैठक के बाद गौशाला पर उपस्थित होकर ग्राम प्रधान को निर्देश दिया

कि शेष पशुओं के भूसे से और चारों की व्यवस्था की जाए उप जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि मृतकों का पोस्टमार्टम कर मिट्टी में दफन कराने की व्यवस्था कर ली जाए यह कार्रवाई डॉक्टर दिनेश कुमार की देखरेख में कराया गया

इस प्राइवेट गौशाला के अध्यक्ष हनुमान प्रसाद तिवारी व प्रबंधक सुरेंद्र प्रताप पुत्र गोकुल प्रसाद इस अवैध कार्य में संलिप्त थे शासन की मंशा के अनुरूप  गौसंरक्षण आरंभ होने के बाद इन्होंने अवैध ढंग  से ढ पकड़े गए गोवंश को गौशाला का रूप दे दिया और गौशाला के अंदर जानवरों का उत्पीड़न कई सालों से हो रहा था


सबसे बड़ा सवाल यह है कि उत्तर प्रदेश की मौजूदा सरकार भले ही लाख दावा करती हो लेकिन सरकार में बैठे जिम्मेदार सरकार की किरकिरी करने से बाज नहीं आ रहा है भीटी में दर्जनों गोवंश की मौत की खबर से पूरे क्षेत्र में हड़कंप मच गया खबर आ रही थी कि इस खबर को दबाने के लिए लेखपाल,  

एसडीएम और बीडियो पत्रकारों पर दबाव बनाने का भरसक प्रयास किया गया और मुकदमा दर्ज कराने की धमकी तक दे डाली इस मामले की खबर सोशल मीडिया पर चलाने को लेकर आखिर क्यों  दबाव बनाया जा रहा था यह एक बहुत बड़ा जांच का विषय है इससे साफ जाहिर होता है शासन में बैठे जिम्मेदार ही करा रहे हैं गौ हत्या

 

Comments