सरकारी अस्पतालों मे नहीं है कफ सीरप की सप्लाई, खांसी का इलाज केवल एंटी एलर्जिक दवाओं के भरोसे

सरकारी अस्पतालों मे नहीं है कफ सीरप की सप्लाई, खांसी का इलाज केवल एंटी एलर्जिक दवाओं के भरोसे

अमेठी

जनपद मे आज-कल बुखार के साथ-साथ सर्दी-खांसी के मरीज बड़ी संख्या मे देखे जा रहे हैं। आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी भी सरकारी अस्पतालों मे पहुँच रहे हैं। सबकी उम्मीद सिर्फ एक है –अच्छा स्वास्थ्य। लेकिन खांसी के मरीजों ने जानकारी दिया की उन्हें खांसी से आराम होने के लिए बाहर

से कफ सीरप लेना पड़ रहा है। जब इस संबंध मे अस्पतालों से जानकारी की गई तो पता चला की सरकारी अस्पताल मे कफ सीरप आता ही नहीं है। ऐसे मे खांसी के मरीजों को सरकारी सप्लाई मे सिर्फ एंटी एलर्जिक दवाओं से ठीक किया जाना एक बड़ी चुनौती है।

वास्तव मे सरकारी अस्पतालों मे दवाओं की उपलब्धता एक बड़ी समस्या है। च्वाइस आफ ड्रग् ना मिल पाने के कारण सरकारी डाक्टर मरीज को ठीक करने के लिए परेशान होते हैं। वहीं दूसरी ओर सरकारी डाक्टरों को बाहर की दावा लिखने पर प्रतिबंध भी है। ऐसे मे मरीजों का इलाज कैसे संभव हो? उत्तम स्वास्थ्य निःशुल्क सरकारी अस्पतालों मे कैसे मिले? यह एक बड़ा सवाल है।

जब इस संबंध मे जनपद के सीएमओ डॉ0 राजेश मोहन श्रीवास्तव से बात किया गया तो उन्होने कहा की कफ सीरप की सप्लाई कभी भी सरकारी अस्पतालों मे नहीं रही है।

Comments