अमेठी के ग्रामीणों ने लगाए मतदान बहिष्कार के बैनर कहा वोट के लिये घुसने नहीं पायेगें राहुल गाधी...

अमेठी के ग्रामीणों ने लगाए मतदान बहिष्कार के बैनर कहा वोट के लिये घुसने नहीं पायेगें राहुल गाधी...

अमेठी बाहापुर के ग्रामीणों ने लगाए मतदान बहिष्कार के बैनर कहा वोट के लिये नही घुसने पायेगें राहुल गाधी स्मृति ईरानी

मुझको न मिली राह ब्यवस्था तुझे सलाम

 

स्वतंत्र प्रभात

अमेठी रिपोर्ट अर्जुन शुक्ल सागर

---------------------------------------- 

अमेठी। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के चुनावी मैदान में उतरने से उत्तर प्रदेश की अमेठी लोकसभा सीट वीवीआईपी तो जरूर बन गई है, लेकिन अमेठी विकास खन्ड वाहापुर के ग्रामीण सडक न बनने से मतदान न करने की लगाई गुहार

गांव में सम्पर्क मार्ग न होने से नाराज ग्राम प्रधान सहित 

सैकडो ग्रामीणों ने ‘रोड नहीं तो वोट नहीं का बैनर’ लगाकर लोकसभा चुनाव में मतदान का बहिष्कार करने को धमकी दी है। वाहापुर में वोट बहिष्कार की खबर से प्रशासन के हाथ पांव फूल गये हैं।

 

‘रोड नहीं तो वोट नहीं’ बैनर लगाकर लोकसभा चुनाव का बहिष्कार कर रहे ग्रामीणों का कहना है कि पाच वर्ष पहले कैबिनेट मन्त्रीं गाायत्री प्रसाद प्रजापति ने  तीन  किलोमीटर सडक के लिये मार्ग पर बडे बडें बोल्डर की गिट्टी दो किलोमीटर सडक पर डलवा दिये सवाल उठता है तीन किलोमीटर मार्ग का पिच होने का टेन्डर हुआ बोल्डर पडे फिर कार्यदायी संस्था भग गयी

यह कहना मुश्किल है इस मार्ग की स्थित यह है की पैदल नही चल सकते गाव में एम्बुलेंस ड्राइवर किसी इमरजेन्सी में दो किलोमीटर पहले ही एम्बूलेंस खडी कर देता मरीज खटोली से ले जाकर एम्बुलेंस तक ले जाते

ग्रामीण कहते है  साहब मुझको न मिली पक्की राह ब्यवस्था तुझे सलाम करके मतदान न करने का बाहिस्कार किये है जबकी गाव की आवादी 35 सौ है जहा आज भी लोग बद से बदतर जीवन बिता रहे तक सम्पर्क मार्ग मतदान के फहले या तो पिच कराया जाये या बोल्डर वाली गिट्टी हटवाई जाय ग्रामीण सासंद राहुल गाधी स्मृति ईरानी तक सडक बनवाने की पुरजोर पहल की 

लेकिन परिणाम कुछ नही थक हारकर यूपी डीप्टी सीएम केशव प्रसाद से ग्रामीण शिकायत किये लेकिन आश्वासन रद्दी की टोकरी में चल गया ग्रामीणों ने इस चुनाव का इन्तजार कर रहे थें गाव में सम्पर्क मार्ग न होने से ग्रामीणों को भारी दिक्कत का सामना करना पड़ा है

Comments