अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस पर कार्यक्रम का हुआ आयोजन

अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस पर कार्यक्रम का हुआ आयोजन

      विशेष संवाददाता गोण्डा - अतीक राईन

मनकापुर,गोण्डा-

अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस 10 दिसंबर उन तारीखों में से एक है जिसे मानवता की चिंता करने वाले और उसे क्रूरता से दूर ले जाने और अधिक मानवता की ओर ले जाने की इच्छा रखने वाले सभी लोगों द्वारा याद किया जाता है।

मंगलवार को मनकापुर नगर में स्थित इलाहाबाद बैंक के नीचे हाल में मानवाधिकार सुरक्षा एवं संरक्षण आर्गनाइजेशन के द्वारा अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता अल्पसंख्यक जिला गोण्डा अध्यक्ष मोहम्मद तौफीक ने की।

इस मौके पर सभी पदाधिकारी सदस्यगण ने सुभाष चन्द्र बोस (नेता जी) के चित्र पर माल्यार्पण किया और मानवाधिकार से जुड़े समस्यों पर चर्चा करते हुए अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस पर प्रकाश डाला।

उपजा महामंत्री श्रवण कुमार ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि मानवाधिकार वे मूलभूत नैसर्गिक अधिकार हैं जिनसे मनुष्य को नस्ल, जाति, राष्ट्रीयता, धर्म, लिंग आदि के आधार पर वंचित या प्रताड़ित नहीं किया जा सकता।

इसके अनुसार सभी को स्वतंत्रता और समानता का अधिकार जन्मजात ही प्राप्त है और उसे छीनना या बाधा पहुंचाना मानवाधिकारों का हनन होता है।

वहीं तहसील अध्यक्ष मो० शफीक ने बताया मानवाधिकार का उद्देश्य विश्वभर के लोगों को मानवाधिकारों के महत्व के प्रति जागरूक करना और इसके पालन के प्रति सजग रहने का संदेश देना है।

एमएसएसओ अल्पसंख्यक गोण्डा जिला अध्यक्ष मोहम्मद तौफीक ने अपने संबोधन में बताया संयुक्त राष्ट्र की महासभा ने 10 दिसंबर 1948 को 'अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस' के रूप में मनाने की घोषणा किया था,हालांकि आधिकारिक तौर पर इस दिन की घोषणा 1950 में हुई।

अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस मनाने के लिए असेंबली ने सभी देशों को 1950 में आमंत्रित किया था। जिसके बाद से हर साल पूरी दुनिया में इस दिन मानवधिकारों के प्रति जागरूकता उत्पन्न करने काम बड़े स्तर पर किया जाता है।

उन्होंने बताया की हमारे देश में मानवाधिकार कानून को अमल में लाने के लिए काफी लंबा समय लग गया।भारत में 28 सितंबर 1993 से मानव अधिकार कानून अमल में आया, भारत सरकार ने 12 अक्‍टूबर 1993 को राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग का गठन किया।

उन्होंने बताया आयोग के कार्यक्षेत्र में नागरिक और राजनीतिक के साथ आर्थिक, सामाजिक और सांस्कृतिक अधिकार भी आता हैं।

कार्यक्रम में मानवाधिकार सुरक्षा एवं संरक्षण आर्गनाइजेशन तहसील अध्यक्ष मोहम्मद शफ़ीक़, मीडिया प्रभारी इमरान अहमद,सचिव मो० गौश, ब्लाक उपाध्यक्ष आसिफ खान,उपजा महामन्त्री श्रवण कुमार, सरोज मौर्या,मुख़्तार अली, डॉक्टर शम्सुद्दीन,रघुवीर सोनी,कासिम अंसारी व ज्ञानेंद्र कुमार आदि उपस्थित रहे।

Comments