बहुचर्चित व्यापारी पुत्र अपहरण व हत्याकांड में पांच के खिलाफ चार्जशीट दाखिल

बहुचर्चित व्यापारी पुत्र अपहरण व हत्याकांड में पांच के खिलाफ चार्जशीट दाखिल

बहुचर्चित व्यापारी पुत्र अपहरण व हत्याकांड में पांच के खिलाफ चार्जशीट दाखिल

 

आरोपियों के विरुद्ध शुरू होगी सुनवाई,पीड़ित पक्ष को जल्द न्याय दिलाने के प्रयास में दिखी पुलिस

 

सुलतानपुर 

 

बहुचर्चित व्यापारी पुत्र अपहरण व हत्याकांड में पुलिस ने विवेचना में तेजी दिखाते हुए करीब ढाई सप्ताह में अपनी तफ्तीश पूरी कर ली। विवेचक ने सीजेएम कोर्ट में सोमवार को इस कांड से जुड़े पांच आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर दी । जिससे माना जा रहा है कि जल्द ही आरोपियों के खिलाफ कोर्ट में सुनवाई शुरू हो जायेगी आैर जल्द से जल्द उन्हें उनकी करनी की सजा भी मिलेगी। 

           मालूम हो कि बीते 20 दिंसबर की घटना बताते हुए गोसाईगंज थाना क्षेत्र के कटका खानपुर निवासी व्यवसायी राकेश कुमार अग्रहरि ने स्कूल गये अपने बड़े बेटे दिव्यांश व छोटे बेटे श्रेयांश का अपहरण कर ले जाने एवं तत्पश्चात आरोपियों के जरिये फोन पर बच्चो की सलामती के लिए 50 लाख की फिरौती मांगने के आरोप में मुकदमा दर्ज कराया।

मामले में उनके घर में कई वर्षो से काम कर रहे नौकर रघुवर यादव व सह आरोपी सूरज बहेलिया ,शिवानन्द शर्मा एवं शिवपूजन राय,रुद्रेश का नाम सामने आया। आरोपियों ने साजिश नाकाम होने पर अपने को फंसता देख बच्चो पर धारदार हथियार से हमला कर उन्हें मरा समझ कर बोरे में भर दिया था। पुलिस ढूढ़ते-ढूढ़ते उन तक पहुँची तो मौके से आरोपी रघुवर,सूरज बहेलिया व शिवानन्द शर्मा को करौदिया से गिरफ्तार कर लिया गया था।

जिनके कब्जे से मिले बोरे को खोल कर देखा गया तो छोटा बेटे श्रेयांश की जान जा चुकी थी, जबकि दिव्यांश गंभीर रूप से जख्मी था। जिसे इलाज के लिए ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है। मामले का चौथा आरोपी शिवपूजन राय ने पुलिस से बचने के लिए भागने की कोशिश की थी और पुलिस पर फायर भी किया था। जवाब में पुलिस की तरफ से चली गोली से वह घायल भी हो गया था। जिसे इलाज के लिए ट्रामा सेंटर लखनऊ  में भर्ती कराया गया था।

शिवपूजन राय के खिलाफ बच्चो के अपहरण करने व फिरती मांगने के बाद एक की हत्या व दूसरे मासूम की जान लेने के प्रयास एवं पुलिस पर जानलेवा हमले व असलहा बरामदगी के मामले में तीन मुकदमें दर्ज किये गये है। जिसे घटना के दो दिन हालत सामान्य होने पर कोर्ट में पेश किया गया था,जिसके बाद वह जेल गया। इन चारों आरोपियों के अलावा मामले में तफ्तीश के दौरान प्रकाश में आये आरोपी रुद्रेश निवासी कोहड़ा थाना गोसाईगंज को भी जेल भेजने की कार्यवाही की गयी।

मासूम बच्चों के साथ हुई इस अमानवीय वारदात से जिले भर में खौफ फैल गया । लोगों में आरोपियों के इस घिनौने कृत्य के चलते काफी आक्रोश भी दिखा। पुलिस विभाग भी आरोपियों को जल्द से जल्द उनकी करनी का दंड दिलाने एवं उन पर अन्य तरीकों से शिकंजा कसने की तैयारी में दिखी। जिसका नतीजा रहा है कि घटना के बाद 18 दिनों में ही विवेचक ने अपनी तफ्तीश पूरी कर ली आैर पांचो आरोपियों के खिलाफ मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में सोमवार को आरोप पत्र दाखिल कर दिया।

तफ्तीश में पुलिस के जरिए बरती गयी इस तेजी से माना जा रहा है कि आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर मामले की सुनवाई कराने एवं जल्द से जल्द उन्हें उचित दंड दिलाने के प्रयास में है। यह अपराध विरलतम अपराध की श्रेणी में है,इसलिए उम्मीद की जा रही कि अदालत भी इस मामले में   जल्द से जल्द सुनवाई कर निष्कर्ष तक पहुँचने के लिए जरूर ही कोई व्यवस्था बनाएगी,जो कि देश व समाज के लिए नजीर होगा।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Loading...
Loading...

Comments