नयागांव ग्राम पंचायत के किसान कर रहे न्याय का इंतजार डी,पी,आर,ओ, महोदय प्रधान, ग्राम विकास अधिकारी पर आखिर क्यों हुए मेहरबान

नयागांव ग्राम पंचायत के किसान कर रहे न्याय का इंतजार डी,पी,आर,ओ, महोदय प्रधान, ग्राम विकास अधिकारी पर आखिर क्यों हुए मेहरबान

नयागांव ग्राम पंचायत के किसान कर रहे न्याय का इंतजार डी,पी,आर,ओ, महोदय प्रधान, ग्राम विकास अधिकारी पर आखिर क्यों हुए मेहरबान

भ्रष्टाचार से करहता उत्तर प्रदेश,का किशान न्याय पाना नहीं आसान

संवाददाता - नरेश गुप्ता


नयागांव अटरिया, सिधौली

(सीतापुर) 

एडीओ पंचायत बिसवां ने भ्रष्टाचार की समुचित रिपोर्ट जिला पंचायत राज अधिकारी सीतापुर को महीनों पहले सौंपी जा चुकी थी

उक्त रिपोर्ट में एडीओ पंचायत मनोज कुमार ने ग्राम पंचायत के समुचित भ्रष्टाचार की पोल खोलते हुए विकास कार्यों में पूरे भ्रष्टाचार को प्रमाणिकता देते हुए बताया

ग्राम पंचायत अधिकारी नयागांव सुधीर बाजपेई ,जोकि सचिव के रूप में नियुक्त हैं तथा रामशरण यादव, ग्राम प्रधान हैं ग्राम पंचायत अधिकारी नयागांव द्वारा बताया गया कि ग्राम में स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत 2018- 19 में सीधे लाभार्थियों के खाते में 27 का पैसा भेजा गया जिसमें से नौ के खाते में पैसा अभी प्राप्त नहीं हुआ तथा वर्ष 2018-19 में ग्राम निधि 6 में कुल 448 लाभार्थियों का पैसा प्राप्त हुआ था

इस प्रकार कुल ,466 शौचालयों का पैसा ग्राम पंचायत में आया जिसमें से सचिव द्वारा बताया गया कि 32 शौचालयों का पैसा उनके द्वारा जिले पर वापस कर दिया गया है इस प्रकार इन्हें कुल 434 शौचालय बनवाने थे जिसमें से 18 लाभार्थी के खाते सीधे पैसा प्राप्त हुआ था शेष ,416 शौचालयों की धनराशि ग्राम निधि 6 में प्राप्त हुई थी ग्राम पंचायत अधिकारी वाजपेई द्वारा बताया गया कि 198 शौचालय उनके  द्वारा बनवा दिए गये हैं

तथा 40 लाभार्थियों को शौचालय निर्माण हेतु चेक से धनराशि दी गई है तथा 20 लाभार्थियों का पैसा ग्राम निधि खाते में पड़ा है शौचालय निर्माणाधीन हैं परंतु मौके पर उपस्थित शिकायतकर्ता प्रभाकर विक्रम सिंह ,और सुनील सिंह ,के साथ ग्राम गढ़ी गांव में शौचालय की जांच की गई जो निम्न प्रकार थी


1- रघुराई पत्नी रघुनाथ
यह शौचालय फलाईऐस से बना है जिसमें केवल दिवारी बनी है छत नहीं ,थी फर्स नहीं थी, सीट नहीं थी, पानी की टंकी नहीं थी, प्लास्टर नहीं था,


2- पप्पू पुत्र बाबू ,यह शौचालय फ्लाई ऐस से बना था जिसमें केवल दीवार बनी बनी पाई गई थी जिसमें छत नहीं थी फर्ज नहीं थी, सीट नहीं थी,पानी की टंकी नहीं थी, प्लास्टर नहीं था, 
3- चंद्रिका  पुत्र प्रसादी ,यह शौचालय भी फ्लाई ऐस से बना था जिसमें केवल दीवार बनी थी, छत नहीं थी, फर्स नहीं थी ,सीट नहीं थी,पानी की टंकी नहीं थी प्लास्टर नहीं था, दरवाजा नहीं था


 4 - देश पुत्र चंद्रिका ,यह शौचालय भी फ्लाई ऐस से बना था, जिसमें केवल दीवार बनी थी छत नहीं थी फर्स नहीं थी, सीट नहीं थी, पानी की टंकी नहीं थी, प्लास्टर नहीं था, दरवाजा नहीं था 5-  छोटे पुत्र भगवानदीन यह शौचालय भी फ्लाई ऐस से बना था जिसमें केवल दीवार ही बनी थी, छत नहीं थी, फर्स,नहीं थी, सीट नहीं है पानी की टंकी नहीं है प्लास्टर नहीं था
 6 - भगवती पुत्र बाबू 
7- लल्ला पुत्र केशव 
8- विजयपाल पुत्र पुत्ती
9- राम धार  पुत्र बुद्धा 
10 - बड़को पत्नी ठकुरी
11- लालता पुत्र गयादीन 
12 - संजय पुत्र लालू 
13 - सागर पुत्र बाबू,ये शौचालय गिर चुकी थी 
14 - बिटाना पत्नी बाबू ,यह शौचालय भी गिर चुकी थी 
15-  महावीर पुत्र लोटन
16- मदन पुत्र कालीचरण 
17 - बनवारी पुत्र लालू यह शौचालय भी गिर चुकी थी 
18 - दिनेश पुत्र मोलहे यह शौचालय भी गिर चुकी थी 
19 - संतोष पुत्र रामपाल 
20 - दुलारे पुत्र दयाराम
21- रामजीवन पुत्र पुत्ती लाल 
22 - बुद्धा पुत्र झब्बा 
23-  मूलचंद्र पुत्र सुंदरलाल 
24 - रामपाल  पुत्र कालीचरण 25-  राम लखन पुत्र मोलहे 


26-  मोलहे पुत्र जगन्नाथ ,इन शौचालयों में जोकि फ्लाईऐस से बने पाए गए जिसमें केवल दीवार बनी मिली मिली  थी  जिसमें छत नहीं पाई गई थी, गड्ढा नहीं पाए गए थे फर्श नहीं पाई गई थी नाली नहीं पाई गई थी

सीट नहीं पाई गई थी पानी की टंकी पाई गई नहीं थी प्लास्टर नहीं पाया गया था संबंधित ग्राम पंचायत अधिकारी द्वारा बताया गया था के 38 शौचालय फ्लाईऐस से बनवाए गए थे जो कि सभी उपरोक्तअनुसार अधूरे और अपूर्ण पाए गए थे

जोकि किसी आलोक नाम के व्यक्ति ठेकेदार द्वारा करवाया गया था इसके अतिरिक्त खानीपुर ,डेवरी डीह ,नयागांव में शौचालय ईट से बनवाए गए है जिसमें कुछ शौचालय प्रयोग किए जा रहे हैं परंतु इनमें भी कुछ निम्न कमियां पाई गई थी , इसके अतिरिक्त नयागांव के शौचालय का नाम सूची में तो है परंतु मौके पर नहीं बने थे जो कि निम्न प्रकार हैं 

1- माया देवी पत्नी शिव गोविंद नहीं बना था 
2- दो सुशीला पत्नी सुधीर जो कि नहीं बना था 
3 - अनिल सिंह पुत्र संत बख्श सिंह यह भी नहीं बना था 
4 - मुन्नू पुत्र गौतम यह भी नहीं बना था 
5 - सुरेंद्र सिंह पुत्र गुरुबख्श सिंह यह भी मौके पर नहीं बना था 
6 - देवकी पत्नी नन्कऊ सिंह यह भी मौके पर नहीं बना था 
7 - किशन प्रजापति पुत्र जगनू जो  केवल शौचालय की दीवार बनी पाई गई थी 
उक्त ए,डी,ओ ,पंचायत बिसवां मनोज कुमार द्वारा ऑफिशियल जांच में किसी भी शौचालय में पानी की टंकी नहीं बनी थी तथा अपूर्ण ज्यादा पाए गए थे इस प्रकार उपरोक्त 42 शौचालयों में लगभग ₹540000 का दुरुपयोग करने का मामला सामने आया था तथा ग्राम पंचायत अधिकारी द्वारा लाभार्थी को दिए गए चेक में अधिकांश के शौचालय भी नहीं बने थे उन्हें नोटिस जारी कर शौचालय निर्माण ग्राम पंचायत अधिकारी एवं ग्राम प्रधान द्वारा तत्काल पूर्ण कराए जाने चाहिए थे

परंतु इसके द्वारा प्रयास नहीं किया  गया था तथा जो शौचालय निर्माणाधीन थे ग्राम पंचायत अधिकारी द्वारा बताया गया था कि इसे शीघ्र ही पूर्ण करवा दिया जाएगा ग्राम पंचायत अधिकारी से ग्राम पंचायत के समस्त अभिलेख मांगने पर उनके द्वारा कोई भी अभिलेख प्रस्तुत भी नहीं किया गया था जिसकी वजह से अभीलेखीय जांच पुष्टि मौके पर नहीं हो पाई थी

इस प्रकार ग्राम पंचायत में शौचालय निर्माण में विभिन्न अनियमितता अधो मानक अपूर्ण तथा फ्लाई ऐश से बनवाने हेतु ग्राम विकास अधिकारी सुधीर बाजपेई तथा ग्राम प्रधान प्रथम दृष्टया उत्तरदाई एवं दोषी पाए गए थे ग्राम पंचायत नयागांव में  उक्त भ्रष्टाचार की समुचित जांच प्रक्रिया ए,डी,ओ ,पंचायत बिसवां मनोज कुमार द्वारा डी,पी,आर,ओ, सीतापुर को महीनों पहले सौंपी जा चुकी है

किंतु संबंधित जिला पंचायत राज  अधिकारी द्वारा मामले को ठंडे बस्ते में डालने का प्रयास किया जा रहा है उक्त प्रकरण में भ्रष्टाचार की धनराशि में बंदरबांट होने के कारण किसी भी अधिकारी के कानों में जूं तक नहीं रेंगती उधर भ्रष्टाचार के शिकार हुए नयागांव ग्राम पंचायत के ग्रामीण किसान योगीराज में हुए उनके साथ इस घोर भ्रष्टाचार में समुचित न्याय मिलने की आस लगाए बैठे हैं जबकि अधिकारी मामले को ठंडे बस्ते में डाल चुके हैं महीनों पहले हुई जांच में कोई न्याय प्रक्रिया सामने नहीं आई है

Comments