गांव में अभी उसी तरह से अतिक्रमण है बरकरार

गांव में अभी उसी तरह से अतिक्रमण है बरकरार

फ़तेहपुर

 केंद्रीय मंत्री के गोद लिए गांव रामपुर में दबंगों के द्वारा रास्ते पर जानवर बांधकर अतिक्रमण किया जाता है और अगर निकलने वाले राहगीर कुछ कहते सुनते हैं तो दबंग मारपीट पर उतारू हो जाते हैं अभी पिछले दिनों थाना अध्यक्ष  और क्षेत्रीय लेखपाल के द्वारा अतिक्रमण को खाली कराया गया था

लेकिन फिर से दबंगों ने अतिक्रमण शुरू कर दिया अतिक्रमण का मुख्य कारण दबंगों के द्वारा मुख्य मार्ग पर जानवरों का बांधना है जिसके कारण निकलने वाले राहगीर गिरकर चोटिल हो जाते हैं रामपुर ग्रामवासी हौसला पाल ने बताया कि कई बार लोगों को रास्ते में जानवर बांधने के

लिए मना किया गया लेकिन लोग नहीं मानते और लड़ने पर उतारू हो जाते हैं शासन प्रशासन इन दबंगों के ऊपर अगर अतिक्रमण रोधी कानून के तहत कोई कार्यवाही करें तो शायद हो सकता है कि इस समस्या से ग्राम वासियों को निजात मिल जाए आप समझ सकते हैं कि जब भारत सरकार की ग्रामीण विकास मंत्री के गोद लिए आदर्श गांव की यह दशा है तो अन्य गांव क्षेत्र की क्या होगी ।

Comments