"नरेंद्र मोदी जी" के 2014.2019 के शासन का एक "आकलन"

"नरेंद्र मोदी जी" के 2014.2019 के शासन का एक "आकलन"

रिपोर्टर- पंकज शुक्ला अयोध्या मंडल


विचारधारा- "संजय जैन"

एक तरफ नरेंद्र मोदीजी ने देश को कई स्तरों पर मजबूत पायदान पर पहुचाया है।परन्तु इसके बाद भी  जनता की अपेक्षाये पूरी होती नही दिखाई देती है।अगर हम इसके पीछे के मनोविज्ञान को देखे जिस प्रकार से नरेंद्र मोदीजी ने 2014 में चुनावी मंच से जिन वादों को जनता से किये थे।उनमे से कई वादों पर नरेंद्र मोदीजी स्वयं को केन्द्रित नही कर पाये।परन्तु इन वादो से हटकर मोदीजी की दूसरी नीतिया प्रभावी होती दिखाई देती है ।
               शायद यही कारण है कि जनता के एक बड़े वर्ग को अभी भी मोदीजी पर पूरा भरोसा दिखाई देताहै।और वह सभी समस्याओं को नजरअंदाज करते हुए सत्ता के शिखर पर फिर से देखना चाहती है ।ऐसा प्रतीत होता है ।
            एक दृष्टि में किसी भी शासक को पूरा मौका मिलना ही चाहिए।चूकी जब हम जिन योजनाओ को व्यवहारिक पटल पर लाते है ।तब 50 %योजनाये ही सफल हो पाती है।तब ।बाकी योजनाये या तो व्यवहारिक पटल पर सफल नही हो पाती है।या उन्हें पूरा होने में समय की जरूरत भी होती है ।इस दृष्टि से 


इन तथ्यों को भी स्वीकारना ही होता है ।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Loading...
Loading...

Comments