लगातार बारिश से उफनाई सरयू

लगातार बारिश से उफनाई सरयू

अयोध्या।

पहाड़ी व मैदानी क्षेत्रों में लगातार हो रही बारिश से सरयू अब तेजी से उफनाई रही है। सदर व रुदौली तहसील के कछार के इलाकों में हलचल है।

लहरों के हिलोरों से किनारे पर कटान तेज हो गई है। वहीं नेपाल से भी पाने छोड़े जाने के दबाव से बाढ़ का खतरा बढ़ गया है।

 मंगलवार सुबह तक जहां 24 घंटे में 44 सेमी. जलस्तर बढ़ा।

वहीं देर शाम 12 घंटे में प्रति घंटे एक सेमी. की रफ्तार से नदी का पानी बढ़ रहा है। इस बीच प्रशासन सतर्क हो गया है।

 एडीएम समेत संबंधित तहसीलों के एसडीएम व बाढ़ खंड के अधिकारियों ने टीम के साथ दौरा कर बांधों की सुरक्षा में चौकसी बढ़ा दी है। 

पहाड़ व मैदानी इलाकों में हो रही भारी बारिश के चलते सरयू का जलस्तर उफान पर है।

मंगलवार शाम 6 बजे तक सरयू का जलस्तर 90.91 मीटर रिकॉर्ड किया गया, जो चेतावनी बिंदु 91.73 मीटर से महज 82 सेमी. दूर है। नदी का जलस्तर एक सेमी प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़ रहा है। 

बिल्वहरि व रौनाही बंधे से सटे दो दर्जन गांवों में बेचैनी है।

इससे सदर, रूदौली व सोहावल तहसील क्षेत्र के कछार के इलाकों में हलचल बढ़ गई है। लोग ऊंचे स्थानों की ओर पलायन की तैयारी में जुट गए हैं। 

वहीं जिला प्रशासन ने भी सिंचाई विभाग व राजस्व विभाग को अलर्ट कर दिया है। केंद्रीय जल आयोग के मुताबिक सोमवार की शाम सरयू का जलस्तर जहां 90.56 मीटर रिकॉर्ड किया गया था। 

वहीं मंगलवार की शाम 6 बजे तक सरयू के जलस्तर में 35 सेमी की वृद्धि हुई और 90.91 मीटर पर रिकॉर्ड किया गया। सरयू के जलस्तर में लगातार हो रही वृद्धि के चलते प्रशासन व बाढ़ खंड विभाग भी अलर्ट हो गया। डीएम अनुज कुमार झा ने राजस्व व बाढ़ खंड को सतर्क रहते हुए पुख्ता इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं।

पूरा बाजार प्रतिनिधि के अनुसार सरयू का जलस्तर बढ़ता देख कछार के लोगों में भय व्याप्त है।

जलस्तर को देखते हुए मुड़ाडीहा, पिपरी संग्राम, उरदा हवा, सलेमपुर, बलुईया, धनी का पुरवा, माझा मडना ,माझा रामपुर पुवारी सहित कई गांव के लोग बाढ़ से सुरक्षित स्थानों पर जाने के लिए तैयार है। 

मुंड़ाडिहा के ग्राम प्रधान तेज बहादुर निषाद का कहना है कि अभी बाढ़ से कोई खतरा नहीं है, मगर तेजी से बढ़ रहे पानी से लोग अपने सामान को सुरक्षित स्थानों पर भेज रहे हैं। 

शुजागंज प्रतिनिधि के अनुसार बारिश शुरू होते ही घाघरा नदी के जलस्तर में बढोत्तरी होने से रुदौली तहसील क्षेत्र के दर्जनों गांवों में लोग बाढ़ की डर से भयभीत है। 

लगातार हो रही बारिश की वजह से घाघरा नदी का जलस्तर पिछले दो दिनों से तेजी से बढ़ रहा है। मंगलवार सुबह तक महंगू का पूरवा, कैथी माझा के ग्रामीण एक बार फिर समस्याओं से गुजरने को मजबूर हैं। 

मंहगू का पुरवा के ग्रामीण राजकमल का कहना कि बाढ़ के समय तक ही सभी जनप्रतिनिधि व प्रशासन आते है, उसके बाद कोई दिखाई नही पड़ता है।

 बारिश शुरू होते ही ग्रामीण सुरक्षित जगहों पर जाने को मजबूर हैं। जलस्तर बढ़ने से प्रभावित ग्रामीण अपने मवेशियों को लेकर रौनाही तटबंध पर शरण लिए हैं। तहसीलदार शिवप्रसाद ने कहा कि राजस्व टीमें मुस्तैद हैं।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments